Commonwealth Games पर कोरोना का खतरा, आईओए ने एथलीटों को किया आगाह

नियमों के अनुसार, प्रत्येक एथलीट को यूनाइटेड किंगडम में आने से 72 घंटे पहले कोविड-19 के लिए आरटी-पीसीआर परीक्षण से भी गुजरना होगा।

फोटो: IASNS
फोटो: IASNS
user

नवजीवन डेस्क

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने 2022 राष्ट्रमंडल गेम्स में भाग लेने वाले राष्ट्रीय एथलीटों से आग्रह किया कि वे कोविड-19 के खतरे के कारण बर्मिंघम में सार्वजनिक स्थानों पर ज्यादा समय न बिताएं।

आईओए ने कहा, "भारतीय ओलंपिक संघ ने बर्मिघम 2022 राष्ट्रमंडल गेम्स में भारतीय दल के खिलाड़ियों से अनुरोध किया है कि वे कोविड-19 के खतरे के कारण सार्वजनिक स्थानों पर ज्यादा समय न बिताएं, जिससे खिलाड़ियों के स्वास्थ्य और भागीदारी पर असर पड़ सकता है।"

उन्होंने कहा, "खिलाड़ियों को निर्देश दिया गया है कि वे सार्वजनिक स्थलों पर लोगों से कम से कम संपर्क रखें और जहां भी आवश्यक हो सावधानी बरतें।"

राष्ट्रमंडल गेम्स के आयोजकों ने खेल और उनके स्थानों के आधार पर एथलीटों को अलग किया है। तदनुसार, भारतीय दल पांच अलग-अलग राष्ट्रमंडल खेलों विलेज में रखा गया है। नियमों के अनुसार, प्रत्येक एथलीट को यूनाइटेड किंगडम में आने से 72 घंटे पहले कोविड-19 के लिए आरटी-पीसीआर परीक्षण से भी गुजरना होगा।


आईओए ने आगामी बर्मिघम राष्ट्रमंडल खेलों के लिए 215 एथलीटों और 107 अधिकारियों और सहायक कर्मचारियों सहित 322-मजबूत दल की घोषणा की।

खेलों का आयोजन 28 जुलाई से 8 अगस्त तक होना है और भारतीय दल गोल्ड कोस्ट 2018 राष्ट्रमंडल खेलों के प्रदर्शन में सुधार करना चाहेगा।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia