इस बार किसे करोड़पति बनाएंगे अमिताभ बच्चन?

इसमें कोई शक नहीं कि कौन बनेगा करोड़पति की लोकप्रियता में अमिताभ बच्चन का बहुत बड़ा हाथ है। न सिर्फ उनकी भाषा अच्छी है, बल्कि वे जिस तहजीब से पेश आते हैं वह टीवी पर बहुत ही कम दिखाई देती है।

कौन बनेगा करोड़पति पेश करते हुए अमिताभ बच्चन/ फोटो: पीटीआई
कौन बनेगा करोड़पति पेश करते हुए अमिताभ बच्चन/ फोटो: पीटीआई
user

प्रगति सक्सेना

मशहूर अभिनेता अमिताभ बच्चन एक बार फिर टीवी पर कौन बनेगा करोड़पति लेकर आ गए हैं। अमिताभ बच्चन हर जगह दिखते हैं। फिल्मों में, राज्यों के ब्रांड एम्बेसडर के तौर पर, टीकाकरण के इश्तेहार में, तेल-पाउडर-साबुन-कलम-जूते से लेकर न जाने और कितनी चीजों का प्रचार करते हुए। इसमें कोई शक नहीं कि कौन बनेगा करोड़पति की लोकप्रियता में अमिताभ बच्चन का बहुत बड़ा हाथ है। न सिर्फ उनकी भाषा अच्छी है, चाहे हिंदी हो या अंग्रेजी, बल्कि वे जिस तहजीब से पेश आते हैं वह टीवी पर बहुत ही कम दिखाई देती है।

यह कार्यक्रम अपने हर एपिसोड में कोई न कोई सामाजिक संदेश देन की कोशिश करता है। इसका इश्तेहार हमें बताता है कि यह टीवी शो 17 सालों तक लोगों का पसंदीदा इसलिए रहा कि इसकी नींव में ज्ञान है और इसमें सिर्फ पैसे ही नहीं, दिल भी जीते जाते हैं। हालांकि कई बार इस खेल को लेकर यह विवाद हुआ कि इसमें सबकुछ पहले से तय होता है, यह भी कि खेल के दौरान फोन किसे लगाना है।

बहरहाल, यह हम पर निर्भर करता है कि इस खेल और अमिताभ बच्चन पर हम कितना भरोसा करना चाहते हैं। ऐसा मैं इसलिए कह रही हूं क्योंकि मेरे पिता इस शो को इसलिए देखते रहे हैं कि उन्हें खेल पर भरोसा है और मां इसलिए कि उन्हें अमिताभ पसंद है।

कौन बनेगा करोड़पति की इस नौवीं श्रृंखला में कुछ नयापन है। इस बार फोन अ फ्रेंड के साथ वीडियो अ फ्रेंड और जोड़ीदार भी शामिल होंगे। अब भागीदार अपने दोस्त को वीडियो कॉल करके भी सही जवाब पाने में मदद ले सकते हैं और अपने साथ एक जानने वाले को हॉट सीट पर लाकर भी।

इसके अलावा जैक पॉट सवाल को भी शामिल किया गया है, जिसका जवाब देकर आप एक ही बार में 7 करोड़ रुपये जीत सकते हैं। लेकिन इस सवाल के लिए आपको किसी भी तरह की मदद नहीं दी जाएगी। या तो आप जवाब दीजिए या फिर खेल से बाहर हो जाइए।

ऐसा लग रहा है कि एक मनोरंजक कार्यक्रम के तौर पर शुरू हुआ कौन बनेगा करोड़पति बाकायदा लॉटरी का रूप ले रहा है। शुरुआत में कौन बनेगा करोड़पति लोग इसे ध्यान से इसलिए देखते थे क्योंकि इसके जरिए वे अपनी जानकारी भी जांच रहे होते थे। लेकिन अब दांव पर बहुत कुछ लगा होता है क्योंकि जीत की रकम बहुत बड़ी है।

मजेदार बात ये है कि सरकार की कैशलेस पॉलिसी को बढ़ावा देने के लिए इस बार खेल में जीती गयी रकम का चेक नहीं मिलेगा, बल्कि ये रकम खाते में डिजिटली ट्रांसफर की जाएगी।

यहां यह बताना भी जरूरी है कि पांचवी कड़ी को छोड़ दें तो इस टीवी शो की टीआरपी लगातार गिरती रही है। इस बार तो आलम यह है कि कई लोगों को यह मालूम भी नहीं चला कि यह शो शुरू होने वाला है।

फिर भी यह देखना दिलचस्प होगा कि अमिताभ बच्चन और कौन बनेगा करोड़पति का संगम इस बार दर्शकों का कितना मनोरंजन कर पाता है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */