काशी के 'श‍िव' मौत मामले में प्रियंका गांधी ने पुलिस प्रशासन पर उठाए सवाल, कहा- केस की हो उच्चस्तरीय जांच

प्रियंका गांधी ने कहा कि इस पूरी घटना में पुलिस प्रशासन की लापरवाही व असंवेदनशीलता साफ झलकती है और उच्चस्तरीय जांच से ही सही जानकारी व न्याय सुनिश्चित हो पाएगा। शिव त्रिवेदी के परिवार को न्याय जरूर मिलना चाहिए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

वाराणसी के लंका थाने पर 2 साल पहले जिस बीएचयू स्‍टूडेंट शिव कुमार त्रिवेदी को पुलिस कैंपस से उठाकर ले गई, अब वो इस दुनिया में नहीं है। पुलिस उस रात शिवक को लंका थाने के सुपुर्द करती है और फिर 2 साल तक शिव का कुछ पता नहीं चलता। अब इलाहाबाद हाईकोर्ट में सीबीसीआईडी ने रिपोर्ट पेश कर बीएचयू वाराणसी के लापता छात्र की मौत की जानकारी दी है।

अब इस मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का भी बयान सामने आया है। प्रियंका गांधी ने भी परिवार को न्याय मिलने की बात कही है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि BHU के छात्र शिव त्रिवेदी के परिवार की दर्दनाक आपबीती सुनकर मन को भारी दुख पहुंचा। पन्ना, मध्यप्रदेश से BHU पढ़ने आए इस मेधावी छात्र के परिवार को 2 साल बाद पता चला कि शिव की मृत्यु हो गई। इस पूरी घटना में पुलिस प्रशासन की लापरवाही व असंवेदनशीलता साफ झलकती है और उच्चस्तरीय जांच से ही सही जानकारी व न्याय सुनिश्चित हो पाएगा। शिव त्रिवेदी के परिवार को न्याय जरूर मिलना चाहिए।

पुलिस ने कोर्ट को बताया है कि छात्र मानसिक तौर पर बीमार था। उसे लंका थाने लाया गया था। उसी रात वह निकल गया था और तीसरे दिन ही एक तालाब के पास लावारिस लाश बरामद हुई थी, जिसका अंतिम संस्कार कर दिया गया था। फोटो के आधार पर पिता ने उसे पहचाना। उसके बाद डीएनए टेस्ट कराया गया। जिससे पता चला कि लावारिस लाश लापता छात्र की थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia