कोरोना के कहर और मंकीपॉक्स के दहशत के बीच देश में आया एक नया वायरस, केरल में दो लोगों में पुष्टि

डायरिया और उल्टी की शिकायत के बाद अस्पताल में 42 छात्रों को भर्ती किया गया था, जब उनके सैंपल की जांच की गई तो दो छात्रों की रिपोर्ट नोरोवायरस पॉजिटिव आई।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच अब नोरोवायरस चिंता का विषय बन गया है। तिरुवनंतपुरम के विझिंजम में लोअर प्राइमरी स्कूल के दो छात्र नोरोवायरस पॉजिटिव पाए गए हैं। जानकारी के मुताबिक, डायरिया और उल्टी की शिकायत के बाद अस्पताल में 42 छात्रों को भर्ती किया गया था, जब उनके सैंपल की जांच की गई तो दो छात्रों की रिपोर्ट नोरोवायरस पॉजिटिव आई।

बताया जा रहा है कि नोरोवायरस पॉजिटिव छात्र उचकाड़ा के एलएमएलपी स्कूल में पढ़ते हैं।
राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि नोरोवायरस दूषित खाने और पानी से फैलता है।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि नोरोवायरस आमतौर पर दो दिनों तक रहता है, लेकिन इसका अधिक प्रभाव नहीं होता है।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि नोरोवायरस से पीड़ित व्यक्ति में डिहाइड्रेशन की शिकायत हो सकती है। संक्रमण से ठीक होने के बाद एक हफ्ते तक शरीर कमजोर रहता है।

नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने कहा कि नोरोवायरस से बचाव के लिए नियमित रूप से हाथ धोना चाहिए। फलों और सब्जियों का इस्तेमाल करने से पहले गर्म पानी में अच्छी तरह से धोना चाहिए।


नोरोवायरस का लक्षण:

संक्रमण दूषित भोजन और पानी से होता है और फैलता है। इसमें कहा गया है कि वायरस से प्रभावित व्यक्ति में उल्टी, दस्त, जी मिचलाना, पेट दर्द, सिरदर्द, शरीर में दर्द और बुखार के लक्षण विकसित होते है। मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराना होगा। अगर इसकी उपेक्षा की गई तो यह घातक हो जाएगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia