कठुआ-उन्नाव रेप: पीएम की लंदन यात्रा से पहले वहां रह रहे भारतीय छात्रों ने पत्र लिख की कार्रवाई की मांग 

पत्र में कश्मीर, उत्तर प्रदेश और गुजरात में घटी रेप की घटनाओं का हवाला देते हुए पूछा गया है कि इनमें जल्द और सही न्याय सुनिश्चित कराने के लिए पीएम मोदी क्या कदम उठाने वाले हैं।

By नवजीवन डेस्क

17 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लंदन यात्रा से ठीक पहले वहां रह रहे भारतीय छात्रों के संगठन नेशनल इंडियन स्टूडेंटस एंड एल्युम्नी यूनियन (एनआईएसएयू) ने उन्हें पत्र लिखा है। पत्र में कश्मीर, उत्तर प्रदेश और गुजरात में घटी रेप की घटनाओं का हवाला देते हुए पूछा गया है कि इनमें जल्द और सही न्याय सुनिश्चित कराने के लिए वे क्या कदम उठाने वाले हैं। पत्र में भारत में नाबालिग लड़कियों के साथ बढ़ते बलात्कारों के मामलों पर रोक लगाने की बात कही है और उन पर चिंता जताई गई है। पिछले दिनों प्रधानमंत्री ने कहा था कि इन मामलों में न्याय होगा। पत्र में पूछा गया है, “कब और कैसे?”

कठुआ-उन्नाव रेप: पीएम की लंदन यात्रा से पहले वहां रह रहे भारतीय छात्रों ने पत्र लिख की कार्रवाई की मांग 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चार दिनों के लंदन दौरे पर पहुंचने वाले हैं उससे पहले ही छात्रों ने लंदन स्थित भारतीय उच्चायुक्त के माध्यम से प्रधानमंत्री को यह पत्र सौंपा।

छात्रों ने लिखा, "माननीय प्रधानमंत्री, आप अतीत में भी नोटबंदी जैसे कठिन और असाधारण निर्णय लेने से पीछे नहीं हटे। उसी तरह कुछ कीजिए जिससे साबित हो कि आप भारतीय बेटियों के लिए भी कुछ करना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि आप कोई कठोर निर्णय लें और इस तरह की घटनाओ में अपनी चुप्पी तोड़े।”

एल्युम्नी यूनियन के छात्रों ने मोदी से अनुरोध किया कि बुधवार को जब वे लंदन में भारत की बात सबके साथ करें तो इस मुद्दे पर घोषणा करें। छात्रों ने लिखा, “आरोपियों को उनके रसूख के कारण बचने न दें। आप जब यहां अपने कार्यक्रम को संबोधित करें तो दुनिया को बताएं कि वह उपाय क्या है।" पत्र पर एनआईएसएयू के अलावा 19 अन्य छात्र संगठनों के हस्ताक्षर हैं।

Most Popular