शिवसेना-बीजेपी ने किया महाराष्ट्र में गठबंधन का ऐलान, सीट शेयरिंग का फार्मूला अभी तय नहीं, सेना को चाहिए सीएम पद !

महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ बीजेपी-शिवसेना ने इस साल के विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन का ऐलान कर दिया है, लेकिन किसके हिस्से में कितनी सीटें आएंगी, अभी यह साफ नहीं है। कुल मिलाकर इस गठबंधन में बीजेपी-शिवसेना के अलावा आरपीआई और आरएसपी भी शामिल हैं।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

महाराष्ट्र की राजनीति में चुनावी सरगर्मियां तेज हो चुकी हैं। 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए राज्य में बीजेपी और शिवसेना ने एक साथ चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी। इस बारे में औपचारिक ऐलान सोमवार को कर दिया गया, लेकिन बीजेपी और शिवसेना कितनी-कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेंग अभी तय नहीं हुआ है। कम से कम इसकी औपचारिक घोषणा तो नहीं हुई है।

राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि इस बार शिवसेना गठबंधन में और अधिक सीटों की मांग कर सकती है। गौरतलब है कि शिवसेना ने इस बार महाराष्ट्र की राजनीति में आदित्य ठाकरे को सामने किया है और उनके मुंबई की वर्ली विधानसभा सीट से चुनवा लड़ने का ऐलान भी कर दिया है। माना जा रहा है कि शिवसेना आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर सामने कर रही है।

वैसे दोनों दलों को बीच सत्ता संघर्ष की खबरें आम हैं। शिवसेना सांसद संजय राउत तो साफ कर चुके हैं कि इस बार शिवसेना सिर्फ सहयोगी नहीं बनेगी बल्कि सही समय आने पर सत्ता भी संभालेगी। एक जनसभा के दौरान संजय राउत ने कहा था कि ‘हम चुनाव लड़ेंगे और चुनाव जीतेंगे। अगर ठाकरे परिवार का कोई सदस्य सरकार में शामिल होता है तो वह केवल डिप्टी सीएम की पोस्ट नहीं लेगा। इसे मुख्यमंत्री पद होना चाहिए। अगर वे युवाओं का नेतृत्व कर रहे हैं, तो वे सरकार भी चला सकते हैं।‘

ध्यान रहे कि रविवार को महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में बीजेपी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक हुई थी, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए थे। देर रात तक चली इस बैठक के बाद हरियाणा के लिए 78 उम्मीदवारों का ऐलान किया गया था। साथ ही गुजरात विधानसभा की 6 सीटों के उपचुनावों के भी उम्मीदवार घोषित किए गए थे। जिसमें अल्पेश ठाकुर का नाम भी था।

लोकप्रिय