‘कोरोना तो बहाना है, मकसद किसान आदोलन को खत्म कराना है’, किसानों का दावा, सरकार रच रही है साजिश!

दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों का कहना है कि सरकार आंदोलन को खत्म करने के लिए कोरोना का मुद्दा उठा रही है। एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि सरकार कोरोना के पैंतरे से आंदोलन को खत्म करना चाहती है।

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन
user

नवजीवन डेस्क

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस पीक पर है। कोरोना वायरस लागातार पिछले सभी रिकॉर्ड्स को धड़ाधड़ तो रहा है। लेकिन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर किसानों का कहना है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के पीछे साजिश है। उकना कहना है कि कोरोना के बहाने सरकार उनके आंदोलन को खत्म करवाना चाहती है।

दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों का कहना है कि सरकार आंदोलन को खत्म करने के लिए कोरोना का मुद्दा उठा रही है। एक प्रदर्शनकारी ने कहा, "हमारी वजह से कोरोना वायरस नहीं फैल रहा है, बल्कि सरकार कोरोना के पैंतरे से आंदोलन को खत्म करना चाहती है।"

कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसान 130 दिन से ज्यादा समय से बैठे हुए हैं। किसानों की मांग है कि सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस ले। साथ एमएसपी पर लीगल गारंटी दे। लेकिन सरकार किसानों की मांगें मानने के लिए तैयार नहीं है। कई बार सरकार की ओर से यह बयान समाने आ चुका है कि वह तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी। उधर, किसानों का कहना है कि जब तक तीनों कृषि कानून वापस नहीं होते वह अपना आंदोलन खत्म नहीं करेंगे।

किसानों के आंदोलन के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रलय की मानें तो देश में कोरोना पीक पर है। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 1,15,736 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,28,01,785 हो गई है। 630 नई मौतों के बाद कुलमौतों की संख्या 1,66,177 हो गई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय