अनर्ब गोस्वामी के चैनल के रिपोर्टर ने व्यवसायी का किया अपहरण, एक करोड़ रुपये की फिरौती की मांग? मामला दर्ज

पश्चिम बंगाल में एक टेलीविजन रिपोर्टर अभिषेक सेनगुप्ता पर शहर के एक व्यापारी के अपहरण और जबरन वसूली में कथित रूप से शामिल पाए जाने के बाद वह कोलकाता पुलिस की जांच के दायरे में है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल में एक टेलीविजन रिपोर्टर अभिषेक सेनगुप्ता पर शहर के एक व्यापारी के अपहरण और जबरन वसूली में कथित रूप से शामिल पाए जाने के बाद वह कोलकाता पुलिस की जांच के दायरे में है। चैनल रिपब्लिक बांग्ला के लिए काम करने वाले आरोपी रिपोर्टर को निजी टेलीविजन चैनल ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

व्यवसायी की पत्नी द्वारा कोलकाता के कस्बा थाने में दर्ज कराई गई प्राथमिकी के अनुसार, सात पुरुष और एक महिला सीबीआई अधिकारी बनकर उनके आवास में घुसे थे और व्यवसायी को पकड़कर ले गए। साथ ही उसका लैपटॉप, पेन ड्राइव और 15 लाख रुपये नकद ले गए।

शिकायतकर्ता ने यह भी आरोप लगाया कि उन्होंने अपहृत व्यवसायी की रिहाई के लिए एक करोड़ रुपये की फिरौती की मांग की। कोलकाता पुलिस सेनगुप्ता और उसके साथियों की तलाश कर रही है, जो फिलहाल फरार है।

कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "उन्होंने पहले से योजना बनाई थी। हम मामले को गंभीरता से देख रहे हैं।" इस बीच, रिपब्लिक टीवी ने रिपोर्टर के निलंबन की घोषणा करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया।

चैनल ने घटना का विवरण देते हुए सूचित किया कि अभिषेक सेनगुप्ता नाम के एक रिपोर्टर को तत्काल प्रभाव से सेवा से निलंबित कर दिया गया है, क्योंकि उसे कथित तौर पर न केवल जबरन वसूले के मामले में, बल्कि अपहरण के मामले में भी शामिल पाया गया है।

रिपब्लिक टीवी ने कहा कि मंगलवार को उसके संज्ञान में लाया गया था कि सेनगुप्ता पर एक लोक सेवक बनकर ठगने और अपहरण सहित अन्य गंभीर आरोप हैं। वह रिपब्लिक बांग्ला का पक्का कर्मचारी नहीं था और वह 25 मई, 2021 से निलंबित है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia