हमले के लिए फॉस्फोरस बम का इस्तेमाल कर रहा है रूस, यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की ने लगाया गंभीर आरोप

जेलेंस्की ने पहली बार अंग्रेजी में वीडियो संदेश जारी किया, जिसमें उन्होंने दुनिया से यूक्रेन के साथ एकजुटता दिखाने की अपील की। उन्होंने कहा कि हम सभी को रूस को रोकना होगा। दुनिया को ये युद्ध रोकना चाहिए। अपने घर, दफ्तर से बाहर निकलकर यूक्रेन का साथ दें।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध एक नए आयाम पर पहुंचता जा रहा है। रूसी सेना और मिसाइलें लगातार यूक्रेन में शहरों, सैन्य ठिकानों और बड़े प्रतिष्ठानों को निशाना बना रहे हैं। इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने आज बड़ा दावा करते हुए कहा कि रूस अब उनके देश में हमलों के लिए फॉस्फोरस बम का इस्तेमाल कर रहा है।

गुरुवार को अमेरिका के नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा कि आज सुबह रूस ने पूर्वी लुहांस्क के पोपास्ना शहर में फॉस्फोरस बमों का इस्तेमाल किया है। इस हमले में एक बार फिर कई व्यस्क और बच्चे मारे गए हैं। इस दौरान जेलेंस्की ने एक बार फिर नाटो से सैन्य सहायता देने की मांग की।


इस बीच राष्ट्रपति जेलेंस्की ने पहली बार अंग्रेजी में अपना वीडियो संदेश जारी किया, जिसमें उन्होंने दुनिया के लोगों से रूस के आक्रमण के बीच यूक्रेन के साथ एकजुटता दिखाने की अपील की। उन्होंने कहा कि हम सभी को रूस को रोकना होगा। दुनिया को ये युद्ध रोकना चाहिए। अपने घरों और दफ्तरों से बाहर निकलिए और यूक्रेन का साथ दीजिए।

बता दें कि फॉस्फोरस बम को काफी खतरनाक माना जाता है। अगर कोई इसकी चपेट में आ जाए तो उसके बचने की संभावना न के बराबर होती है। इस बीच नाटो प्रमुख जेन्स स्टोल्टेनबर्ग ने आशंका जताई है कि रूस युद्ध के दौरान जैविक हथियार का इस्तेेमाल कर सकता है। उन्होंने कहा कि हमें अलर्ट रहना होगा क्योंपकि रूस जैविक हथियारों का इस्‍तेमाल करने की योजना बना सकता है। नाटो प्रमुख के बयान के बाद एक बार फिर रूस-यूक्रेन युद्ध में जैविक हथ‍थियारों की चर्चा शुरू हो गई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia