मूसेवाला हत्याकांड: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को लॉरेंस बिश्नोई की 5 दिन की रिमांड मिली

पंजाबी गायक और कांग्रेस नेता सिद्धू सिंह मूसेवाला की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को मामले में पूछताछ के लिए पांच दिन के रिमांड पर लिया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पंजाबी गायक और कांग्रेस नेता सिद्धू सिंह मूसेवाला की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को मामले में पूछताछ के लिए पांच दिन के रिमांड पर लिया है। स्पेशल सेल पहले ही काला जठेड़ी, शाहरुख और काला राणा से हत्या में उनकी कथित भूमिका के लिए पूछताछ कर चुकी है।

संभावना है कि पंजाब पुलिस उनके प्रोडक्शन वारंट की मांग कर सकती है। स्पेशल सेल पंजाब पुलिस के साथ सारी जानकारी साझा करेगी, जो उनके संपर्क में है। इससे पहले दिन में राष्ट्रीय राजधानी की तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने अपनी जान को खतरा बताते हुए दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। अदालत बिश्नोई की याचिका पर बुधवार को सुनवाई करेगी।

उसने हाईकोर्ट से मांग की है कि पंजाब पुलिस 'राजनीतिक लाभ' के लिए उसका एनकाउंटर कर सकती है, ऐसे में उसे सुरक्षा प्रदान की जाए और पंजाब पुलिस को उसे न सौंपा जाए।


बिश्नोई को प्रसिद्ध पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की सनसनीखेज हत्या के मामले में एक प्रमुख संदिग्ध के तौर पर देखा जा रहा है। बिश्नोई ने मंगलवार को दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया, क्योंकि इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट की एनआईए कोर्ट ने उसकी याचिका को खारिज कर दिया था।

याचिका खारिज होने के बाद बिश्नोई ने अपने वकील विशाल चोपड़ा के माध्यम से उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया। याचिका में, उसने दिल्ली पुलिस और तिहाड़ जेल अधिकारियों को उसके लिए सभी आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए निर्देश देने की मांग की।

मूसेवाला के शव परीक्षण से पता चला है कि उन्हें 24 गोलियां लगी थीं जबकि 30 राउंड फायर किए गए थे। सरकार द्वारा उनकी सुरक्षा में कटौती के 24 घंटे से भी कम समय में, 29 वर्षीय मूसेवाला की रविवार को दिनदहाड़े मनसा में उनके पैतृक गांव के पास गैंगस्टरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

वह एक महिंद्रा थार एसयूवी में सवार थे और अचानक 10-12 हमलावरों ने गायक और उसके दो दोस्तों पर प्वाइंट ब्लैंक रेंज (काफी करीब) से 20 से अधिक राउंड फायर किए, जिसके बाद मूसेवाला की मौत हो गई और उनके दो साथी गंभीर रूप से घायल हो गए।


यह पता चला है कि हत्या में रूसी एएन-97 और एके-47 असॉल्ट राइफलों का इस्तेमाल किया गया था, क्योंकि उनके शैल अपराध स्थल से बरामद किए गए हैं।

यह खबर सामने आई है कि कनाडा के एक गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और लॉरेंस बिश्नोई ने हत्या की जिम्मेदारी ली है। इस हत्या के बाद राजनीति गर्मा गई है और आरोपियों की धर-पकड़ के लिए पुलिस जांच में जुटी हुई है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia