खेल की 5 बड़ी खबरें: मुंबई, बेंगलोर की निगाहें प्लेऑफ पर और ऑरेंज कैप राहुल के पास, रबादा के पास पर्पल कैप बरकरार

मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन के प्लेऑफ में क्वालीफाई करने से बस दो अंक दूर हैं। दोनों टीमें बुधवार को यहां शेख जाएद स्टेडियम में आमने-सामने होंगी

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

विनय कुमार

मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन के प्लेऑफ में क्वालीफाई करने से बस दो अंक दूर हैं। दोनों टीमें बुधवार को यहां शेख जाएद स्टेडियम में आमने-सामने होंगी और क्वालीफाई करने की हर संभव कोशिश करेंगी।

दोनों टीमों के 11-11 मैचों मे 14-14 अंक हैं। मुंबई बेहतर रन रेट के कारण पहले स्थान पर है तो वहीं बेंगलोर तीसरे स्थान पर है।

मुंबई के लिए कप्तान रोहित शर्मा का न होना एक परेशानी है। आस्ट्रेलिया दौरे के लिए सोमवार को की गई भारतीय टीमों के ऐलान में रोहित का नाम तीनों प्रारूप की टीमों से गायब है।

बीसीसीआई ने अपने बयान में कहा कि रोहित बोर्ड की मेडिकल टीम की निगरानी में हैं। ऐसे में लगता तो नहीं है कि रोहित आईपीएल में मुंबई के बाकी बचे मैचों में खेलेंगे।

रोहित मुंबई के पिछले दो मैचों में भी नहीं खेले हैं, और उनकी जगह कीरन पोलार्ड टीम की कप्तानी कर रहे हैं।

पिछले मैच में टीम को हार मिली थी। 195 रनों का विशाल स्कोर बनाने के बाद भी राजस्थान ने बेन स्टोक्स के बेहतरीन शतकीय पारी और संजू सैमसन की अर्धशतकीय पारी के दम पर मुंबई को हरा दिया था। बेंगलोर को भी चेन्नई सुपर किंग्स ने पिछले मैच में मात दी थी।

बेशक इन दोनों टीमों को पिछले मैचों में हार मिली हो, लेकिन मुंबई और बेंगलोर इस समय शानदार फॉर्म में हैं और इसी कारण इस मैच के रोमांचक होने की पूरी उम्मीद है।

रोहित के न होने से मुंबई की बल्लेबाजी पर असर पड़ता तो नहीं दिखा है। युवा ईशान किशन ने क्विटंन डी कॉक के साथ मिलकर टीम को अच्छी शुरूआत दी है, वहीं मध्य क्रम में सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पांड्या हैं।

रोहित के बाहर जाने के बाद सौरव तिवारी टीम में आए हैं। तिवारी में भी बड़े शॉट्स लगाने का दम है और फिर पोलार्ड का अनुभव और ताकत टीम को निचले क्रम में बेहद मजबूत बनाती है।

बेंगलोर की बल्लेबाजी भी मुंबई की तरह मजबूत है। युवा देवदत्त पडिकल और अनुभवी एरॉन फिंच की सलामी जोड़ी ने विराट कोहली और अब्राहम डिविलियर्स के कंधों पर से बोझ कम किया है। निचले क्रम में क्रिस मौरिस ने भी यह काम अच्छे से किया है।

मुंबई की टीम में रोहित जैसे बल्लेबाज का न होना उसके लिए एक कमजोरी हो सकती है क्योंकि बेंगलोर के पास दुनिया के दो सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज-कोहली और डिविलियर्स हैं।

दोनों टीमों की गेंदबाजी की तलुना की जाए तो यहां मुंबई थोड़ी मजबूत नजर आती है क्योंकि बेंगलोर की तुलना में उसके पास अनुभव भी है और विश्व स्तर के गेंदबाज हैं। ट्रेंट बोल्ट, जसप्रीत बुमराह और जेम्स पैटिनसन के नाम ही बताते हैं कि वह क्या कर सकते हैं।

राजस्थान के खिलाफ पिछले मैच में हालांकि यह सभी विफल रहे थे जो यह बताता है कि इन गेंदबाजों के खिलाफ तेजी से रन बनाए जा सकते हैं, लेकिन एक मैच के बूते इन्हें कमजोर समझना बहुत बड़ी गलती होगी।

वहीं बेंगलोर के पास युवा तेज गेंदबाजों का जोश है। नवदीप सैनी, मोहम्मद सिराज, इसुरु उदाना, शिवम दुबे हैं और यह सभी अच्छा कर रहे हैं। मौरिस के रूप में अनुभवी गेंदबाज भी उनके पास है।

ऑरेंज कैप राहुल के पास, रबादा के पास पर्पल कैप बरकरार

आईपीएल-13 में 46 मैचों की समाप्ति के बाद किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान लोकेश राहुल ने ऑरेंज कैप और दिल्ली कैपिटल्स के तेज गेंदबाज कगिसो रबादा ने पर्पल कैप अपने पास ही रखी है। राहुल के 12 मैचों में 595 रन हैं। दूसरे स्थान पर दिल्ली कैपिटल्स के शिखर धवन हैं, जिनके नाम 11 मैचों से 471 रन हैं। रॉयल चैर्लजर्स बेंगलोर के कप्तान विराट कोहली 11 मैचों से 415 रनों के साथ तीसरे नंबर पर है।

गेंदबाजों में रबादा सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ियों की सूची में पहले स्थान पर हैं। रबादा ने 11 मैचों में अब तक 23 विकेट लिए हैं।

किंग्स इलेवन पंजाब के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी 12 मैचों में 20 विकेट से दूसरे नंबर पर हैं। राजस्थान रॉयल्स के जोफरा आर्चर 12 मैचों में 17 विकेट के साथ तीसरे नंबर पर हैं।

इस बीच, पंजाब 12 मैचों से 12 अंक लेकर अंकतालिका में चौथे नंबर पर पहुंच गई हैं। मुंबई इंडियंस 11 मैचों में 14 अंकों के साथ टॉप पर कायम है। उसके बाद दिल्ली और फिर बेंगलोर है।

बिस्ला, रसेल समेत 5 विदेशी खिलाड़ी लंका प्रीमियर लीग से बाहर हुए

भारत के मनविंदर बिस्ला, वेस्टइंडीज के आलराउंडर आंद्रे रसेल और दक्षिण अफ्रीका के फाफ डु प्लेसिस सहित पांच विदेशी खिलाड़ियों ने लंका प्रीमियर लीग (एलपीएल) से अपना नाम वापस ले लिया गया है। उनके अलावा डेविड मिलर और डेविड मलान ने भी अगले महीने से शुरू होने वाले टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले लिया है।

मिलर, डु प्लेसिस और मलान 27 नवंबर से दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के बीच शुरू होने वाले सीमित ओवरों की सीरीज के कारण लंका प्रीमियर लीग से अनुपलब्ध हो गए हैं। वहीं, रसेल चोट के कारण बाहर हो गए हैं।

बिस्ला को लेकर ऐसा माना जा रहा है कि उन्होंने कोई कारण नहीं बताया गया है।

एलपीएल के निदेशक रविन विक्रमरत्ने ने क्रिकइन्फो से कहा, " जिन फ्रेंचाइजियों के पास ये खिलाड़ी थे, उनकी जगह लेने के लिए अन्य खिलाड़ियों से बातचीत करनी होगी।"

मनप्रीत गोनी और मनविंदर बिस्ला को लीग की फ्रेंचाइजी कोलंबो किंग्स ने अपने साथ जोड़ा था। लीग में पांच टीमें भाग ले रही हैं।

दाएं हाथ के तेज गेंदबाज गोनी ने भारत के लिए अब तक दो वनडे मैच खेले हैं। इसमें एक उन्होंने हांगकांग के खिलाफ और दूसरा बांग्लादेश के खिलाफ खेला है।

44 साल के गोनी ने इंडियन प्रीमियर लीग में अब तक 44 मैच खेले हैं। उनके अलावा विकेटकीपर बल्लेबाज बिस्ला ने अब तक 35 आईपीएल मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 798 रन बनाए हैं।

लंका प्रीमियर लीग 21 नवंबर से शुरू होगी और यह 13 दिसंबर तक चलेगी।

23 मैचों की एलपीएल लीग रांगिरी डांबुला अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, पाल्लेकल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और सुरीयावेवा महिंदा राजपक्षे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेली जाएगी।

भारतीय टेस्ट टीम में चुना जाना राहुल की किस्मत : मांजरेकर

क्रिकेटर से कमेंटेटर बने पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर का मानना है कि लोकेश राहुल बेहद भाग्यशाली हैं कि वह आईपीएल और सीमित ओवरों के प्रदर्शन के आधार पर भारतीय टेस्ट टीम में चुने गए हैं। राहुल को दिसंबर-जनवरी में आस्ट्रेलिया दौरे पर होने वाली चार मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है।

आईपीएल-13 में किंग्स इलेवन पंजाब की कप्तानी कर रहे राहुल ने लीग के मौजूदा सीजन में 12 मैचों में अब तक 595 रन बनाए हैं और ऑरेंज कैप अब तक उनके ही पास हैं।

मांजरेकर ने ट्विटर पर कहा, "यह एक खराब उदाहरण बनाया जा रहा है, टेस्ट टीम के लिए खिलाड़ी का चयन आईपीएल के प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है। आप एक खराब उदाहरण सेट करते हैं, जब आईपीएल के प्रदर्शन के आधार पर टेस्ट टीम में चयन करते हैं। खासकर तब, जबकि खिलाड़ी का पिछला कुछ टेस्ट मैच अच्छा नहीं रहा है। वो खिलाड़ी सफल होता है या असफल यह बाते मायने नहीं रखती है। इस तरह के चयन से रणजी में खेलने वाले खिलाड़ियों का मनोबल टूटता है।"

वेस्टइंडीज सीरीज में खराब प्रदर्शन के बाद ्नराहुल को टेस्ट टीम से बाहर किया गया था। उन्होंने चार पारियों में कुल मिलाकर 101 रन ही बनाए थे। न्यूजीलैंड के दौरे पर गई इंडिया-ए टीम में भी उनका चयन नहीं किया गया था।

मांजरेकर ने राहुल के पिछले पांच मैचों के टेस्ट प्रदर्शन को सामने रखते हुए कहा, "राहुल ने पिछली पांच टेस्ट सीरीज -दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड घर पर वेस्टइंडीज के खिलाफ औसत प्रदर्शन किया। मैं कहना चाहूंगा वो बेहद भाग्यशाली हैं कि आइपीएल में किए प्रदर्शन के आधार पर उनको टेस्ट टीम में वापस बुलाया गया। अब उसकी उम्मीद करनी चाहिए कि वह इस मौके को ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाएंगे। उनको मेरी तरफ से शुभकामनाएं।"

राहुल ने भारत के लिए अब तक 36 टेस्ट मैचों में 2006 रन बनाए हैं। इसमें पांच शतक और 11 अर्धशतक शामिल हैं।

उन्होंने साथ ही 32 वनडे और 41 टी20 मैच भी खेले हैं, जिसमें उनके बल्ले से क्रमश: 1239 और 1461 रन बनाए हैं।
भारत-आस्ट्रेलिया बॉक्सिंग डे टेस्ट में दर्शकों के आने की उम्मीद

भारत-आस्ट्रेलिया बॉक्सिंग डे टेस्ट में दर्शकों के आने की उम्मीद

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) में होने वाले आगामी बॉक्सिंग डे टेस्ट में दर्शकों को स्टेडियम में प्रवेश करने की अनुमति मिलने की उम्मीद है। ऐसा इसलिए संभव हो पाया है क्योंकि विक्टोरिया स्टेट के प्रमुख डैनियल एंड्रयूज ने कोरोना के मामलों में कमी आने के बाद लॉकडाउन में ढील देने का फैसला किया है।

क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू की रिपोर्ट के अनुसार, विक्टोरिया स्टेट के प्रमुख डैनियल एंड्रयूज ने कहा, "बॉक्सिंग डे टेस्ट का अलग महत्व है। मुझे पूरा विश्वास है कि बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच में एमसीजी मैदान पर दर्शकों को प्रवेश मिलेगी। मुझे नहीं पता कि कितने दर्शकों को प्रवेश मिल सकता है, लेकिन वहां पर दर्शक होंगे और इस दिशा में काम किया जा रहा है।"

2018-19 में भारत ने जब पिछली बार आस्ट्रेलिया का दौरा किया था तो उसने विराट कोहली की कप्तानी में एमसीजी में तीसरा टेस्ट जीतकर बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी अपने पास बरकरार रखी थी।

आस्ट्रेलिया दौरे पर भारत को 27 नवंबर 2020 से 19 जनवरी 2021 तक तीन टी20, तीन वनडे और चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। हालांकि अभी तक आधिकारिक कार्यक्रम की घोषणा नहीं हुई है।

ऐसा माना जा रहा है कि सीमित ओवरों के मैच सिडनी और कैनबरा में खेले जाएंगे।

भारत का आस्ट्रेलिया दौरे पर होने वाले मैचों के अस्थाई कार्यक्रम के अनुसार, पहले दो वनडे 27 और 29 नवंबर को होगा जबकि तीसरा वनडे एक दिसंबर को सिडनी में खेला जाएगा। वहीं, पहला टी20 कैनबरा में चार दिसंबर को खेला जाएगा।

इसके बाद दोनों टीमें छह और आठ दिसंबर को होने वाले अंतिम दो टी20 मैचों के लिए सिडनी लौट आएगी।

सीमित ओवरों की सीरीज के बाद दोनों टीमें 17 से 21 दिसंबर तक एडिलेड में पहला टेस्ट मैच खेलेगी। दूसरा टेस्ट मैच इसके बाद खेला जाएगा।

लोकप्रिय
next