सावधान! देश में कोरोना की चौथी लहर की आहट! विशेषज्ञों की चेतावनी के बाद 24 घंटे में करीब 2600 नए केस आए सामने

देश में सक्रिय कोरोना मामलों की संख्या बढ़कर 15,873 हो गई है। देश में पॉजिटिविटी रेट 0.04 प्रतिशत है। देश में बीते 24 घंटे में 1,755 मरीज ठीक हुए हैं, जिससे रिकवर होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 4,25,19,479 हो गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में कोरोना वायरस की चौथी लहर का खतरा बढ़ता जा रहा है। देश के अलग अलग हिस्सों में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। देश में पिछले 24 घंटे में करीब 2600 नए मामले सामने आए हैं। देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,593 नए मामले सामने आए। इससे पहले शनिवार को कोरोना के 2,527 नए मामले दर्ज किए गए थे। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार मामलों के मंत्रालय ने रविवार को दी। देशभर में बीते 24 घंटे में 44 लोगों की मौत हुई, जिससे मौतों की कुल संख्या बढ़कर 5,22,193 हो गई है।

देश में सक्रिय कोरोना मामलों की संख्या बढ़कर 15,873 हो गई है। देश में पॉजिटिविटी रेट 0.04 प्रतिशत है। देश में बीते 24 घंटे में 1,755 मरीज ठीक हुए हैं, जिससे रिकवर होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 4,25,19,479 हो गई है। भारत की रिकवरी रेट 98.75 प्रतिशत है।

देशभर में कुल 4,36,532 कोरोना टेस्ट किए गए, जिससे कोरोना टेस्ट की कुल संख्या बढ़कर 83.47 करोड़ हो गई है। जहां वीकली पॉजिटिविटी रेट 0.54 प्रतिशत है, वहीं डेली पॉजिटिविटी रेट 0.59 प्रतिशत है। देश का कोरोना टीकाकरण कवरेज रविवार की सुबह तक 187.67 करोड़ से अधिक हो गया, जो 2,30,29,745 सत्रों के माध्यम से हासिल किया गया।

उधर, कर्नाटक स्वास्थ्य विभाग ने बेंगलुरु में ओमिक्रॉन का सब-वेरिएंट बीए 2 के दो मामलों का पता लगाने के बाद जानकारों ने चौथरी लहर को लेकर चेतावनी दी है। राज्य में उभरती स्थिति से निपटने के उपाय तेज कर दिए हैं। राज्य में विशेष रूप से बेंगलुरु में टेस्टों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया गया है।


अधिकारी चिंतित हैं कि बेंगलुरु के महादेवपुरा और पूर्वी क्षेत्रों से अधिक संख्या में कोविड के मामले सामने आ रहे हैं, जहां अधिकांश प्रमुख आईटी कंपनियां काम पर लाखों सॉफ्टवेयर पेशेवरों के साथ स्थित हैं।

श्री जयदेव इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोवैस्कुलर साइंसेज एंड रिसर्च, बेंगलुरु के निदेशक सी.एन मंजूनाथ ने शनिवार को कहा कि राज्य में कोविड के बीए 2.10 और बीए 2.12 वेरिएंट पाए गए हैं। बीए 2 वेरिएंट पहले नई दिल्ली और मुंबई में मिले थे।

मंजूनाथ को लगता है कि कर्नाटक में तीन से चार सप्ताह में चौथी कोविड लहर शुरू होने की संभावना है। मंजूनाथ ने कहा, "हालांकि, अगर चौथी लहर राज्य में आती है, तो अस्पतालों में भर्ती होने वाले लोगों की संख्या पहले की तुलना में कम होगी, हालांकि संक्रमण तेजी से फैलेगा।"

उन्होंने चेतावनी दी, "राज्य में अब कोई प्रतिबंध नहीं है और सभी गतिविधियां पूर्व-कोविड अवधि की तरह ही फिर से शुरू हो गई हैं। इसके परिणामस्वरूप अगले दो सप्ताह में कोविड के मामलों में वृद्धि होगी। लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है।"

मंजूनाथ ने कहा कि दूसरी बीमारी से पीड़ित लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है, जबकि मास्क पहनना फिर से अनिवार्य कर दिया जाना चाहिए। उन्होंने लोगों को बुखार, खांसी और सर्दी के लक्षणों की उपेक्षा ना करने और जल्द से जल्द जांच कराने की भी सलाह दी।

इससे पहले, कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने कहा था कि कुछ अध्ययनों से पता चला है कि कोविड-19 की चौथी लहर जून-जुलाई में शुरू हो सकती है और सितंबर तक चल सकती है और राज्य इसका सामना करने के लिए तैयार है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 24 Apr 2022, 1:10 PM