लखीमपुर खीरी केस में कांग्रेस की मांग: मंत्री पुत्र गिरफ्तार हों, मंत्री बर्खास्त हों और सिटिंग जज करें घटना की जांच

लखीमपुर खीरी की घटना पर कांग्रेस ने मांग की है कि इस घटना की जांच किसी रिटायर्ड जज के बजाए सिटिंग जज से कराई जानी चाहिए। कांग्रेस ने कहा कि इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री को बर्खास्त किया जाना चाहिए और उनके बेटे की तत्काल गिरफ़्तारी होनी चाहिए।

फोटो : विपिन
फोटो : विपिन
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस ने लखीमपुर खीरी की घटना पर कहा है कि इस मामले में बीजेपी लीपापोती का काम कर रही है। कांग्रेस ने कहा कि शांतिपूर्वक धरना दे रहे किसानों पर बीजेपी जुल्म करने से बाज नहीं आ रही है। कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल ने कहा कि, "किसान काले कानून (कृषि क़ानूनों) के खिलाफ शांतिपूर्वक धरना दे रहे हैं। सरकार नहीं मान रही इसलिए वे सड़कों पर हैं। केंद्रीय मंत्री के बेटे की गाड़ी से उन्हें कुचल देने की घटना को आप कैसे जस्टिफाई कर सकते हैं। लोकतंत्र किस दिशा में जा रहा है।

वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जज कराई जानी चाहिए। उन्होंने मांग की कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र को तुरंत बर्खास्त किया जाए और उनके आरोपी पुत्र को गिरफ्तार किया जाए।


भूपेश बघेल ने कहा लखीमपुर खीरी की घटना के बाद की स्थितियों को देखकर पता चलता है कि बीजेपी सरकार किस कदर किसानों के खिलाफ है और वो किसी भी विरोध को बर्दाश्त नहीं करना चाहते हैं; ये अंग्रेजों के रास्ते पर चलने वाले लोग हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की घटनाएँ घटित होती हैं जिसके बाद राजनीतिक दल के लोग, सामाजिक संगठन, विभिन्न संगठन के लोग जाते हैं और उस घटना के बारे में जानकारी लेते हैं, न्याय की बात करते हैं; लेकिन लखीमपुर जाने ही नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या यूपी में आम नागरिक के अधिकार छीन लिए गए हैं? - क्या यूपी जाने के लिए पासपोर्ट और वीजा की ज़रूरत है?

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia