सिनेजीवन: रणवीर ने मेकअप आर्टिस्ट को कहा ‘भाभी’, मिला ऐसा रिएक्शन और संजीव कुमार के जीवन पर लिखी जाएगी किताब

सोशल मीडिया पर एक Video वायरल हो रहा है जिसमें अभिनेता रणवीर सिंह लोकप्रिय मेकअप आर्टिस्ट गुनीत विर्दी को ‘भाभी’ कह रहे हैं। इस पर गुनीत रिएक्ट करते हुए कह रही है कि ‘प्लीज भाभी न कहें’ और दिवंगत अभिनेता संजीव कुमार के जीवन पर जल्द ही एक किताब लिखी जाएगी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

कुछ ही स्टार ऐसे होते हैं, जो रणवीर सिंह की तरह दर्शकों का ऑफ स्क्रीन भी मनोरंजन कर पाते हैं। इस बात को अभिनेता ने एक बार फिर साबित कर दिया है। रणवीर हाल ही में एक हाई प्रोफाइल शादी में डांस करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में थे। बहुत सारी तस्वीरें और वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रही हैं, जहां रणवीर अपने हिट गानों 'राम-लीला' फिल्म के गाने 'ततड़-ततड़' और 'सिम्बा' के 'आंख मारे' पर अपनी अदाओं का जलवा दिखा रहे हैं।

हालांकि, जो वीडियो प्रशंसकों को सबसे ज्यादा पसंद आ रहा है, वह वास्तव में डांस प्रदर्शन का नहीं है, बल्कि यह एक क्लिप का है, जिसमें रणवीर लोकप्रिय मेकअप कलाकार गुनीत विर्दी को 'भाभी' कहते हुए दिखाई देते हैं।

गुनीत ने अपने इंस्टाग्राम पर लिखा, "जब रणवीर सिंह आपको भाभी कहे, तब समझ लीजिए, दिल के अरमां आंसुओं में बह गए।"

संजीव कुमार के जीवन पर लिखी जाएगी किताब

प्रसिद्ध अभिनेता संजीव कुमार की जीवनी (बायोग्राफी) लिखी जाएगी। हरिभाई जरीवाला के नाम से विख्यात अभिनेता की 34वीं पुण्यतिथि के मौके पर बुधवार को यह घोषणा की गई। इस जीवनी को रीता गुप्ता द्वारा लिखा जाएगा। इसके अलावा दिवंगत अभिनेता के भतीजे उदय जरीवाला जीवनी के सह-लेखक होंगे। उदय संजीव कुमार फाउंडेशन के प्रमुख भी हैं।

उदय ने कहा, "संजीव कुमार की किंवदंती के बारे में बताया जाना चाहिए, क्योंकि वह हमें बहुत पहले छोड़कर चले गए थे। उनकी 'आम आदमी' की अपील का आकर्षण अभी भी बना हुआ है।"

उन्होंने कहा कि दुनिया भर में भारतीय उन्हें एक प्रतिष्ठित कलाकार के रूप में देखते हैं।

उदय ने बताया कि मित्र, सह-कार्यकर्ता और परिवार के सदस्य इस किताब के लिए सहज तौर पर अपना योगदान दे रहे हैं।

नवंबर 2020 में संजीव कुमार की 35वीं पुण्यतिथि पर किताब के पूरी तरह से तैयार होने की उम्मीद है।

संजीव कुमार महज 47 वर्ष के थे, जब 1985 में दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता संजीव कुमार को फिल्मों में उनके कई शानदार अभिनय के लिए जाना जाता है। उनकी बेहतरीन फिल्मों में 'आंधी', 'दस्तक', 'कोशिश' और 'अंगूर' शामिल है।

उनके सबसे चर्चित किरदारों में 1975 की ब्लॉकबस्टर 'शोले' फिल्म में निभाया गया सेवानिवृत्त पुलिसकर्मी ठाकुर बलदेव सिंह रोल रहा है।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

लोकप्रिय