प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर तीखा निशाना, पूछा - बेरोजगारी बढ़ रही है यह संयोग है या प्रयोग !

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मोदी सरकार पर तीखा प्रहार किया है। उन्होंने दिल्ली में एक चुनावी सभा में शाहीन बाग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘संयोग-प्रयोग’ टिप्पणी पर यह कहते हुए निशाना साधा कि बेरोजगारी क्या महज संयोग है या उनका प्रयोग है?

फोटो : @INCIndia
फोटो : @INCIndia

प्रियंका गांधी ने मंगलवार को दिल्ली के संगम विहार में राहुल गांधी के साथ संयुक्त चुनावी रैली में कहा, ‘‘जब प्रधानमंत्री आपके सामने भाषण देते आते हैं तो वह बेरोजगारी का जिक्र तक नहीं करते। क्या वह हमें बता सकते हैं कि नौकरियों का जाना महज संयोग है या प्रयोग? क्या वह बता सकते हैं कि 35 सालों में बेरोजगारी दर सबसे अधिक ऊंचाई पर क्यों पहुंच गयी है? यह क्या संयोग है, या उनका प्रयोग है?’’

फोटो : @INCIndia
फोटो : @INCIndia

उन्होंने कहा कि चुनाव का समय है, सब पार्टी के उम्मीदवार आपके सामने आकर बड़े-बड़े भाषण करते हैं। आजकल कभी-कभी ऐसे लगता है कि मुद्दे गायब हो रहे हैं और बयानबाजी बहुत हो रही है। प्रियंका गांधी ने कहा कि, “जो सबसे अहम मुद्दे हैं, वो कौन से हैं, बताइए? जब आप यहाँ आते हैं, देशभर से, किस चीज को ढूँढने आते हैं?” इस पर जनसभा में मौजूद लोगों ने कहा कि वे रोजगार ढूँढने आते हैं। प्रियंका गांधी ने कहा कि, “कल या परसों प्रधानमंत्री जी ने एक भाषण दिया, आप सबने सुना होगा, उन्होंने रोजगार की बात की? उन्होंने जो वायदे किए थे, जिसके बारे में सबने इस मंच पर आपको याद दिलाया, उन्होंने उसके बारे में आपसे बात की? दरअसल, बात ये है कि चाहे भाजपा के नेता हों, या आम आदमी पार्टी के, अपनी प्रशंसा में रहते हैं, आपको सुनाना चाहते हैं कि बड़े-बड़े काम किए हैं, लेकिन जो आपके काम की बात है, उसके बारे में कम बात करते हैं।“

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि हाल ही में एक रिपोर्ट निकली है, जिसमें 7 औद्योगिक क्षेत्रों में से साढ़े तीन करोड़ रोजगार घटे हैं, ये लिखा है। देश के प्रधानमंत्री जब आपके सामने भाषण देने आते हैं, तो इसका जिक्र तक नहीं करते हैं। क्या वो बता सकते हैं कि इन रोजगारों का घटना संयोग है या प्रयोग है? बता सकते हैं कि 35 सालों में जो बेरोजगारी की दर इतनी ऊँची हुई है, ये क्या संयोग था या प्रयोग था उनका? वे कहते हैं कि विपक्ष उन्हें काम नहीं करने देता, लेकिन वो फिर भी बड़ी तेजी से काम कर रहे हैं। ये बात सच है, बड़ी तेजी से काम हो रहा है, बड़ी तेजी से सरकारी कंपनियाँ बिक रही हैं, एलआईसी बेच डाली, एयर इंडिया को बेच डाला, बीपीसीएल बेच डाला, बीएसएनएल बेच डाला, यहाँ तक कि रेलवे भी बेचने की योजना कर रहे हैं। सचमुच उनकी रफ्तार बहुत फास्ट है। कांग्रेस सरकार ने 14 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला और पांच सालों में जिस तेजी से इन्होंने लोगों को गरीबी में वापस डाला है, उसका कोई अनुमान भी नहीं कर सकता।“

प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर तीखा निशाना, पूछा - बेरोजगारी बढ़ रही है यह संयोग है या प्रयोग !

प्रियंका गांधी ने गृहमंत्री अमित शाह के बयानों पर भी तीखी टिप्पणी की। उन्होंने कहा, “और बयान सुनिए, यहाँ यूपी के कितने लोग हैं? ये बयान सुनिए, बहुत मजेदार बयान है। गृहमंत्री जी आए प्रचार करने। गृहमंत्री जी ने क्या कहा, कहा कि हम दिल्ली को यूपी की तरह बना देंगे। अब मैं यूपी की प्रभारी हूँ, कांग्रेस पार्टी की। थोड़ा बता दूँ कि उन्होंने यूपी का क्या बनाया है। देश का सबसे प्रतिभाशाली प्रदेश था, आज क्या हालात है वहाँ के, भाजपा की सरकार ने किस तरह से यूपी की जनता को त्रस्त किया है, मैं बताती हूँ। यूपी की जो बेरोजगारी की दर है, वो देश में सबसे ऊँची है। हर दो मिनट एक महिला के साथ बलात्कार होता है, हर 90 मिनट एक बच्चे के खिलाफ अपराध होता है। हर रोज 30 दलितों के साथ अत्याचार होता है। हत्या के सबसे ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश में हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश में, जैसे मैंने कहा, बेरोजगारी सबसे ऊपर है और शिक्षा सबसे नीचे, स्वास्थ्य सबसे नीचे। तकरीबन 70 हजार युवा शिक्षक भर्ती के लिए इंतजार कर रहे हैं, ये हालात हैं, यूपी के जहाँ इनकी सरकार पांच सालों से चल रही है और ये आपके सामने आकर ये हिम्मत करते हैं और ये कहते हैं कि दिल्ली को भी यूपी की तरह बना देंगे। यूपी सबसे सक्षम प्रदेश था और आज इसके ये हालात बना दिए हैं इन्होंने। अपराध ही अपराध है, अराजकता है और विकास का कोई नामोनिशान नहीं है।“

प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर तीखा निशाना, पूछा - बेरोजगारी बढ़ रही है यह संयोग है या प्रयोग !

उन्होंने आम आदमी पार्टी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि, “आम आदमी पार्टी की ये स्थिति है कि इमारत बनाई शीला जी ने, कांग्रेस पार्टी ने पूरी इमारत बनाई, ऊपर से लीपापोती करके कह रहे हैं कि ये इमारत हमने बनाई। दूसरों की मेहनत पर अपनी पुताई करना एक बात होती है। मेहनत से, निष्ठा से एक इमारत को खड़ा करना, नए-नए प्रोजैक्ट्स बनवाना, एक शहर को खड़ा करना, उसमें विकास लाना एक बहुत अलग बात होती है। आप जानते हैं कि शीला जी ने, जब वो मुख्यमंत्री थीं, तो क्या नहीं किया दिल्ली के लिए। हम सब दिल्ली के वासी हैं, दिल्ली में पले हैं, दिल्ली में बढ़े हैं। हमने खुद अपनी आँखों से देखा है। जितनी सड़कें यहाँ बनी उनके समय में, आज तक आम आदमी पार्टी या भाजपा बता दे कि कितनी सड़क बनाई हैं। उनका कोई मुकाबला नहीं है। फ्लाई ओवर उन्होंने बनवाए, मेट्रो उन्होंने बनवाया, तमाम विकास के कार्य उन्होंने कराए। आम आदमी पार्टी के नेता और भाजपा के नेता एक चीज में बहुत सक्षम हैं, पब्लिसिटी कराने में।“

प्रियंका गांधी ने बीजेपी और आम आदमी पार्टी के प्रचार पर हो रहे बेशुमार खर्च का भी मुद्दा उठाया। उहोंने कहा कि, “प्रधानमंत्री जी, 52 सौ करोड़ रुपए सिर्फ अपनी पब्लिसिटी में डलवाते हैं और केजरीवाल जी भी कुछ कम नहीं हैं। सिर्फ दिल्ली के चुनाव में 611 करोड़ रुपए खर्चे हैं, पब्लिसिटी में। अब बताइए, इतनी पब्लिसिटी की क्या जरुरत है, अगर काम ही बात कर रहा है। अगर आपका काम दिख रहा है तो उसको बढ़ाने-चढ़ाने की इतनी क्या जरुरत हो गई है? ये इसलिए कर रहे हैं क्योंकि काम कम है। कहते हैं कि शिक्षा में बहुत काम किया, लेकिन जितनी पाठशालाएं हैं, जितने भी विश्वविद्यालय दिल्ली में हैं, वे कांग्रेस की सरकारों ने बनवाए हैं।“

उन्होंने केजरीवाल सरकार पर चुनावी वादे पूरे न करने का भी आरोप लगाया। उहोंने कहा कि आप सरकार ने वादा किया था कि कम से कम पांच अस्पताल बनाएंगे, एक भी नहीं बनाया है। कांग्रेस की सरकार ने 22 हजार बैड अस्पतालों में बढ़ाए थे, इनके पांच सालों में केवल तीन हजार बढ़े हैं।

उन्होंने युवाओँ पर फोकस करते हुए कहा कि, “युवा रोजगार के लिए तरस रहे हैं, लेकिन ये मुद्दे उठ नहीं रहे हैं, इस चुनाव में। इसके बारे में आपसे बात नहीं की जा रही है। कोई दूसरे देशों की बात करता है, कोई फूट फैलाने की बात करता है। एक जन कहते हैं कि जो भी उनकी आलोचना करता है, वो देशद्रोही है। कोई और कहते हैं कि जो भी उनकी आलोचना करता है, वो भ्रष्ट है। जब कोई भी सवाल उठाता है, आपके पक्ष में, जनता के पक्ष में, कि आपके लिए अच्छा क्या है, यहाँ पर विकास किस तरह से होना चाहिए, रोजगार क्यों नहीं है, तब उसका मुँह बंद करने की कोशिश होती है।“

Published: 4 Feb 2020, 11:20 PM
लोकप्रिय