खेल की 5 खबरें: वार्नर का टी-20 से संन्यास लेने का विचार और इन खिलाड़ियों पर लगे डिमेरिट अंक

ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर आगामी लगातार दो विश्व कप के बाद क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप टी-20 से संन्यास लेने के बारे में सोच रहे हैं। भारत और बांग्लादेश के खिलाड़ियों के बीच हुई अप्रिय घटनाओं के लिए दोनों टीमों के खिलाड़ियों पर जुर्माने के रूप में डिमेरिट अंक लगाया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने अंडर-19 विश्व कप फाइनल के बाद भारत और बांग्लादेश के खिलाड़ियों के बीच हुई अप्रिय घटनाओं के लिए दोनों टीमों के खिलाड़ियों पर जुर्माने के रूप में डिमेरिट अंक लगाया है। बांग्लादेश ने रविवार को आईसीसी अंडर-19 विश्व कप के फाइनल में मौजूदा चैंपियन भारत को डकवर्थ लुइस नियम के तहत तीन विकेट से हराकर पहली बार चैम्पियन बनने का गौरव हासिल किया।

इस जीत के बाद बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने भारतीय खिलाड़ियों के साथ अनुचित व्यवहार किया था और भारतीय खिलाड़ियों पर अनुचित टिप्पणी भी की थी। आईसीसी ने इस घटना के बाद बांग्लादेश के तीन और भारत के दो खिलाड़ियों पर जुर्माना लगाया है। क्रिकेट की शीर्ष संस्था ने इन खिलाड़ियों के खाते में डीमेरिट अंक जोड़ दिए हैं।

आईसीसी ने भारत के आकाश सिंह और बांग्लादेश के तौहीद हृदोय, शमीमी हुसैन और राकिबुल हसन को आईसीसी की आचार संहिता का उल्लंघन करने का दोषी पाया है। बांग्लादेश के तीनों खिलाड़ियों पर छह-छह डिमेरिट अंक जबकि भारत के दो खिलाड़ियों पर पांच-पांच डीमेरिट अंक लगाए गए हैं। टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बिश्नोई पर अगल से भी दो डीमेरिट अंक लगाए हैं। मैच के बाद बांग्लादेश टीम के कप्तान अकबर अली ने कहा था कि वह अपनी टीम के व्यवहार लिए माफी मांगना चाहते हैं। उन्होंने कहा था, "जो हुआ, वह नहीं होना चाहिए था।"

अकबर ने कहा, "मुझे पूरी तरह से नहीं पता कि क्या हुआ और न ही मैं पूछ रहा था कि क्या चल रहा है। लेकिन आप जानते हैं फाइनल में भावनाएं बाहर आ ही जाते हैं। कई बार खिलाड़ी अपनी भावनाओं को नहीं रोक पाते। एक युवा होने के नाते, ऐसा नहीं होना चाहिए था। किसी भी स्थिति में, हमें विरोधियों के प्रति सम्मान दिखाना चाहिए। हमें खेल के प्रति सम्मान रखना चाहिए।"

उन्होंने साथ ही कहा, "क्रिकेट को जैंटलमैन गेम के नाम से जाना जाता है और इसलिए मैं आखिर में कहना चाहता हूं कि मैं अपनी टीम की तरफ से माफी मांगता हूं।

वार्नर का टी-20 से संन्यास लेने का विचार

आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर आगामी लगातार दो विश्व कप के बाद क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप टी-20 से संन्यास लेने के बारे में सोच रहे हैं। टी-20 विश्व कप इस साल आस्ट्रेलिया में और अगले साल भारत में होना है। क्रिकइंफो ने वार्नर के हवाले से कहा, "अगर आप टी-20 अंतर्राष्ट्रीय की बात करें तो हमें लगातार दो विश्व कप खेलने हैं। यह एक ऐसा प्रारूप है, जिसे मैं आने वाले कुछ वर्षो में छोड़ सकता हूं।"

उन्होंने कहा, "मुझे शेड्यूल पर ध्यान देना होगा। मेरे लिए तीनों प्रारूपों में खेल पाना मुश्किल होगा और उन सभी लोगों को शुभकामनाएं जो तीनों प्रारूपों में खेलना जारी रखते हैं। आप डिविलियर्स और वीरेंद्र सहवाग जैसे खिलाड़ियों से बात करिए, जो ऐसा काफी लंबे समय तक कर चुके हैं। यह काफी मुश्किल हो जाता है।"

वार्नर ने कहा, "मेरे तीन बच्चे हैं और पत्नी है और ऐसे में लगातार दौरा करना मुश्किल हो जाता है। अगर मुझे एक प्रारूप छोड़ने का फैसला लेना पड़ता है तो मैं शायद अंतर्राष्ट्रीय टी-20 क्रिकेट छोडूंगा।" वार्नर ने आस्ट्रेलिया के लिए अब तक 76 टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 2079 रन बनाए हैं। इसमें एक शतक और 15 अर्धशतक शामिल हैं। वार्नर ने बताया कि क्यों उन्होंने बिग बैश लीग (बीबीएल) से ब्रेक लिया। उन्होंने कहा, "मेरे पास कोई बीबीएल टीम नहीं है, मैंने इस दौरान ब्रेक लिया और यह मेरे शरीर और दिमाग के लिए था। मैं अगली सीरीज के लिए तैयार हो रहा हूं।"

बेटे ने कहा, अवसाद से पीड़ित हैं पेले

दुनिया के महानतम फुटबाल खिलाड़ी माने जाने वाले पेले के बेटे ने कहा है कि ब्राजील के लिए तीन बार विश्व कप खिताब जीतने वाले महान खिलाड़ी और उनके पिता एक तरह के अवसाद से पीड़ित हैं। इस अवसाद का कारण यह है कि खराब स्वास्थ्य के कारण 79 साल के पेले का कहीं आना-जाना नहीं हो पा रहा है। हाल के दिनों में पेले कई तरह की स्वास्थ्य सम्बंधी समस्याओं से पीड़ित रहे हैं। बीते साल अप्रैल में मूत्राशय में संक्रमण के कारण उन्हें 13 दिनों तक अस्पताल में बिताने पड़े थे।

हाल ही में पेले की हिप रिप्लेसमेंट सर्जरी हुई है और इस कारण उन्हें चलने-फिरने के लिए फ्रेम का सहारा लेना पड़ रहा है। पेले के बेटे इडिन्हो ने टीवी ग्लोबो से कहा कि उनके पिता इन दिनों हमेशा ऊंघते हुए दिखते हैं और उनके चेहरे पर निराशा का भाव रहता है।

इडिन्हो के मुताबिक, एक राजा की तरह जीवन जीने वाले उनके पिता अब असहाय महसूस कर रहे हैं। वह एक तरह से अपने ऊपर शर्मिदा हैं। वह बाहर जाना चाहते हैं, लोगों से मिलना चाहते हैं क्योंकि उन्होंने अपने पूरे जीवन में यही किया है पर अब सबकुछ बदल गया है। वह अपने घर से दूर कहीं नहीं जा सकते और इसी कारण वह अवसाद की चपेट में हैं।

पेले को फुटबाल इतिहास का सर्वकालिक महान खिलाड़ी माना जाता है। पेले ने 21 साल के अपने पेशेवर करियर में 1363 मैचों में कुल 1281 गोल किए। ब्राजील के लिए पेले ने कुल 91 मैच खेले और 77 गोल किए।

महिला टी-20 विश्व कप में फ्रंट-फुट नो बाल की निगरानी करेगा तीसरा अम्पायर

ऑस्ट्रेलिया में इस महीने शुरू हो रहे आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप के दौरान फ्रंट-फुट नो बाल तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। आईसीसी ने एक बयान में कहा है कि भारत तथा वेस्टइंडीज में सफल परीक्षण के बाद इस सिस्टम को इंटरनेशनल क्रिकेट में लागू करने का फैसला किया गया है, जिसके तहत तीसरा अम्पायर फ्रंट-फुट नो बाल की निगरानी करेगा। तीसरे अम्पायर को प्रत्येक बाल के बाद यह देखना होगा कि गेंदबाज का अगला पैर सही पड़ा था या नहीं। वह हर गेंद के बाद मैदानी अम्पायर को सही और गलत की जानकारी देगा।

मैदानी अम्पायरों से कहा गया है कि जब तक तीसरा अम्पायर न कहे, वे फ्रंट-फुट नो बाल को लेकर किसी भी प्रकार का निर्णय न दें। मैदानी अम्पायरों के पास हालांकि खेल के दौरान अन्य प्रकार के नो बाल का फैसला लेने का अधिकार रहेगा। इस तकनीक का इस्तेमाल हाल ही में 12 मैचों के दौरान किया गया। इस दौरान 4717 गेंदें फेंकी गईं और 13 नो बाल नोटिस किए गए। सभी नो बाल को लेकर बिल्कुल सटीक फैसला किया गया।

आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप का आयोजन 21 फरवरी से होगा और उद्घाटन मुकाबले में मौजूदा चैम्पियन तथा मेजबान आस्ट्रेलिया का सामना भारत से होगा।

लोकप्रिय