मोदी सरकार को लगा झटका, तीन महीने के सबसे निचले स्तर पहुंचा जीएसटी कलेक्शन

जीएसटी में लगातार दूसरे महीने दिसंबर में गिरावट दर्ज की गई है, जो 94,726 करोड़ रुपये रहा। जबकि नवंबर में यह 97,637 करोड़ रुपये था।

आईएएनएस

जीएसटी के कलेक्‍शन के मोर्चे पर मोदी सरकार को बड़ा झटका लगा है जीएसटी में लगातार दूसरे महीने दिसंबर में गिरावट दर्ज की गई है, जो 94,726 करोड़ रुपये रहा। जबकि नवंबर में यह 97,637 करोड़ रुपये था। हालांकि टैक्स रिटर्न दाखिल करने में तेजी दर्ज की गई है।

वित्त मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि 31 दिसंबर तक कुल 72.44 जीएसटीआर-3बी रिटर्न दाखिल किए गए हैं, जबकि नवंबर में यह संख्या कुल 69.6 लाख थी। इसमें सीजीएसटी 16,442 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 22,459 करोड़ रुपये, आईजीएसटी 47,936 करोड़ रुपये (आयात पर संग्रह किये गये 23,635 करोड़ रुपये सहित) और चुंगी 7,888 करोड़ रुपये (आयात पर एकत्रित 838 करोड़ रुपये सहित) है। दिसंबर में एकत्र राजस्व नवंबर में हुए लेन-देन से संबंधित हैं।

जीएसटी संग्रह अक्टूबर (सितंबर में हुए लेन-देन के) में एक लाख करोड़ रुपये को पार कर गया था और कुल 1,00,710 करोड़ रुपये था, जोकि नवंबर (अक्टूबर में हुए लेन-देन के लिए) में गिरकर 97,637 करोड़ रुपये रहा।

वित्त मंत्रालय ने बयान में कहा, “सरकार ने नियमित अदायगी के रूप में आईजीएसटी से सीजीएसटी को 18,409 करोड़ रुपये और एसजीएसटी को 14,793 करोड़ रुपये अदा किए हैं। अस्थायी आधार पर केन्द्र के पास राज्य और केन्द्र के बीच 50:50 में उपलब्ध शेष आईजीएसटी से 18,000 करोड़ रुपये की अदायगी की गई है।”

उन्होंने आगे कहा, “दिसम्बर 2018 महीने में नियमित अदायगी के बाद केन्द्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा अर्जित कुल राजस्व सीजीएसटी के लिए 43,851 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 46,252 करोड़ रुपये है।”

लोकप्रिय