यूपी निकाय चुनाव में ईवीएम मशीन में गड़बड़ी, वोट डाला किसी और को, लाइट जली बीजेपी की 

यूपी निकाय चुनाव में कानपुर बूथ नंबर 66 और मेरठ के वार्ड 89 में ईवीएम में कोई भी बटन दबाने पर लाइट बीजेपी के चुनाव चिन्ह कमल या नोटा बटन पर जल रही थी। मतदाताओं ने इस बात को लेकर हंगामा कर दिया।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश नगर निकाय चुनाव में पहले चरण के मतदान के दौरान कई जगहों पर ईवीएम में खराबी खबर सामने आ रही है। कानपुर और मेरठ के पोलिंग बूथ पर मतदाताओं ने हंगामा किया और आरोप लगाया कि वोट कहीं भी डालने पर बीजेपी के चुनाव चिन्ह कमल को ही वोट जा रहा है।

कानपुर जिले के नौबस्ता थाना इलाके के बूथ संख्या 66 और चकेरी क्षेत्र के वार्ड संख्या 58 पर ईवीएम मशीन खराब होने की शिकायत आई। इसके बाद मतदाताओं ने मतदान का बहिष्कार कर नारेबाजी शुरू कर दी। मतदाताओं ने ईवीएम मशीन से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है।

चकेरी क्षेत्र के मतदाताओं का कहना था कि शिकायत के बाद भी मतदान लगातार जारी था, जिसके बाद निर्वाचन अधिकारी से भी इसकी शिकायत की गई। इस बीच एसीएम ने शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पीठासीन अधिकारी को हटा दिया है और बूथ की ईवीएम मशीन भी बदलकर मतदान को फिर शुरू कराया गया। मतदाताओं का कहना है कि ईवीएम मशीन के साथ छेड़छाड़ आम जनता के साथ धोखा है।

कानपुर के वार्ड 104 पर ईवीएम खराब होने की वजह से एक घंटे तक मतदान रुका रहा। ईवीएम मशीन में कोई भी बटन दबाने पर एक ही पार्टी को वोट जाने का आरोप लगा कर लोगों ने जमकर हंगामा किया और वहां भी हंगामे के बाद पीठासीन अधिकारी को बदला गया।

यही हाल मेरठ के वार्ड नंबर 89 का भी था, जहां मतदाताओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। मतदाता ईवीएम में अपने प्रत्याशी को वोट देने के लिए उसके सामने वाले बटन को दबा रहे थे तो लाइट कमल और सबसे नीचे नोटा बटन पर जल रही थी।

वोट डालने पहुंचे मतदाता का कहना है क‍ि उन्‍होंने बीएसपी के निशान हाथी के आगे का बटन दबाया था, लेकिन लाइट बीजेपी के चुनाव चिह्न कमल और नोटा के आगे जली। इसके बाद पीठासीन अधिकारी ने मतदान रोक कर दूसरी ईवीएम का इंतजाम किया, जिसके बाद वोटिंग दुबारा शुरू हुई।

पहले चरण में राज्य के 24 जिलों शामली, मेरठ, हापुड़, बिजनौर, बदायूं, हाथरस, कासगंज, आगरा, कानपुर, जालौन, हमीरपुर, चित्रकूट, कौशाम्बी, प्रतापगढ़,उन्नाव, हरदोई, अमेठी, फैजाबाद, गोंडा, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, गाजीपुर और नक्सलवाद से प्रभावित सोनभद जिले में मतदान है।दूसरे और तीसरे चरण का मतदान 26 और 29 नवंबर को होगा, जबकि 1 दिसंबर को मतगणना की जायेगी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia