कोरोना के मोर्चे पर परेशान करने वाली खबर! इस राज्य में 90 से ज्यादा सैंपल में मिला डेल्टा प्लस वेरिएंट, लोग डरे

स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस सप्ताह की शुरुआत में बुधवार को कहा कि 35 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 174 जिलों में SARS-CoV-2 कोरोनावायरस के ‘वेरिएंट ऑफ कंसर्न’ के मामले सामने आए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

त्रिपुरा ने इस बात की पुष्टि की है कि जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए पश्चिम बंगाल भेजे गए आधे से ज्यादा नमूनों में डेल्टा प्लस वेरिएंट के निकले है। देश में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच टेस्ट के लिए भेजे गए कुल 151 सैंपल्स में से 90 में कोरोना का डेल्टा प्लस वेरिएंट पाया गया है। त्रिपुरा के कोविड -19 नोडल अधिकारी डॉ दीप देबबर्मा ने शुक्रवार को पुष्टि करते हुए कहा कि त्रिपुरा ने पश्चिम बंगाल में जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए 151 आरटी-पीसीआर सैंपल्स भेजे थे। उन्होंने कहा कि इसमें 90 से ज्यादा में डेल्टा प्लस वेरिएंट से पॉजिटिव मिले हैं।

आपको बता दें, स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस सप्ताह की शुरुआत में बुधवार को कहा कि 35 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 174 जिलों में SARS-CoV-2 कोरोनावायरस के ‘वेरिएंट ऑफ कंसर्न’ के मामले सामने आए हैं। इनमें सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और गुजरात से हैं। उत्तर प्रदेश ने गुरुवार को डेल्टा प्लस कोविड -19 वेरिएंट के दो मामले दर्ज किए, जिनमें एक गोरखपुर और एक देवरिया में मिला।

एक दिन बाद ही यूपी ने कहा कि कोरोना का डेल्टा प्लस वेरिएंट और 107 सैंपल्स में पाया गया है। इस बीच यूपी में कोरोना के कप्पा वेरिएंट के भी दो मामले मिले हैं। कहा जा रहा है कि डेल्टा प्लस कोविड -19 वेरिएंट भारत में महामारी की संभावित तीसरी लहर के लिए जिम्मेदार हो सकता है। डेल्टा वेरिएंट देश में कोरोना की दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार बताया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia