बिहार के सृजन घोटाले की जांच की कमान सीबीआई के हाथ में

सीबीआई ने बिहार के सृजन घोटाले की जांच को अपने हाथ में ले लिया है। इस मामले में सृजन महिला विकास समिति और भ्रष्ट लेन-देन में शामिल बैकों के निदेशक के खिलाफ सीबीआई ने 10 एफआईआर दर्ज की है।

बिहार विधान सभा/ फोटो: Getty Images 
बिहार विधान सभा/ फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

केन्द्रीय एजेंसी सीबीआई ने बिहार के सृजन घोटाले की जांच को अपने हाथ में ले लिया है। इस मामले में सृजन महिला विकास समिति और भ्रष्ट लेन-देन में शामिल बैकों के निदेशक के खिलाफ सीबीआई ने 10 एफआईआर दर्ज की है। सृजन संस्थान की संस्थापक मनोरमा देवी के बेटे अमित कुमार और बहु प्रिया कुमार के अलावा भागलपुर स्थित बैंक के पूर्व डायरेक्टर, सहरसा के जमीन अधिग्रहण कार्यालय के पूर्व कैशियर और हेड असिस्टेंट के नाम एफआईआर में शामिल हैं।

बिहार का सृजन घोटाला मध्य प्रदेश के व्यापम घोटाले की तरह ही आगे बढ़ रहा है। 1000 करोड़ के सृजन घोटाले में हर रोज नए मोड़ आ रहे हैं। इस घोटाले के चर्चा में आने के बाद से दो लोगों की मौत हो चुकी है।

इस मामले में अमित कुमार और प्रिया कुमार की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हो पाई है। इनके खिलाफ बिहार पुलिस ने लुकआउट नोटिस जारी कर रखा है।

ऐसा बताया जा रहा है कि जांच के घेरे में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी आ सकते हैं, क्योंकि जब इस घोटाले की शुरुआत हुई थी वे उस वक्त बिहार के वित्त मंत्री थे।

इस घोटाले में कथित तौर पर बिहार के सरकारी खजाने से लगभग 1000 करोड़ रुपए का गैर-कानूनी ढंग से हेर-फेर हुआ था। जब से यह मामला सामने आया है, बिहार की विपक्षी पार्टियां सरकार के प्रति हमलावर हो गईं हैं। आरजेडी ने इस मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के इस्तीफे की मांग भी की है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;