मध्य प्रदेश में कोरोना केस बढ़ने के बाद फिर लॉकडाउन की आशंका, इंदौर बना हॉटस्पॉट, इतने मरीज आए सामने

मध्य प्रदेश में बीते 24 घंटों के दौरान मरीजों की संख्या में हुई बढ़ोत्तरी कोरोना बम फूटने का अहसास कराने वाला है। इस अवधि में राज्य में 1033 नए मरीज सामने आए, इसमें सबसे ज्यादा इंदौर के 512 नए मामले है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश में एक दिन में कोरोना के नए मरीजों का आंकड़ा हजार को पार कर गया है। इंदौर तो हॉटस्पाट बन रहा है। यहां पांच सैकड़ा से ज्यादा मरीज 24 घंटों में सामने आए है। राज्य में बंदिशों का दौर शुरु हेा चुका है और मरीजों की संख्या में हो रहे इजाफे के चलते लॉकडाउन (पूर्णबंदी) की आशंका सताने लगी है।

राज्य में बीते 24 घंटों के दौरान मरीजों की संख्या में हुई बढ़ोत्तरी कोरोना बम फूटने का अहसास कराने वाला है। इस अवधि में राज्य में 1033 नए मरीज सामने आए, इसमें सबसे ज्यादा इंदौर के 512 नए मामले है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान भोपाल और आईषन हेल्थ सेंटर के चिकित्सकों के अलावा पुलिस अफसर भी इसकी चपेट में आ गए है। इससे पहले राज्य में 11 मरीजों में ओमिक्रॉन वेरिएंट की भी पुष्टि हेा चुकी है।

राज्य में इंदौर में कोरोना मरीजों की संख्या में सबसे तेजी से विस्तार हो रहा है, यहां सोमवार को 137 संक्रमित पाए गए थे, तो मंगलवार को नए मरीजों का आंकड़ा 319 पर पहुंच गया। वहीं बुधवार केा संख्या 512 हो गई। इसके अलावा भोपाल में 192 मामले मिले है। इसके अलावा ग्वालियर में एक चिकित्सक सहित 97 कोरेाना पॉजिटिव पाए गए। राज्य में एक्टिव मरीजों का आंकड़ा ढाई हजार के करीब पहुंच रहा है।

कोरेाना संक्रमितों की संख्या में हो रही बढ़ोत्तरी के साथ पाबंदियों का भी दौर तेजी से बढ़ रहा है। पहले रात का कर्फ्यू लगाया गया था तो बुधवार केा आयोजनों में संख्या तय कर दी गई। नए दिशा -निदेर्शो के मुताबिक विवाह आयोजनों में दोनों पक्षों के अधिकतम 250 लोग कोरोना गाइड-लाइन का पालन करते हुए उपस्थित रह सकेंगे। अंतिम संस्कार, उठावना इत्यादि में अधिकतम 50 लोगों की ही अनुमति मिलेगी। इसके साथ ही सभी प्रकार के मेलों के आयोजनों पर रोक लगा दी गई है।

राज्य के गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डा राजेश राजौरा ने बताया कि समस्त सार्वजनिक स्थलों पर मास्क का उपयोग किया जाना बंधनकारी रहेगा। जिलों के कलेक्टर्स को संक्रमण रोकने के लिये आवश्यकता अनुसार कंटेनमेंट जोन घोषित कर आवश्यक प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। मास्क नहीं लगाने पर व्यक्तियों पर नियमानुसार जुर्माना वसूली कार्यवाही के निर्देश भी दिये गये हैं।

कोरोना के बढ़ते मरीजों के साथ पाबंदियां लगाई जा रही है, मगर कुछ आयोजन हो रहे है, जिस पर कांग्रेस ने तंज कसा है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट कर कहा है कि "मध्य प्रदेश में आमजन के लिए कोरोना केा देखते हुए तमाम प्रतिबंध, और वहीं भोपाल में भोजपाल मेला जारी, सात जनवरी से विज्ञान मेला, 12 से रोजगार मेला, इंदौर में मालवा उत्सव, उज्जैन में ठहाका उत्सव। कुछ सरकारी , कुछ बीजेपी के आयोजक भाजपाई, पता नहीं इनको अनुमति किस आधार पर।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia