सिनेजीवन: सुसाइड से पहले सुशांत ने इंटरनेट पर ये किया सर्च और केस को लेकर मुंबई पुलिस ने किए कई बड़े खुलासे

सुशांत सिंह राजपूत ने मृत्यु और मानसिक विकार से संबंधित कई शब्दों को गूगल पर सर्च किया था। सभी अटकलों पर विराल लगाते हुए मुंबई के पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह ने सोमवार को कहा कि मरहूम सुशांत सिंह राजपूत के घर पर 13 जून को कोई पार्टी नहीं हुई थी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

सुशांत सिंह राजपूत ने इंटरनेट पर 'दर्द रहित मौत' को सर्च किया

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने मृत्यु और मानसिक विकार से संबंधित कई शब्दों को गूगल पर सर्च किया था। मुंबई पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। सुशांत 14 जुलाई को अपने बांद्रा स्थित आवास पर फांसी के फंदे से लटके हुए मिले थे। मुंबई के पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह के अनुसार, सुशांत ने गूगल पर दर्द रहित मौत, सिजोफ्रेनिया और बाइपोलर डिसऑर्डर जैसे शब्दों को सर्च किया था। कमिश्नर सिंह ने सोमवार को मीडिया से बातचीत के दौरान इस बात का खुलासा किया। जानकारी साझा करते हुए विख्यात फोटोग्राफर विरल भयानी ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया, "आयुक्त परम बीर सिंह ने आज प्रेस को कुछ बातें बताईं।"

सुशांत के घर पर 13 जून को कोई पार्टी नहीं हुई : मुंबई पुलिस प्रमुख

सभी अटकलों पर विराल लगाते हुए मुंबई के पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह ने सोमवार को कहा कि मरहूम सुशांत सिंह राजपूत के घर पर 13 जून को कोई पार्टी नहीं हुई थी। इसके एक दिन बाद 14 जून को सुशांत के कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। परम बीर सिंह ने कहा, " हमारे पास 13 और 14 जून की सीसीटीवी फुटेज है। उस दिन उस घर में कोई पार्टी नहीं हुई थी।"

सिंह ने आगे कहा कि "मुंबई पुलिस इस मामले की गम्भीरता से जांच कर रही है। हमने हर एक कोण खंगाल रहे हैं। हमने इस सिलसिले में सुशांत के परिजनों, दोस्तों, डॉक्टर एवं अन्य लोगों के बयान लिए हैं। इसके अलावा हमने सुशांत के बैंक खातों से ट्रांजेक्शन को भी खंगाला है।" यह पूछे जाने पर कि जैसा कि सोशल मीडिया पर काफी जोर-शोर है कि इस मामले में महाराष्ट्र की कोई बड़ी राजनीतिक हस्ती शामिल लगती है, इस पर सिंह ने कहा कि अब तक की जांच से ऐसा कोई तथ्य सामने नहीं आया है।

अक्षय कुमार ने राखी के दिन की नई फिल्म 'रक्षा बंधन' की घोषणा

अक्षय कुमार ने सोमवार को रक्षा बंधन के अवसर पर अपनी नई फिल्म की घोषणा की है। इस फिल्म का शीर्षक 'रक्षा बंधन' त्यौहार के नाम पर रखा गया है। इंस्टाग्राम पर फिल्म का पहला पोस्टर साझा करते हुए अक्षय ने कहा कि वह अपने इस प्रोजेक्ट को अपनी बहन अलका हीरानंदानी को समर्पित कर रहे हैं।

अक्षय ने लिखा, "जीवन में शायद ही कभी कोई ऐसी कहानी सामने आती है जो आपके दिल को इतनी गहराई से छूती है .. यह मेरे करियर की सबसे तेजी से साइन की गई फिल्म है। फिल्म 'रक्षा बंधन' को अपनी बहन अलका और भाई-बहन के खास रिश्ते को समर्पित करता हूं।"

हिमांशु शर्मा ने फिल्म की स्क्रिप्ट लिखी है और इसका निर्देशन, फिल्मकार आनंद एल. राय करेंगे। अक्षय ने आगे कहा, "मुझे खुशी है कि मेरी बहन अलका, आनंद एल. राय के साथ इस फिल्म को प्रोड्यूस कर रही हैं। मेरी जिंदगी की सबसे खास फिल्मों में से एक को देने के लिए मैं उसे कितना भी धन्यवाद दूं वह कम है।"

पुलिस अधिकारी के क्वारंटाइन पर टीम कंगना की प्रतिक्रिया, 'यह क्या है? गुंडाराज?'

दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति और अभिनेत्री कंगना रनौत की डिजिटल टीम ने बिहार के पुलिस अधिकारी विनय तिवारी को शहर में क्वारंटाइन किए जाने की खबरों पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच का जिम्मा बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडे द्वारा आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को सौंपा गया था। जांच के लिए रविवार को शहर पहुंचने के कुछ घंटों के भीतर ही बृहन्मुंबई महानगरपालिका ने उन्हें क्वारंटाइन कर दिया।

इस खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए कंगना की डिजिटल टीम ने ट्वीट किया, "यह क्या है? गुंडा राज? हम प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को बताना चाहते हैं कि यदि सुशांत सिंह राजपूत को मारने वाले अपराधी नहीं पकड़े गए तो मुंबई में कोई भी बाहरी व्यक्ति कभी भी सुरक्षित नहीं रहेगा। अपराधी अधिक से अधिक सशक्त हो रहे हैं, कृपया हस्तक्षेप करें और इस मामले को अपने हाथ में लें।"

टीवी कलाकारों के लिए बॉलीवुड में जगह बनाना आसान नहीं है: रवि दुबे

भिनेता रवि दुबे का कहना है कि टेलीविजन अभिनेताओं के लिए बॉलीवुड में जगह बनाना, बड़ा नाम कमाना आसान नहीं है। उन्होंने आईएएनएस से कहा, "यह आसान नहीं है, क्योंकि कई पूर्व धारणाएं बीच में आ जाती हैं। लेकिन ये धारणाएं जल्द ही लुप्त हो जाएंगी।" रवि को लगता है कि मनोरंजन उद्योग को मरम्मत की जरूरत है।

उन्होंने कहा, "आज हम जो कुछ भी हैं वह मनोरंजन उद्योग के कारण हैं। यह एक महान उद्योग है, लेकिन इसके सिस्टम को मरम्मत की जरूरत है। एक समय में हम सभी एक जैसी शुरू करते हैं और फिर अपने अंत तक पहुंचते हैं। यह ²ष्टिकोण में बदलाव लाने का समय है, मैं महसूस करता हूं कि हम एक विशाल कायापलट के मुहाने पर हैं।"

आईएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next