कमलनाथ ने खुद के खिलाफ अपशब्द कहने वाले प्रिंसिपल को किया माफ, बोले- नहीं चाहता शिक्षक का परिवार हो परेशान

सीएम कमलनाथ ने कहा कि शिक्षक ने इस पद पर पहुंचने के लिए कई सालों तक मेहनत की होगी। शिक्षक का परिवार उनके ऊपर आश्रित होगा। सीएम ने कहा कि निलंबन की कार्रवाई से उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। मैं नहीं चाहता कि उनके ऊपर कोई कार्रवाई हो।

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जबलपुर के सरकारी स्कूल के उस प्रिंसिपल को माफ कर दिया है, जिन्होंने कुछ दिन पहले उनके खिलाफ अपशब्द का इस्तेमाल किया था। कमलनाथ ने जिला प्रशासन से शिक्षक का निलंबन रद्द करने का आदेश दिया है। शिक्षक द्वारा अपशब्द का इस्तेमाल करने पर सीएम कमलनाथ ने कहा, “लोकतंत्र में सभी को अभिव्यक्ति की आजादी है, मैं हमेशा इसके समर्थन में रहा हूं।

मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं सोचता हूं कि शिक्षक ने इस पद पर पहुंचने के लिए कई सालों तक मेहनत की होगी। शिक्षक का पूरा परिवार उनके ऊपर आश्रित होगा। निलंबन की कार्रवाई से उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। मैं नहीं चाहता कि उनके ऊपर कोई कार्रवाई हो।”

कमलनाथ ने अपने बयान में आगे कहा, “एक मुख्यमंत्री पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के खिलाफ शिक्षक पर निलंबन की कार्रवाई हो, यह नियमों के तहत सही हो सकता है, लेकिन मैं व्यक्तिगत रूप से उन्हें माफ करना चाहता हूं।”

मुख्यमंत्री ने साथ ही शिक्षक को नसहीत भी दी। उन्होंने कहा, “एक शिक्षक का काम समाज का नवनिर्माण करना होता है। छात्रों को अच्छी शिक्षा देना होता। मैं उम्मीद करता हूं कि वे भविष्य में अपने कर्तव्यों पर ध्यान देंगे। मैंने जिला प्रशासन को निर्देश दिया है कि उनका निलंबन रद्द कर दिया जाए।”

सीएम कमलनाथ ने कहा कि पिछले 14 सालों में सेवा भारती को प्रताड़ित किया गया है, अपनों ने हमें परेशान किया। सीएम ने कहा कि मैं इन्हें सिफ इतना विश्वास दिलाता हूं कि हमें गैर ना समझें। हम बदले की भावना से कोई भी काम नहीं करेंगे।

लोकप्रिय