दो रेप मामले में गुरमीत राम रहीम को दस-दस साल की सजा, जेल में गुजारने होंगे 20 साल

साध्वी यौन शोषण मामले में बाबा राम रहीम को सीबीआई की विशेष कोर्ट ने बलात्कार के दो मामले में दस-दस साल की सजा सुनाई है। रोहतक की सुनारिया जेल में बने कोर्ट में जज जगदीप सिंह ने सजा का ऐलान किया।



गुरमीत राम रहीम सिंह/ फोटो: Getty Images
गुरमीत राम रहीम सिंह/ फोटो: Getty Images

नवजीवन डेस्क

साध्वी यौन शोषण मामले में बाबा राम रहीम को सीबीआई की विशेष कोर्ट ने दस-दस साल की सजा सुनाई है। रोहतक की सुनारिया जेल में बने कोर्ट में जज जगदीप सिंह ने सजा का ऐलान किया। जगदीप सिंह ने सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों को दलीलें पेश करने के लिए 10-10 मिनट का समय दिया। राम रहीम के वकील ने अपनी दलील में गुरमीत राम रहीम को समाजसेवी बताया और सजा में नरमी की मांग की।

सीबीआई पक्ष के वकील ने कहा कि राम रहीम ने जघन्य काम किया है और इसलिए वे अधिकतम सजा या आजीवन करावास के हकदार है। सीबीआई कोर्ट के वकील ने कहा कि यह सिर्फ रेप केस नहीं है, बल्कि भरोसे को तोड़ते हुए लगातार यौन शोषण करने का मामला है।

हिंसा की संभावना को देखते हुए डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाने के लिए रोहतक जेल में ही कोर्ट रूम बनाया गया था। चॉपर से जज सजा का ऐलान करने के लिए पहुंचे थे। सुनवाई के दौरान जेल के आस-पास किसी भी संदिग्ध को देखते ही गोली मारने का आदेश दिया गया था।

इस बीच सैकड़ों डेरा समर्थकों को पहले ही हिरासत में ले लिया गया है। रोहतक, सिरसा सहित कई जिलों में स्कूल-कॉलेज बंद हैं। मोबाइल-इंटरनेट सेवाएं भी ठप्प हैं।

सिरसा में सजा के ऐलान से पहले डेरा समर्थक हिंसक हो गए। डेरा समर्थकों ने दो गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। सुरक्षा के मद्देनजर हरियाणा के इस बीच मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के निवास और हरियाणा सचिवालय की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दोनों जगहों को अर्धसैनिक बलों के हवाले कर दिया गया है। दिल्ली, हरियाणा समेत कई राज्य अलर्ट पर हैं। पंजाब में भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

Published: 28 Aug 2017, 4:19 PM
लोकप्रिय