लॉक अप' में कंगना रनौत ने किया खुलासा, बचपन में हुईं थीं यौन शोषण की शिकार

कंगना ने बताया कि जब मैं बहुत छोटी थी तब शहर का एक लड़का मुझे गलत तरीके से छूता था और मैं समझ नहीं पाती थी कि क्या हो रहा है। वह मुझसे तीन से चार साल बड़ा था। मुझे लगता है कि वह अपनी कामुकता तलाश रहा था। वह कपड़े उतारने के लिए कहता था और हमें चेक करता था।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बॉलीवुड स्टार और होस्ट कंगना रनौत ने शो 'लॉक अप' में अपना एक दर्दनाक अनुभव साझा किया। अभिनेत्री ने साझा किया कि उन्हें बचपन में यौन उत्पीड़न का सामना करना पड़ा था। वह इस हादसे को कभी नहीं भूल सकतीं। शो में मुनव्वर फारूकी के साथ बचपन में हुए यौन उत्पीड़न की दर्दनाक कहानी सुनकर वह भावुक हो गई और बोली कि मेरे साथ भी ऐसा हुआ था।

कंगना ने बताया कि हमारे शहर का एक लड़का मुझे गलत तरीके से छूता था, जब मैं बहुत छोटी थी और मैं समझ नहीं पाती थी कि क्या हो रहा है। वह मुझसे तीन से चार साल बड़ा था। मुझे लगता है कि वह अपनी कामुकता तलाश रहा था। वह मुझसे हमारे कपड़े उतारने के लिए कहता था और वह हमें चेक करता था। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि जैसे मुनव्वर ने सच साझा किया, वैसे ही दूसरे भी सामने आ सकते हैं और लोगों को इस गंभीर मुद्दे से अवगत कराया जा सकता है और इससे कैसे निपटे ये भी बता सकते हैं।


उन्होंने कहा, "इसलिए, हम यह सब कहने के लिए इस मंच का उपयोग कर रहे हैं। यह पुरुषों के लिए एक बड़ा कलंक है। आप बहुत बहादुर हैं कि आपने अपने अनुभव को साझा करने के लिए इस मंच को चुना। मुझे आशा है कि अन्य बच्चे भी हैं जो ऐसी ही स्थितियों का सामना कर रहे हैं, आगे आएं और इसके बारे में बोलें और लोगों को जागरूक करें।"

यह सब जजमेंट डे के एपिसोड में शुरू हुआ, जब सायशा शिंदे ने बजर दबाया। कंगना ने उनसे कहा कि आपको बचाने के लिए अंजलि अरोड़ा, आजमा फलाह या मुनव्वर को अपना एक राज बताना होगा। सायशा ने सभी को मना लिया, मुनव्वर ने कहा कि मैं खेल के लिए नहीं बल्कि अपनी दोस्ती के लिए अपना रहस्य खोल रहा हूं।

उन्होंने साझा किया कि मैं 6 साल का था, जब मेरे रिश्तेदार द्वारा लगातार 4-5 वर्षों तक मेरा यौन उत्पीड़न किया गया था। यह परिवार का एक बहुत करीबी सदस्य था, लेकिन मैं छोटा था, मुझे कुछ भी समझ में नहीं आया, यह चौथे वर्ष में बहुत ज्यादा हो गया था। मैंने इसे किसी के साथ साझा नहीं किया क्योंकि अंतत: मुझे और मेरे परिवार को हर बार उनका सामना करना पड़ता था।


जिसके बाद कंगना ने अपनी दर्द भरी कहानी शेयर कर उन्हें दिलासा दी। मुनव्वर ने कहा कि मैं इससे आहत हूं, मैं खुद से नाराज हूं। कंगना ने जवाब दिया कि यह विडंबना है कि आपने जिन पर भरोसा किया, उन्होंने केवल आपको चोट पहुंचाई है और इसने हमें जीवन भर परेशान किया। मुनव्वर ने कहा कि मैंने हमेशा अपनी बहन के बच्चों की रक्षा की है। मैं हमेशा उनके लिए रहा हूं। अंत में कंगना ने सायशा से कहा कि मैं तुम्हारे लिए खुश हूं। मुनव्वर की दोस्ती तुम्हारे प्रति बहुत सच्ची है। 'लॉक अप' ऑल्ट बालाजी और एमएक्स प्लेयर पर स्ट्रीम होता है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;