दिल्ली में मंकीपॉक्स का नया मरीज, नाइजीरियाई महिला निकली पॉजिटिव, राजधानी में अबतक 4 मामले दर्ज

इस महिला को बुखार और शरीर में चकत्‍ते हैं ओर इसे LNJP में भर्ती कराया गया है। इसका सैंपल टेस्‍ट के लिए भेजा गया था जिसका परिणाम बुधवार को 'पॉजिटिव' आया है।

Getty Images
Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

देश में मंकीपॉक्‍स का खतरा बढ़ रहा है। दिल्‍ली में बुधवार को चौथा मामला दर्ज किया गया। 31 वर्ष की नाइजीरियाई महिला को इस बीमारी से संक्रमित पाया गया है। इस ताजा मामले के साथ ही देश में मंकीपॉक्‍स संक्रमण के मामलों की संख्‍या 9 तक पहुंच गई है। देश में मंकीपॉक्‍स वायरस से संक्रमित यह पहली महिला है।

खबरों की मानें तो इस महिला को बुखार और शरीर में चकत्‍ते हैं ओर इसे LNJP में भर्ती कराया गया है। इसका सैंपल टेस्‍ट के लिए भेजा गया था जिसका परिणाम बुधवार को 'पॉजिटिव' आया है। आपको बता दें, दिल्‍ली में मंकीपॉक्‍स के पहले मरीज को सोमवार को LNJP अस्‍पताल से डिस्‍चॉर्ज किया गया। उधर, मंकीपॉक्स से निपटने के लिए दिल्ली में छह अस्पतालों में 70 आइसोलेशन रूम बनाए गए हैं

अधिकारियों ने कहा कि इनमें से 20 कक्ष मंकीपॉक्स के रोगियों और संदिग्ध रोगियों के इलाज के लिए नोडल केंद्र LNNJP अस्पताल में बनाए गए हैं, जबकि अन्य पांच अस्पतालों में 10-10 कक्ष स्थापित किए गए हैं। इन पांच अस्पतालों में दिल्ली सरकार द्वारा संचालित जीटीबी अस्पताल तथा डॉक्टर बाबा साहेब आंबेडकर अस्पताल और तीन निजी अस्पताल- कैलाश दीपक अस्पताल, एमडी सिटी अस्पताल और बत्रा अस्पताल, तुगलकाबाद शामिल हैं।

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की मुख्‍य वैज्ञानिक सौम्‍या स्‍वामीनाथन ने मंकीपॉक्‍स के प्रकोप को आंखें खोलने वाला करार दिया है। उन्‍होंने बताया कि 1979-80 से स्‍मालपॉक्‍स वैक्‍सीनेशन कार्यक्रम को रोक दिया गया है। उमंकीपॉक्‍स का प्रकोप हमारे लिए "नींद से जगाने वाला" रहा है क्‍योंकि हमें हर समय घातक प्रकोप से बचाव के लिए खुद को तैयार रखने की जरूरत है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia