BPSC पेपर लीक कांड: बीडीओ और कॉलेज के प्राचार्य सहित 4 गिरफ्तार, कई और लोगों पर गाज गिरनी तय!

रविवार को बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 67 वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित की गई थी। परीक्षा के पहले ही प्रश्नपत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद परीक्षा रद्द कर दी गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 67 वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक होने के मामले में भोजपुर जिले के परीक्षा केंद्र कुंवर सिंह कॉलेज से जुड़े चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार लोगों में कॉलेज के प्राचार्य योगेन्द्र प्रसाद सिंह और वहां प्रतिनियुक्त मजिस्ट्रेट-सह-बड़हरा के प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) जयवर्धन गुप्ता के अलावा कॉलेज के दो लेक्चरर शामिल हैं।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि 67वीं संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा के प्रश्न-पत्र वायरल होने के संबंध में आर्थिक अपराध थाना में मामला दर्ज किया गया है।

उन्होंने बताया कि अबतक के अनुसंधान एवं संदिग्ध व्यक्तियों से पूछ-ताछ के क्रम में प्राप्त साक्ष्य के आधार पर आर्थिक अपराध इकाई की विशेष अनुसंधान टीम द्वारा जय वर्धन गुप्ता( प्रतिनियुक्त स्टैटिक दण्डाधिकारी सह प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, बड़हरा, जिला भोजपुर), डॉ. योगेन्द्र सिंह (प्राचार्य सह केंद्र अधीक्षक, कुंवर सिंह कॉलेज, आरा) सहित सुशील कुमार सिंह,( व्याख्याता सह कंट्रोलर, कुंवर सिंह कॉलेज) तथा अगम कुमार सहाय (व्याख्याता सह सहायक केंद्राधीक्षक, कुंवर सिंह कॉलेज, आरा) को गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि मामले की जांच अभी भी जारी है। प्रश्न-पत्र लीक में विशेष अनुसंधान दल (एसआईटी) द्वारा गिरफ्तारी की यह पहली कार्रवाई है।


उल्लेखनीय है कि रविवार को बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 67 वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित की गई थी। परीक्षा के पहले ही प्रश्नपत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद परीक्षा रद्द कर दी गई।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia