चारधाम यात्रा में अब तक 39 तीर्थयात्रियों की मौत, अधिकतर मौत की वजह हार्ट अटैक, डीजी हेल्थ ने दी सलाह

डीजी हेल्थ डॉ. शैलजा भट्ट ने सुझाव दिया है कि जो यात्री मेडिकली पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हैं वह चारधाम यात्रा पर न आएं। चार धाम की यात्रा पर आने वाले, खासतौर से बुजुर्ग श्रद्धालुओं के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित उत्तराखंड सरकार ने बुधवार को स्वास्थ्य संबंधी दिशानिर्देश जारी किए।

फोटो: Getty Imges
फोटो: Getty Imges
user

नवजीवन डेस्क

चार धामों की यात्रा के दौरान अब तक 39 श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है जिनमें से अधिकतर मौतें हार्ट अटैक से हुई है। राज्य की स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ शैलजा भट्ट ने बताया कि 3 मई को चार धाम यात्रा शुरू होने के बाद से 39 तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है। मौत का कारण उच्च रक्तचाप, हृदय संबंधी समस्याएं और पर्वतीय बीमारी रही है।

डीजी हेल्थ डॉ. शैलजा भट्ट ने सुझाव दिया है कि जो यात्री मेडिकली पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हैं वह चारधाम यात्रा पर न आएं। चार धाम की यात्रा पर आने वाले, खासतौर से बुजुर्ग श्रद्धालुओं के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित उत्तराखंड सरकार ने बुधवार को स्वास्थ्य संबंधी दिशानिर्देश जारी किए। दिशानिर्देशों में कहा गया है कि 2700 मीटर से अधिक ऊंचाई पर स्थित सभी चारों धामों बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में तीर्थयात्री अत्यधिक ठण्ड, कम आर्द्रता, अत्यधिक पराबैंगनी विकिरण, कम हवा का दबाव और ऑक्सीजन की कम मात्रा से प्रभावित हो सकते हैं, इसलिए वे स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत ही यात्रा आरंभ करें।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia