देश वासियों को फ्री में मिलेगी कोरोना वैक्सीन? PM, BJP, स्वास्थ्य मंत्रालय के बयानों में विरोधाभास पर राहुल का सवाल

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा था कि सरकार ने कभी नहीं कहा कि पूरे देश का टीकाकरण होगा या कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी। उन्होंने यह बात उस सवाल के जवाब में कही, जिसमें पूछा गया था कि पूरे देश को वैक्सीन देने में कितना समय लगेगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

हैदर अली खान

मोदी सरकार यह दावा कर रही है कि जल्द ही देश में कोरोना वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगा और कोरोना के कहर से लोगों को निजात मिलेगी। लेकिन सवाल यह है कि क्या सभी देशवासियों को कोरोना वैक्सीन फ्री में मोदी सरकार देगी। यह सवाल राहुल गांधी ने भी खड़े किए हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने यह सवाल इसलिए पूछा है क्योंकि पीएम मोदी, उनकी पार्टी बीजेपी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बयान में विरोधाभास है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “पीएम ने कहा कि सभी को वैक्सनीन मिलेगा। बिहार चुनाव में बीजेपी ने कहा कि बिहार के लोगों को फ्री में वैक्सीन मिलेगा। अब केंद्र सरकार कह रही है कि हमने कभी नहीं कहा कि सभी को वैक्सीन मिलेगा। अब पीएम मोदी बताएं कि वास्तविकता में उनका क्या स्टैंड है?”

गौरतलब है कि 1 दिसंबर को प्रेस से बात करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा था कि सरकार ने कभी नहीं कहा कि पूरे देश का टीकाकरण होगा या कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी। उन्होंने यह बात उस सवाल के जवाब में कही, जिसमें पूछा गया था कि पूरे देश को वैक्सीन देने में कितना समय लगेगा। स्वास्थ्य सचिव ने कहा, "मैं साफ करना चाहता हूं कि सरकार ने कभी नहीं कहा कि पूरे देश को कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी। वैज्ञानिक मुद्दों पर बात सिर्फ तथ्यों पर ही होनी चाहिए।”

हाल ही में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में बिहार की जनता से वादा किया था कि अगर बिहार में एनडीए की सरकार बनी तो बिहार के सभी लोगों को फ्री में कोरोना का टीका दिया जाएगा। बीजेपी द्वारा की गई इस घोषणा के बाद काफी हो हल्ला मचा था। विपक्षी पार्टियों समेत आम जनता ने बीजेपी और केंद्र सरकार से सवाल पूछा था कि क्या सिर्फ बिहार को ही फ्री में कोरोना वैक्सीन मिलेगा। इस मुद्दे पर बीजेपी घिर गई थी। इन्हीं बयानों को लेकर राहुल गांधी ने पीएम मोदी से सवाल पूछा है कि वह बताएं कि कोरोना वैक्सनी उपलब्ध कराने को लेकर उनका क्या स्टैंड है?

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next