World Cup 2019: क्रिकेट के इस महायुद्ध में अपनी टीम को वर्ल्ड चैंपियन बनाएंगे ये 10 कप्तान

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट विश्वकप का 12वां सीजन 30 मई से शुरू होने जा रहा है। वर्ल्ड कप में टीम इंडिया विराट कोहली की कप्तानी में अपना पहला मैच 5 जून को साउथ अफ्रीका के साथ खेलेगी। दुनिया भर से इस बार 10 टीमें वर्ल्ड कप में हिस्सा ले रही हैं ।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

रविवार को इंडियन प्रीमियर लीग की समाप्ति के बाद अब क्रिकेट का सबसे बड़ा उत्सव जल्द ही शुरू होने वाला है। 30 मई से शुरू हो रहे क्रिकेट वर्ल्ड कप के 12वें सीजन की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। क्रिकेट के इस महायुद्ध के लिए इस बार दुनिया भर से 10 टीमें हिस्सा ले रही हैं। 30 मई को पहला मैच साउथ अफ्रीका और मेजबान इंगलैंड के बीच खेला जाएगा।

वर्ल्ड कप में इस बार टीम इंडिया के कमान विराट कोहली के हाथों में है। इस महायुद्ध में टीम इंडिया अपना पहला मैच 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के साथ साउथम्प्टन के रोज बाउल ग्राउंड में खेलेगी। ऐसे में आइये जानते हैं कि बाकी टीमों की कप्तानी कौन कर रहा है और क्रिकेट के इतिहास में उनका सफर कैसा रहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

1. विराट कोहली (इंडिया)

इस साल विश्व कप में विराट कोहली पहली बार कप्तानी कर रहे हैं। साल 2011 में टीम इंडिया ने धोनी की कप्तानी में विश्व कप अपने नाम किया था। कोहली की कप्तानी में इस बार टीम इंडिया को विश्व कप खिताब जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। अपने करियर में विराट ने टीम इंडिया के लिए 77 टेस्ट, 227 वन-डे और 67 टी-20 मैच खेले हैं, जिनमें विराट ने टेस्ट में 6613 और वन-डे में 10843 रन बनाए है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

2. इयोन मोर्गन (इंग्लैंड)

20 साल बाद वर्ल्ड कप की मेजबानी कर रहे इंग्लैंड में इस बार टीम की कमान इयोन मोर्गन के हाथों में है। इससे पहले इंग्लैंड चार बार (1975,1979,1983 और 1999) वर्ल्ड कप की मेजबानी कर चुकी है। इस बार मोर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड को पहली बार खिताब की तलाश रहेगी। मोर्गन ने अपनी टीम के लिए 16 टेस्ट, 217 वन-डे और 81 टी-20 खेले हैं। मौर्गन ने वन-डे में 6813 रन बनाए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

3. आरोन फिंच (ऑस्ट्रेलिया)

वर्ल्ड कप के इतिहास में सबसे ज़्यादा (5 बार) विश्व चैंपियन रही ऑस्ट्रेलिया की कोशिश इस बार भी खिताब को अपने नाम करने की रहेगी। इस बार आरोन फिंच की अगुवाई वाली ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे अच्छी बात ये है कि टीम के दो बेहतरीन खिलाड़ी डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ इस बार साथ होंगे। आरोन फिंच ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 5 टेस्ट, 109 वन-डे और 52 टी-20 मैच खेले हैं, जिनमें उन्होंने वन-डे में 4052 रन बनाए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

4. फाफ डु प्लेसिस (दक्षिण अफ्रीका)

इस साल दक्षिण अफ्रीका भी पहली बार विश्व विजेता बनने की कोशिश से मैदान में उतरेगी। विश्व कप के 11 सीजनों में दक्षिण अफ्रीका एक बार भी रनरअप तक भी नहीं पहुंच पाई है। इस बार फाफ की कप्तानी में टीम को काफी उम्मीदें होंगी। फाफ ने अपनी टीम के लिए 58 टेस्ट, 134 वन-डे और 44 टी-20 मैच खेले है, जिनमें उन्होंने टेस्ट मैचों में 3608, जबकि में उन्होंने 5120 रन बनाए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

5. केन विलियमसन (न्यूजीलैंड)

न्यूज़ीलैंड के सलामी बल्लेबाज़ और कप्तान केन विलियमसन की कप्तानी में इस बार टीम खिताब जीतने की पूरी कोशिश करेगी। साल 2015 में न्यूज़ीलैंड को ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। विलियमसन ने न्यूजीलैंड के लिए 72 टेस्ट, 139 वन-डे और 57 टी-20 मैच खेले हैं। वन-डे में केन ने 5555, जबकि टेस्ट में उन्होंने 6139 रन बनाए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

6. सरफराज अहमद (पाकिस्तान)

कप्तान सरफराज अहमद की अगुआई वाली टीम इस समय लय में नजर आ रही है और खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही है. पाकिस्तान ने साल 1992 में इंग्लैण्ड को हराकर पहली बार विश्व कप अपने नाम किया था.

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

7. जेसन होल्डर (वेस्टइंडीज)

लगातार दो बार की विश्व विजेता वेस्टइंडीज की नजरें इस साल जेसन होल्डर की कप्तानी में तीसरी बार खिताब हासिल करने पर होगी। बता दें कि होल्डर को हाल ही में टीम की कमान सौंपी गई थी और वह पहली बार विश्व कप में कप्तानी करते नजर आएंगे। जेसन होल्डर ने विंडीज टीम के लिए 37 टेस्ट, 89 वन-डे और 11 टी-20 मैच खेले हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

8. दिमुथ करुणारत्ने (श्रीलंका)

महज़ 60 टेस्ट और 17 वन-डे खेलने वाले दिमुथ करुणारत्ने को इस बार विश्व कप में श्रीलंका टीम की कमान सौंपी गई है। इससे पहले साल1996 में श्रीलंका ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर पहली बार विश्व कप का खिताब जीता था। साल 2011 में फाइनल में पहुँचने के बाद श्रीलंका को भारतीय टीम के हाथों हार का सामना करना पड़ा था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

9. गुलबदीन नाइब (अफगानिस्तान)

विश्व कप में पहली बार हिस्सा ले रही अफगानिस्तान टीम की कमान गुलबदीन नाइब के हाथों में हैं। टीम में राशिद खान, मोहम्मद शहजाद जैसे खिलाड़ी दूसरे टीमों के चकमा दे सकते हैं। नाइब ने अपनी टीम के लिए 51 वन-डे और 38 टी-20 मैच खेले हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

10. मशरफे मोर्तजा (बांग्लादेश)

मशरफे मोर्तजा की कप्तानी वाली बंगलादेश की टीम वर्ल्ड कप के इतिहास में खुद भले ही सेमीफाइनल तक भी नहीं पहुंच पाई हो, लेकिन दूसरी टीमों को बाहर करने में यह खूब माहिर रही है। मोर्तजा ने बांग्लादेश के लिए 36 टेस्ट, 205 वन-डे और 54 टी-20 मैच खेले हैं।

लोकप्रिय