पूरे महाराष्ट्र में दंगे कराने की थी बड़ी साजिश, BJP नेताओं का था हाथ, नवाब मलिक ने लगाए गंभीर आरोप

नवाब मलिक के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने भी कहा कि कुछ संगठन दूसरे राज्यों की घटनाओं को लेकर यहां रिएक्ट कर रहे हैं। पवार ने कहा कि वे अपना फ्रस्ट्रेशन निकाल रहे हैं। जो पार्टी सरकार चला चुकी है उसे ऐसे वक्त बंद नहीं करना चाहिए, जिससे शांति भंग हो।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने हाल में महाराष्ट्र के कुछ शहरों में हुए सांप्रदायिक तनाव को लेकर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने सोमवार को बीजेपी पर पूरे महाराष्ट्र में दंगे की साजिश रचने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बीजेपी की ओर से बंद का आह्वान किया गया था और पूरे महाराष्ट्र में तनाव और दंगे पैदा करने की बड़ी साजिश थी। बीजेपी नेता अनिल बोंडे और अन्य ने इस साजिश के तहत अमरावती शहर में पथराव और आगजनी की।

नवाब मलिक ने आरोप लगाया कि बीजेपी के नेताओं ने 2 तारीख की रात को दंगे का षड्यंत्र रचने का काम किया। कुछ नौज़वानों को पैसे और शराब बांटी गई। इसके बाद बंद के दौरान अमरावती में पत्थरबाज़ी हुई, दुकानों को आग लगाने का काम किया गया। पुलिस जांच में सारी सच्चाई सामने आई है और उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई शुरू हुई है।


नवाब मलिक के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने भी ऐसा ही बयान दिया है। ‘आज तक’ के अनुसार शरद पवार ने कहा कि कुछ संगठन दूसरे राज्यों की घटनाओं को लेकर यहां रिएक्ट कर रहे हैं। किसी राजनीतिक पार्टी का नाम लिए बगैर शरद पवार ने कहा कि वे लोग अपना फ्रस्ट्रेशन निकाल रहे हैं। जो पार्टी सरकार चला चुकी है उसे ऐसे वक्त बंद का आह्वान नहीं करना चाहिए, जिससे राज्य की शांति व्यवस्था में बाधा उत्पन्न हो।

शरद पवार ने ध्रुवीकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि अभी कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। खासकर उत्तर प्रदेश में, जो भविष्य की राजनीति की दिशा तय करेंगे। उसे सामने रखकर ही ऐसी घटनाएं हो रही हैं। उन्होंने कहा कि कहीं शांति है तो उसे बिगाड़ने की कोशिश हो रही है। उन्होंने कहा जैसे अमरावती मे बंद का आह्वान किया गया। वो शांति से हुआ लेकिन अब एक राजनीतिक पार्टी की ओर से बंद के आह्वान की खबर है, जो ठीक नहीं है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia