अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: प्रमुख आर्थिक आंकड़ों का रहेगा इंतजार, विदेशी संकेतों से चाल पकड़ेगा बाजार?

भारतीय शेयर बाजार बीते दो सप्ताह घरेलू और विदेशी कारकों से गुलजार रहा, लेकिन इस सप्ताह बाजार पर देश में कोराना के गहराते संकट के बीच निवेशकों को प्रमुख आर्थिक आंकड़ों का इंतजार बना रहेगा और बाजार की चाल तय करने में विदेशी संकेतों की अहम भूमिका रहेगी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

प्रमुख आर्थिक आंकड़ों का रहेगा इंतजार, विदेशी संकेतों से चाल पकड़ेगा बाजार

भारतीय शेयर बाजार बीते दो सप्ताह घरेलू और विदेशी कारकों से गुलजार रहा, लेकिन इस सप्ताह बाजार पर देश में कोराना के गहराते संकट के बीच निवेशकों को प्रमुख आर्थिक आंकड़ों का इंतजार बना रहेगा और बाजार की चाल तय करने में विदेशी संकेतों की अहम भूमिका रहेगी। कोराना महामारी के गहराते संकट के बीच देश अनलॉक के दूसरे चरण में प्रवेश कर रहा है। कोरोना संक्रमण के आंकड़ों की बात करें तो भारत स्पेन को पीछे छोड़ दुनिया में पांचवां सबसे अधिक प्रभावित देश बन गया है। ऐसे में विदेशी बाजारों से मिलने वाले संकेतों के साथ-साथ घरेलू कारकों से भी बाजार की चाल प्रभावित रहेगी।

डॉलर के मुकाबले देसी करेंसी रुपये की चाल और अंतर्राष्ट्ररीय बाजार में कच्चे तेल के भाव पर भी बाजार की नजर होगी।

विश्व आर्थिक मंच के 2021 वार्षिक सम्मेलन का प्रमुख मुद्दा है 'विश्व का पुनर्जागरण'

चीन विश्व आर्थिक मंच समेत विभिन्न पक्षों के साथ विश्व अर्थव्यवस्था का एक मजबूत, स्थायी, संतुलित और समावेशी विकास को बढ़ावा देने के लिए सहयोग मजबूत करना चाहता है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता केंग श्वांग ने यह बात कही। विश्व आर्थिक मंच के अध्यक्ष क्लाउस श्वाब ने 3 तारीख को यह घोषणा की कि विश्व आर्थिक मंच का 2021 वार्षिक सम्मेलन अगले वर्ष की जनवरी में आयोजित होगा।

संबंधित सवालों का जवाब देते हुए केंग श्वांग ने उक्त बात कही। उनका विचार है कि विश्व आर्थिक मंच के 2021 वार्षिक सम्मेलन का प्रमुख मुद्दा है 'विश्व का पुनर्जागरण', जिससे अंतर्राष्ट्रीय समुदाय एक साथ मिलकर कोविड-19 महामारी की चुनौतियों का मुकाबला करने और विश्व आर्थिक विकास की बहाली और सतत विकास को आगे बढ़ाने की तत्काल इच्छा दिखाई गई। यह सकारात्मक है।


दिल्ली सरकार को 30 मई तक शराब बिक्री से 235 करोड़ रुपये मिले

दिल्ली सरकार को उम्मीद थी कि शराब बिक्री से उसे अधिक राजस्व प्राप्त होगा, लेकिन चार मई से 30 मई तक वह नए कारोना शुल्क को छोड़कर मात्र लगभग 235 करोड़ रुपये ही संग्रह कर पाई है। लॉकडाउन का तीसरा चरण शुरू होने के साथ ही शहर में चार मई से शराब बिक्री की अनुमति दी गई थी। इसके पहले लॉकडाउन शुरू होने के साथ ही 25 मार्च से शराब बिक्री बंद थी।

आबकारी विभाग के आंकड़े के अनुसार, पहले दिन पांच करोड़ रुपये की शराब बिकी थी, जब विशेष सेस लागू नहीं था। लेकिन शराब बिक्री की अनुमति देने के एक दिन बाद यानी पांच मई से दिल्ली सरकार ने शराब बिक्री पर विशेष कोरोना शुल्क लगा दिया, जो एमआरपी का 70 प्रतिशत था।

दूसरे दिन सेस को छोड़कर लगभग 4.4 करोड़ रुपये की बिक्री हुई, जबकि छह मई को 4.9 करोड़ रुपये की बिक्री हुई।

ओप्पो जल्द लॉन्च करेगी पहला स्मार्ट टीवी

ओप्पो ने चीन में अपने वाणिज्यिक 5जी प्रयासों के एक साल का जश्न मनाने के लिए अपने आधिकारिक वीबो पेज पर कुछ इन्फोग्राफिक्स पोस्ट किए हैं। इस लंबी सी तस्वीर के निचले हिस्से में कई और उत्पादों के साथ एक टीवी भी मौजूद है, जिसका मतलब यह हो सकता है कि कंपनी शायद जल्द ही टीवी लॉन्च कर सकती है। इससे पहले ओप्पो के उपाध्यक्ष लिउ बो ने भी मीडिया को बताया था कि चीनी स्मार्टफोन निर्माण कंपनी स्मार्ट टीवी की दुनिया में प्रवेश करने का सोच रही है और इस साल के बीच तक अपना पहला स्मार्ट टीवी लॉन्च करेगी।

ओप्पो स्मार्ट टीवी एंड्रॉयड द्वारा संचालित होगा और इसमें वन प्लस व सैमसंग टीवी के भी फीचर्स के मिलने की उम्मीद लगाई जा रही है। स्मार्ट टीवी की मांग बढ़ती रही है और कई ब्रांड इस क्षेत्र में हाथ आजमाने की तैयारी में जुटे हुए हैं।


एसटीपीआई पंजीकृत आईटी कंपनियों ने वित्त वर्ष 2020 में 4.21 लाख करोड़ रुपये का निर्यात किया

सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्‍स ऑफ इंडिया (एसटीपीआई) के साथ पंजीकृत आईटी कंपनियों ने वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान 4.21 लाख करोड़ रुपये का निर्यात किया है। एसटीपीआई के महानिदेशक ओंकार राय के अनुसार, निर्यात 1992-93 में 52 करोड़ रुपये से बढ़कर 2019-20 में 4,21,103 करोड़ रुपये हो गया है।

राय ने कहा, पिछले तीन दशकों में आईटी उद्योग को बढ़ावा देने और सॉफ्टवेयर निर्यात को बढ़ावा देने में एसटीपीआई के निर्धारित प्रयास अनिवार्य रूप से देश की आर्थिक प्रगति के लिए एसटीपीआई की प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं। एसटीपीआई टीम आने वाले दिनों में भी 'न्यू इंडिया' की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए लगी रहेगी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia