अमेरिका के 41वें राष्ट्रपति जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश का 94 साल की उम्र में निधन

जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश पार्किं सन बीमारी से पीड़ित थे, जिस वजह से वह बीते कुछ सालों में व्हीलचेयर या मोटोराइज्ड स्कूटर का इस्तेमाल करते थे। वह बीते कुछ महीनों से अस्पताल में बार-बार भर्ती भी हो रहे थे।

By नवजीवन डेस्क

अमेरिका के 41वें राष्ट्रपति जॉर्ज एच.डब्ल्यू. बुश का 94 साल की उम्र में ह्यूस्टन में निधन हो गया। उनके प्रवक्ता जिम मैकग्रैथ ने इसकी जानकारी दी है। उनकी मौत के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।

बताया जा रहा है कि बुश पार्किं सन बीमारी से पीड़ित थे, जिस वजह से वह बीते कुछ सालों में व्हीलचेयर या मोटोराइज्ड स्कूटर का इस्तेमाल करते थे। वह बीते कुछ महीनों से अस्पताल में बार-बार भर्ती भी हो रहे थे।

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, उनका निधन शुक्रवार रात को हुआ। करीब 8 महीने पहले ही उनकी पत्नी बारबरा बुश (73) का निधन हुआ था। अप्रैल में उनकी पत्नी के निधन के एक दिन बाद उनके खून में फैले संक्रमण का इलाज किया गया था।

जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश 1989 से 1993 तक देश के राष्ट्रपति रहे। बुश कुशल नौकरशाह और राजनयिक थे। उनका जन्म 12 जून 1924 को मैसाचुसेट्स के मिल्टन में हुआ था। वह कनेक्टिकट के ग्रीनविच में पले-बढ़े। उनके पिता ओहायो के निवासी थे और बिजनेस एग्ज्यिूक्येटिव थे, जो बाद में वॉल स्ट्रीट बैंकर बने। वह कनेक्टिकट से सीनेटर भी थे। उनकी मां मेन की निवासी थी और एक संपन्न इन्वेस्टमेंट बैंकर की बेटी थीं।

जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश 1944 में दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान फाइटर पायलट रहे। वह संयुक्त राष्ट्र में राजदूत, सीआईए के निदेशक और 1981 से 1989 के बीच राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन के कार्यकाल में उपराष्ट्रपति रह चुके हैं। व्हाइट हाउस में उनके कार्यकाल के दौरान शीत युद्ध, खाड़ी युद्ध समाप्त हुआ और सोवियत संघ का पतन हुआ।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Most Popular