राजनीति

केरल: ‘मछुआरों की संसद’ में राहुल का वादा, कहा- केंद्र में कांग्रेस सरकार बनते ही करेंगे मत्स्य मंत्रालय का गठन

केरल के त्रिप्रयार में मछुआरों से संवाद करते हुए राहुल गांधी ने वादा किया। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस सत्ता में आई तो अलग मत्स्य मंत्रालय बनाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि वे पीएम मोदी की तरह झूठे वादे नहीं करते हैं।

फोटो: @INCIndia

नवजीवन डेस्क

केरल के त्रिप्रयार में ‘मछुआरों की संसद’ कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मछुआरों से संवाद की। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए मछुआरों से वादा किया कि अगर कांग्रेस सत्ता में आई तो अलग से मत्स्य मंत्रालय बनाएंगे।

उन्होंने आगे कहा, “हम यहीं नहीं रुकेंगे, दिल्ली सरकार में राष्ट्रीय स्तर पर सरकारी नौकरियों में 33 प्रतिशत आरक्षण और उसमें मछुआरा समुदाय से एक से अधिक महिलाओं को लाने की कोशिश होगी।”

उन्होंने आगे कहा, “देश के मछुआरे कई परेशानियों से जूझ रहे हैं, लेकिन मोदी सरकार में उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। आपकी परेशानी तभी सुलझ सकती है, जब सरकार में कोई आपका एक नुमाइंदा हो। मेरा आपसे वादा है कि जब केंद्र में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनेगी तो इस संबंध में एक मंत्रालय का गठन किया जाएगा, जो इन परेशानियों को दूर करने के लिए कदम उठाएगा।” उन्होंने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा, “मैं मोदी की तरह झूठे वादे नहीं करता।”

‘मछुआरों की संसद’ में उन्होंने आगे कहा कि मोदी सरकार में उद्योगपतियों की आवाज आसानी से सुनी जाती है, लेकिन किसानों, मछुआरों और विभिन्न समुदायों को अपनी आवाज सरकार तक पहुंचाने काफी जद्दोजहद करनी पड़ती है।”

उन्होंने एक और वादा करते हुए कहा, “2019 में जब हम सरकार में आएंगे तो हमने फैसला किया है कि हर व्यक्ति के लिए मिनिमम गारंटी इनकम की व्यवस्था करेंगे। इससे उन लोगों को फायदा होगा जिनकी इनकम मिनिमम इनकम लाइन से कम होगी। ऐसे लोगों को सरकार द्वारा मदद की जाएगी।”

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, “लाखों करोड़ रुपये कई उद्योगपतियों को दे दिया। लेकिन मोदी सरकार ने किसानों का एक रुपया भी माफ नहीं किया। अगर पीएम मोदी लाखों करोड़ रुपये चंद उद्योगपतियों को दे सकते हैं तो देश के उस तबके को क्यों नहीं दे सकते, जिन्हें इसकी ज्यादा जरूरत है।”

उन्होंने आगे कहा, “अगर देश के लोगों को रोजगार देना है और बैंकिंग सिस्टम को सुधारना है तो इसके लिए कई कदम उठाने होंगे। पीएम मोदी जो पैसा नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या जैसे चंद उद्योगपतियों को दे देते हैं, उस पैसे को छोटे उद्योगपतियों को देना पड़ेगा, क्योंकि छोटे उद्योगपति ही देश में रोजगार पैदा करेंगे न कि नीरव मौदी और मेहुल चोकसी जैसे लोग।”

Published: 14 Mar 2019, 12:32 PM
लोकप्रिय