सिनेजीवन: अमिताभ बच्चन के पैतृक गांव को है उनका इंतजार और विजय वर्मा ने बॉलीवुड में अपने शुरुआती संघर्ष को डिकोड किया

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन का जन्म उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के 'बाबू पट्टी' में हुआ था। उनके गांव के लोग महानायक का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। अभिनेता विजय वर्मा ने बॉलीवुड में सफलता पाने में उन्हें इतना समय लगने को लेकर खुलासा किया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

कृति खरबंदा को है महिला-केंद्रित एक्शन फिल्म में काम करने की चाह

सिनेजीवन: अमिताभ बच्चन के पैतृक गांव को है उनका इंतजार और विजय वर्मा ने बॉलीवुड में अपने शुरुआती संघर्ष को डिकोड किया


अभिनेत्री कृति खरबंदा को स्क्रीन पर एक्शन सीन्स को देखने में मजा आता है और उनका कहना है कि वह आने वाले समय में किसी महिला-केंद्रित एक्शन फिल्म में काम करना पसंद करेंगी। कृति ने आईएएनएस को बताया, "मैं एक फीमेल एक्शन फिल्म करना पसंद करूंगी। मैं न केवल एक्शन सीक्वेंस देखना पसंद करती हूं, बल्कि मुझे इनमें हिस्सा लेना भी पसंद है। जहां तक मुझे याद है मैं हमेशा से एक आउटडोर पर्सन रही हूं। मैं कई तरह के स्पोर्ट्स में भी शामिल रही हूं। मैं टेनिस, बास्केटबॉल खेलती हूं। स्कूल में मैंने खो-खो भी खेला है।"

बहरहाल, कृति को अपनी आगामी फिल्म 'तैश' में अपनी इस ख्वाहिश को पूरा करने का मौका मिला है। यह एक रिवेंज ड्रामा है। फिल्म में पुलकित सम्राट, जिम सभ्र, हषवर्धन राणे और संजीदा शेख जैसे कलाकार भी हैं।

अमिताभ बच्चन के पैतृक गांव को है उनका इंतजार


बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन का जन्म उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के 'बाबू पट्टी' में हुआ था। उनके गांव के लोग महानायक का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। गांव वाले अपने घरों की पुताई के साथ-साथ रोड पर इकट्ठे कूड़े-कचरे को साफ कर रहे हैं। अमिताभ बच्चन ने अपने शो 'कौन बनेगा करोड़पति' के दौरान कहा था कि वह अपने परिवार के साथ पैतृक गांव में जाने के बारे में सोच रहे हैं।

20 अक्टूबर से प्रसारित 'कौन बनेगा करोड़पति' के एपिसोड में भिलाई छत्तीसगढ़ की प्रतियोगी अंकिता सिंह हॉट सीट पर बैठीं। एक सवाल के जवाब में अंकिता ने 'वीडियो-कॉल-ए-फ्रेंड' लाइफलाईन का इस्तेमाल किया, जिसमें उन्होंने उत्तर प्रदेश में अपने चाचा को फोन लगाया।

'लूडो' में सभी मेरी पहली पसंद थी : अनुराग बासु


फिल्मकार अनुराग बासु का कहना है कि उनकी आने वाली फिल्म 'लूडो' में सभी कलाकार उनकी पहली पसंद रहे हैं और उन्हें इस बात की खुशी है कि उन्हें किसी भी प्रकार का कोई समझौता नहीं करना पड़ा। बासु की फिल्म 'लूडो' कहानियों का एक संकलन है। यह एक डार्क कॉमेडी है। फिल्म में अभिषेक बच्चन, आदित्य रॉय कपूर, राजकुमार राव, सान्या मल्होत्रा, फातिमा सना शेख, रोहित सर्राफ, पर्ल माने, पंकज त्रिपाठी, आशा नेगी, शालिनी वत्स और इनायत वर्मा जैसे कलाकार हैं।

अनुराग बासु कहते हैं, "फिल्म में कास्ट से लेकर क्रू तक सभी मेरी पहली पसंद रहे हैं। मैंने इनमें से हर एक कलाकार के साथ संपर्क किया और सभी ने हांमी भरी। मैं खुद को खुशकिस्मत समझता हूं कि मुझे कहीं कोई समझौता नहीं करना पड़ा।"

सिनेजीवन: अमिताभ बच्चन के पैतृक गांव को है उनका इंतजार और विजय वर्मा ने बॉलीवुड में अपने शुरुआती संघर्ष को डिकोड किया

समय ने व्यक्तिगत, मनोवैज्ञानिक पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करने में मदद की: सुष्मिता सेन

सुष्मिता सेन स्पॉटलाइट और पर्दे पर वापसी कर चुकी हैं, लेकिन एक समय ऐसा भी था जब उन्होंने खुद को इससे दूर कर लिया था। अभिनेत्री और पूर्व ब्यूटी क्वीन कहती हैं कि उनके समय ने उन्हें आत्मनिरीक्षण करने के लिए समय दिया। साल 2015 की बंगाली फिल्म 'निर्बाक' में अपनी उपस्थिति के बाद सुष्मिता ने इस साल वेब सीरीज 'आर्या' से वापसी की।

सुष्मिता ने आईएएनएस को बताया, "मैंने अपने समय का उपयोग खुद को संभालने और आत्मनिरीक्षण करने के लिए किया, क्योंकि पिछले कुछ सालों से चीजें बहुत तेजी से भाग रही थीं।"

उन्होंने आगे कहा, "मेरे समय ने मुझे अपने जीवन के व्यक्तिगत, पेशेवर, सामाजिक और मनोवैज्ञानिक पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करने में मदद की। यह मेरे विचारों को एकजुट करने और चीजों को अलग तरह से देखने का एक शानदार समय था। इसने इस तथ्य को दोहराया कि चीजें हमेशा बदलती रहती हैं और आपको प्रासंगिक बने रहने के लिए खुद का रास्ता खोजना होगा।"

सिनेजीवन: अमिताभ बच्चन के पैतृक गांव को है उनका इंतजार और विजय वर्मा ने बॉलीवुड में अपने शुरुआती संघर्ष को डिकोड किया

विजय वर्मा ने बॉलीवुड में अपने शुरुआती संघर्ष को डिकोड किया


फिल्म 'गली बॉय' में मोइन के रूप में लोकप्रिय हुए अभिनेता विजय वर्मा ने बॉलीवुड में सफलता पाने में उन्हें इतना समय लगने को लेकर खुलासा किया है। अभिनेता साल 2012 से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा हैं। विजय ने अपने अभिनय की शुरुआत 2012 में 'चटगांव' से की थी। फिर उन्हें 'रंगरेज', 'मॉनसून शूटआउट', 'राग देश' और 'मंटो' जैसी फिल्मों में देखा गया। साल 2019 में रणवीर सिंह अभिनीत फिल्म 'गली बॉय' में काम करने के बाद उन्हें लोकप्रियता मिली।

वह 'गली बॉय' की सफलता को पूरी जीत के रूप में देखते हैं। उन्होंने इस बारे में आईएएनएस से कहा "मुझे लगता है कि यह एक उद्यम की सफलता है। 'गली बॉय' एक शानदार सफलता बन गई और यह पॉप कल्चर का भी हिस्सा बन गई। इसलिए, मुझे लगता है कि यह मेरे लिए महत्वपूर्ण मोड़ था।" अभिनेता का कहना है कि उन्हें अभी भी नहीं पता है कि इन सभी सालों में क्या कमी हुई, जो उन्हें अपेक्षित सफलता नहीं मिली थी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next