सिनेमा

सिनेजीवन: सिनेमाघरों में ऑडियंस के लिए तरस रही ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ और रणबीर संग आलिया ने लिया स्पेशल डिनर का मजा

रिपोर्ट की मानें तो फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ सिनेमा घरों में तरसती नजर आ रही है। अभिनेता सुनील दत्त की 14वीं पुण्यतिथि पर उनके बेटे और अभिनेता संजय दत्त ने शनिवार को अपने पिता को याद किया। अभिनेता माइकल डी. कोहेन ने कहा कि बीस साल पहले उन्होंने एक महिला से पुरूष के रूप में खुद को परिवर्तित किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

सिनेमाघरों में ऑडियंस के लिए तरस रही ‘पीएम नरेंद्र मोदी’

तमाम रुकावटों के बाद पीएम नरेन्द्र मोदी पर बनी बायॉपिक फिल्म आखिरकार इस वीकेंड रिलीज़ हुई। हालांकि, देश में मोदी की जीत की लहर का फायदा इस फिल्म को मिलता नहीं दिख रहा। ओपनिंग डे पर फिल्म की कमाई करीब 2.50 करोड़ तक सिमट कर रह गई।

रिपोर्ट की मानें तो फिल्म सिनेमा घरों में तरसती नजर आ रही है। इस बॉलिवुड फिल्म के साथ रिलीज़ हुई हॉलिवुड फिल्म 'अलादीन' ने दोनों फिल्मों को कड़ी टक्कर दी है। पहले ही दिन विल स्मिथ की ऐक्टिंग वाली इस फिल्म ने 4 करोड़ से ज्यादा की कमाई कर ली है।

बॉयफ्रेंड रणबीर और करिश्मा संग आलिया ने लिया स्पेशल डिनर का मजा

आलिया भट्ट और रणबीर कपूर को अक्सर रणबीर के माता-पिता ऋषि और नीतू कपूर के संग देखा जाता है। जैसा कि अभी ऋषि और नीतू दोनों न्यूयॉर्क में हैं, ऐसा लग रहा है कि इस लवबर्ड्स ने मुंबई में रणबीर के कजिन्स के साथ कुछ क्वालिटी टाइम बिताने का फैसला किया है।

करिश्मा कपूर ने अपने इंस्टा अकांउट पर एक तस्वीर को साझा किया है जिसमें वह अपने कजिन्स आदर, अरमान जैन, रणबीर कपूर, आलिया भट्ट और अनीसा मल्होत्रा के साथ पोज देते हुए नजर आ रही हैं। इस तस्वीर के कैप्शन में करिश्मा ने लिखा है, "मिसिंग बेबो एंड सैफ।"

इससे यह तो साफ है कि इस गेट-टुगेदर में इन्होंने करीना कपूर खान और सैफ अली खान को मिस किया है। इस बीच, रणबीर और आलिया को अपनी फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' के आने का इंतजार है।

अपने पिता को याद कर भावुक हुए संजय दत्त

अभिनेता सुनील दत्त की 14वीं पुण्यतिथि पर उनके बेटे और अभिनेता संजय दत्त ने शनिवार को अपने पिता को याद किया। संजय उन्हें याद करते हुए भावुक हो गए और उन्होंने ट्विटर पर एक ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीर को पोस्ट करते हुए लिखा, "हमारे परिवार के स्तंभ।" तस्वीर में सुनील दत्त, संजय की मां दिवंगत अभिनेत्री नरगिस और संजय अपनी बहनों के साथ दिखाई दे रहे हैं।

मुंबई कांग्रेस की नेता प्रिया दत्त ने अपने पिता के साथ खुद की एक तस्वीर साझा की और लिखा : "माता-पिता बहुत कीमती हैं, हमेशा उनके साथ प्यार से पेश आएं। आपको उनकी कीमत तब पता चलेगी जब आप उनकी खाली कुर्सी देखेंगे। उनसे आखिरी बार गले मिले हुए आज 14 साल बीत गए। मैं उन्हें हर दिन याद करती हूं।"

सुनील दत्त एक फिल्म अभिनेता, निमार्ता, निर्देशक और नेता रहे। उन्होंने 'साधना', 'एक फूल चार कांटे', 'गुमराह', 'मेरा साया', 'मदर इंडिया' और 'मुन्नाभाई एमबीबीएस' जैसी यादगार फिल्मों में काम किया। 'लगे रहो मुन्ना भाई' में उन्हें आखिरी बार संजय के साथ बॉलीवुड फिल्म में देखा गया था।

1968 में उन्हें भारत सरकार ने पद्म श्री सम्मान से नवाजा था। मुंबई में 25 मई 2005 को दिल का दौरा पड़ने से उनके आवास पर उनका निधन हो गया था।

हां मैं ट्रांसजेंडर हूं : माइकल कोहेन

लाइव एक्शन सिटकॉम 'हेन्री डेंजर' और 'द एडवेंचर्स ऑफ किड डेंजर' में काम करने वाले अभिनेता माइकल डी. कोहेन ने एक साक्षात्कार में कहा कि बीस साल पहले उन्होंने एक महिला से पुरूष के रूप में खुद को परिवर्तित किया है।

डेडलाइन डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, कोहेन ने बताया कि वह अपने जन्म के वक्त ट्रांसजेंडर थे। यह एक ऐसा समुदाय है जिसे अपने नागरिक अधिकार के लिए समाज में बहुत संघर्ष करना पड़ता है। 43 वर्षीय कोहेन का कहना है कि अपने आत्म-वर्णन के लिए उन्हें 'ट्रांसजेंडर' शब्द पसंद नहीं है क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है कि यह शब्द अपने आप में पूरा नहीं है, इसमें कुछ न कुछ कमी रह गई है।

कोहेन ने कहा कि भले ही वह एक लड़की के रूप में पैदा हुए थे, लेकिन अंदर से वह हमेशा से ही एक पुरूष रहे हैं। 20 साल की उम्र से इस कनाडाई अभिनेता ने महिला से पुरूष के रूप में बदलना शुरु किया।

साल 2014 में वह हेन्री डेंजर पर श्वोज श्वार्ट्ज की भूमिका में आए। उन्होंने अपनी पहचान का खुलासा उस वक्त नहीं किया, लेकिन हालिया राजनीति ने उन्हें उस विशेषाधिकार की अनुमति नहीं दी। कोहेन का कहना है, "मैं इसी समुदाय से संबंधित हूं और ये मेरे अपने लोग हैं।"

खुद को इतना असुरक्षित महसूस कर रहा हूं : टाइगर श्रॉफ

असुरक्षा की भावना से इस कदर प्रेरित हैं टाइगर कि उन्हें हमेशा अनुमोदन और सराहना की तलाश रहती है। एक्टिंग से जुड़े कई लोगों का ऐसे कहना है कि इस पेशे में लोगों को हमेशा असुरक्षा की भावना रहती है क्योंकि चीजें कभी भी बदल सकती हैं। मशहूर बॉलीवुड अभिनेता जैकी श्रॉफ के बेटे टाइगर श्रॉफ इस बात से बिल्कुल सहमत हैं।

इंडस्ट्री में पांच साल पूरे कर चुके टाइगर ने आईएएनएस को बताया, "यह सच है। मैं असुरक्षित हूं और इसी के चलते मुझे हमेशा सराहने की जरूरत पड़ती है..मैं कैसा काम कर रहा हूं..क्या मेरे पिता इसे पसंद करेंगे? क्या मेरे फैन्स मेरे काम की सराहना करेंगे? ऋतिक रोशन सर के साथ काम करने के दौरान मुझे ऐसा लगा कि वह मेरे काम से प्रभावित हैं..वह मेरे हीरो हैं और मुझे उम्मीद है कि मैं उन्हें निराश नहीं कर रहा हूं।"

टाइगर ने साल 2014 में 'हीरोपंती' से अपना डेब्यू किया और इसके बाद 'बाघी', 'ए फ्लाइंग जट्ट', 'मुन्ना माइकल', 'बाघी 2' और 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2' जैसी फिल्मों में काम किया। 29 वर्षीय टाइगर के मार्शल आर्ट कौशल ने बॉलीवुड में एक्शन की शैली को फिर से परिभाषित किया है जैसा कि 80 या 90 के दशक और कुछ हद तक साल 2000 में होता था।

आजकल निर्देशक और अभिनेता एक्शन जॉनर को एक्सप्लोर करने में इतने आशंकित क्यों रहते हैं? इस सवाल के जवाब में टाइगर ने कहा, "शायद आजकल के कलाकारों का झुकाव भिन्न शैली के फिल्मों के प्रति है। यहां तक कि निर्देशक भी 80 और 90 के दशक की तुलना में अलग-अलग शैली की फिल्मों को बनाने के लिए ज्यादा प्रेरित होते हैं।"

हालांकि टाइगर का कहना है कि वह अपनी एक्शन फिल्मों के जरिए विश्व भर में दर्शकों का मनोरंजन करना चाहते हैं और यही उनका लक्ष्य है। इन्हीं कुछ सालों में टाइगर को ट्विटर पर 30 लाख से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं और इंस्टाग्राम पर उनके 1.44 करोड़ फॉलोअर्स हैं और टाइगर के ऑफिशयल फेसबुक पेज पर 80 लाख लाइक हैं।

जब टाइगर से यह पूछा गया कि उनकी निजी जिंदगी पर हमेशा लोगों की नजर रहती है तो इस पर उनकी क्या प्रतिक्रिया है? टाइगर ने इसके जवाब में कहा कि उन्हें इससे कोई ऐतराज नहीं है क्योंकि टाइगर का ऐसा मानना है कि लोग ऐसा तभी करते हैं जब वे कहीं न कहीं आपसे प्रभावित होते हैं या किसी न किसी वजह से आपने उन पर अपना छाप छोड़ा है।

आईएएनएस इनपुट के साथ

लोकप्रिय