कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों ने फिर भरी हुंकार! राकेश टिकैत का ऐलान- कल जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेंगे 200 किसान

राकेश टिकैत ने बताया कि सिंघू बॉर्डर से 4-5 बसें कल रवाना होंगी और जंतर-मंतर पहुंचने के बाद हमारा विरोध प्रदर्शन संसद के मानसून सत्र के खत्म होने तक चलेगा।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

किसानों का आंदोलन एक बार फिर से दिल्ली की सीमाओं में दाखिल हो रहा है। कल से 200 किसान जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेंगे। इसके लिए पुलिस प्रशासन और सरकार से भी अनुमति मिल गई है। इस बात की जानकारी किसान नेता राकेश टिकैत ने दी है। इस अनुमति के बाद भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने बताया है कि हमारे 200 लोग कल ही अलग-अलग धरनास्थलों से जंतर-मंतर के लिए रवाना होंगे।

राकेश टिकैत ने बताया कि सिंघू बॉर्डर से 4-5 बसें कल रवाना होंगी और जंतर-मंतर पहुंचने के बाद हमारा विरोध प्रदर्शन संसद के मानसून सत्र के खत्म होने तक चलेगा। राकेश टिकैत ने कहा कि अगर ट्रैक्टर लेकर जाएंगे तो क्या हम इनसे (सुरक्षाबलों) से रुक पाएंगे। उन्होंने कहा कि हम केवल 200 की संख्या में जाएंगे, जब ट्रैक्टर लेकर जाएंगे, तब भी बताकर ही जाएंगे। अभी हम बस से जाएंगे, इकट्ठे जाएंगे। उन्होंने कहा कि पुलिस की गाड़ी भी साथ चलेगी, यही संरक्षण का मतलब है।

आपको बता दें कि किसान नेताओं ने मॉनसून सत्र के दौरान संसद को घेरने की तैयारी की है। हालांकि पुलिस प्रशासन ने सख्त हिदायत दी है कि संसद के आसपास किसानों की भीड़ को अनुमति नहीं दी जाएगी, इसीलिए प्रशासन ने उन्हें जंतर-मंतर पर जाने को कहा है, लेकिन किसान संसद का घेराव करने की कोशिश में हैं। इसी को लेकर दोनों पक्षों के बीच तकरार देखने को मिली। बुधवार को दिल्ली पुलिस और संयुक्त किसान मोर्चा के बीच बैठक में किसानों ने कहा कि वे संसद सत्र के दौरान ही संसद के बाहर, यानी जंतर-मंतर पर तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ धरना देंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia