यूपी में किसान कफन में हैं, पूरा विपक्ष हिरासत में, लेकिन सबूत सामने होने पर भी आरोपी अभी तक आजाद क्यों है योगी जी !

उत्तर प्रदेश में किसानों की मौत को करीब 24 घंटे होने जा रहे हैं, लेकिन जिस व्यक्ति पर किसानों की मौत का आरोप है वह अभी तक आजाद है। इस बीच समूचे विपक्ष को बीजेपी सरकार ने हिरासत में ले लिया है।

सोशल मीडिया
सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार की तानाशाही खुलकर सामने आ चुकी है।इस सरकार के किसान विरोधी और जनविरोधी सरकार होने के सबूत और क्या होंगे जब देश का अन्नदाता कफन में लिपटा हुआ है, लेकिन सरकार सिवाए चंद सरकारी अफसरों के बयानों के एकदम खामोश है। सरकार ने अभी तक उस व्यक्ति को हिरासत तक में नहीं लिया है जिस पर आरोप है कि उसने प्रदर्शन कर रहे किसानों पर गाड़ी चढ़ा दी। जो सबूत सामने आ रहे हैं उससे स्पष्ट है कि जिस गाड़ी को किसानों पर चढाया गया वह केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के नाम है।

यूपी में किसान कफन में हैं, पूरा विपक्ष हिरासत में, लेकिन सबूत सामने होने पर भी आरोपी अभी तक आजाद क्यों है योगी जी !

इस दौरान देश का अन्नदाता कफन में लिपटा है। चार किसानों की मौत पर संवेदना का एक शब्द भी अभी तक सरकार की तरफ से नहीं आया है। इतना ही नहीं किसानों को अपने प्रियजनों के शवों की रखवाली भी करनी पड़ रही है, क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार तो शव को छीनकर आनन-फानन अंतिम संस्कार करने में माहिर है। मथुरा की घटना सभी को याद है।


इस दौरान बीजेपी सरकार ने समूचे विपक्ष को हिरासत में ले रखा है। लखनऊ से लेकर लखीमपुर तक प्रियंका गांधी से लेकर अखिलेश यादव तक सभी को प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हिरासत में ले लिया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia