लखीमपुर खीरी हिंसा के 2 आरोपी गिरफ्तार, किसानों को कुचलने वाला मंत्री का बेटा अब भी लापता

पुलिस की गिरफ्त में आए दोनों आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा के करीबी बताए जाते हैं। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि दोनों रविवार को तिकुनिया गांव में किसानों को कुचलने वाली गाड़ियों में से एक में बैठे थे। पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी के तिकुनिया गांव में रविवार को हुई हिंसा के सिलसिले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार, गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान लवकुश राणा और आशीष पांडे के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि अन्य आरोपियों की तलाश में और छापेमारी की जा रही है। हालांकि, मंत्री के बेटे का अभी भी पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने उन्हें समन भेजने की बात कही है।

पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के करीबी बताए जाते हैं। लखीमपुर पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि दोनों रविवार को तिकुनिया गांव में किसानों को कुचलने वाले वाहनों में से एक में बैठे थे। पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है।


लखीमपुर खीरी हिंसा की प्राथमिकी में मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा का नाम लिया गया है और कहा गया है कि वह वही कार चला रहा था, जिसने प्रदर्शनकारी किसानों को रौंदा था। प्राथमिकी के मुताबिक आशीष ने कार से नीचे उतरकर फायरिंग भी की थी और फिर कहीं छिप गया।

हालांकि, घटना के एक ताजा वीडियो से पता चलता है कि लखीमपुर खीरी हिंसा में तीन एसयूवी शामिल थी और उन कारों पर कोई हमला नहीं हुआ था। पहली एसयूवी ने प्रदर्शनकारियों के एक समूह को टक्कर मारी, जो झंडों के साथ चल रहे थे। उसके बाद दो अन्य एसयूवी उसके पीछे जाती हुई नजर आई।


गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश सरकार से कहा कि वह मामले के संबंध में शुक्रवार तक एक स्थिति रिपोर्ट दाखिल करे, जिसमें मामले के आरोपी कौन हैं, किसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है और किन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जैसी जानकारी शामिल होनी चाहिए।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia