साल भर चलता रहा छोटे बजट की फिल्मों का बॉक्स ऑफिस पर बड़ा धमाल

पहले हमारी फिल्में बड़े बजट, बड़े सितारों और विदेशी लोकेशंस पर शूट के साथ बनती थीं। अब छोटे बजट और छोटे शहरों के लोगों की फिल्में उनसे दो कदम आगे निकल रही हैं। दर्शक उन्हें हाथों-हाथ ले रहे हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

रत्ना श्रीवास्तव

साल जाते-जाते कुछ यादगार फिल्में भी छोड़ जाता है। इस लिहाज से 2019 भी उससे अलग नहीं रहा। हां, खास बात यह रही कि इस साल जहां छोटी बजट की फिल्में अपने प्रदर्शन से बड़ी बन गईं, तो कुछ वेब सीरीज भी चर्चा में रहीं। वेब सीरीज का रंग धीरे-धीरे अब हमारे देश में भी चढ़ने लगा है। 2019 रूपहले पर्दे के लिए खास रहा। कुछ दमदार फिल्मों ने बॉलीवुड को सार्थकता दी। मल्टीस्क्रीन थिएटर के आने के साथ ही हमारी फिल्मों में यथार्थ और मौजूदा जिंदगी के ढर्रों पर प्रयोग शुरू हुआ है। बदलते जमाने के साथ सामने आती समस्याओं और जिंदगी की नई चुनौतियों पर कहानियां लिखी जा रही हैं और उन्हें फिल्मी पर्दे पर उतारा जा रहा है। इसमें नए निर्देशकों का भी योगदान है, जो व्यावहारिक धरातल पर अलग तरह से काम कर रहे हैं।

कहां पहले हमारी फिल्में बड़े बजट, बड़े सितारों और विदेशी लोकेशंस शूट के साथ बनती थीं। अब छोटे बजट और छोटे शहरों के लोगों की फिल्में उनसे दो कदम आगे निकल रही हैं। दर्शक उन्हें हाथों हाथ ले भी रहे हैं। अब जैसे इस साल छोटी बजट की फिल्म ‘बाला’ को ही लीजिए। इसकी कहानी कानपुर और लखनऊ के इर्द-गिर्द घूमती है। कहानी ऐसी और पकड़ ऐसी कि दर्शक आनंद लेते रहते हैं। वैसे तो यह मनोरंजन फिल्म है लेकिन वाकई एक बड़ा संदेश भी देती है और उन लोगों की दिक्कतों से रू-ब-रू भी होती है, जिन्हें हम गंजा कहते हैं। ऐसे विषयों पर पहले भला कौन फिल्म बनाने की बात सोचता था। यह कम बजट की फिल्म थी, जिसने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा दिया। यह भी कहना चाहिए कि आयुष्मान खुराना न केवल युवाओं बल्कि किसी भी उम्र के लोगों की बड़ी पसंद बनकर उभरे हैं।

जब ‘बाला’ रिलीज हुई, तो उसी के साथ उसी विषयवस्तु पर एक फिल्म और आई। इसका नाम था ‘उजड़ा चमन’। इसकी कहानी भी तकरीबन ‘बाला’ सरीखी ही थी। लेकिन ट्रीटमेंट अलग। सनी सिंह स्टारर इस फिल्म को भी दर्शकों ने खासा पसंद किया। सनी ने चमन का जो किरदार निभाया उसे लोगों ने खूब सराहा। सनी ने कॉमिक टाइमिंग और स्क्रीन प्रेजेंस से फिल्म का पूरा भार अपने कंधों पर उठाया। वह सफल भी रहे।

आयुष्मान खुराना की ही एक और फिल्म ‘आर्टिकल 15’ ने हमें उन सच्चाइयों से रू-ब-रू कराया जो छोटे गांवों और कस्बों में जात-पात और छूआछूत को लेकर है। आर्टिकल 15 संविधान का ऐसा अनुच्छेद है, जो समानता की बता कहता है, लेकिन हकीकत में हमारा सिस्टम और पुलिस क्या वैसा सलूक करते हैं? यह एक बड़ा सवाल यह फिल्म छोड़ती है। इस फिल्म की शूटिंग बनारस और इसके आसपास के इलाकों में हुई। निर्देशक अनुभव सिन्हा को भी एक अच्छी कहानी और कसी हुई फिल्म की बधाई दी जानी चाहिए। फिल्म को काफी चर्चा मिली, तो लोगों ने इसे खूब देखा भी। कहना चाहिए कि इस विषय के साथ ट्रीटमेंट खासा चुनौतीपूर्ण था। लेकिन फिल्म बनाने वाले और आयुष्मान की अदायगी ने कमाल कर दिया।

आयुष्मान खुराना की ‘आर्टिकल 15’ के बाद अक्षय खन्ना की फिल्म ‘सेक्शन 375’ ने भी बड़े पर्दे पर दस्तक दी। इसने बलात्कार जैसे विषय पर सजा और कानून पर बहस का मौका दिया। आयुष्मान ने 2019 में तीन हिट फिल्में दीं। ‘ड्रीम गर्ल’ उनकी इसी कड़ी में एक कम बजट की लेकिन हिट फिल्म है। जिसे उत्तर प्रदेश के शहर मथुरा में फिल्माया गया है। किस तरह देश में एक नया धंधा फलफूल रहा है और फोन पर लड़कियां लोगों से बातचीत कर उन्हें वो सुख देती हैं, जो उनकी हकीकत की जिंदगी से कोसों दूर रहती है। फिल्म रोचक है और संवाद उम्दा हैं। फिल्म में चुटीलापन है, जो हंसी पैदा करता है, लेकिन संदेश भी। इन फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर ताबड़तोड़ कमाई कर 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो गईं। आयुष्मान की सबसे बड़ी ओपनिंग वाली फिल्म ‘ड्रीम गर्ल’ उनकी सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म भी बन गई।

फिल्म का नाम जरूर अजीब लगे लेकिन ‘सांड की आंख’ भी साल की एक अच्छी फिल्म रही। तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर की यह फिल्म बागपत और आसपास के इलाकों में फिल्माई गई। ग्रामीण परिवेश के बीच महिलाओं के सशक्तिकरण और उनकी दृढ़ इच्छाशक्ति को इस फिल्म ने प्लेटफॉर्म दिया। दर्शकों की ओर से फिल्म को बढ़िया पॉजिटिव रिस्पांस मिला। फिल्म में दोनों ही अभिनेत्रियों के अभिनय की काफी तारीफ हुई। दोनों ने ही अपने-अपने किरदार में पूरी जान लगाई। यह फिल्म सच्ची घटना पर आधारित है, इसमें भूमि और तापसी 60 साल की उम्र की शूटर्स के रोल में नजर आईं।

अक्षय कुमार की गिनती बॉलीवुड के टॉप एक्टर्स में की जाती है। उनकी फिल्में बड़े बजट की होती हैं। 2019 भी उनकी तीन हिट फिल्मों के नाम रहा। ‘हाउसफुल 4’, ‘मिशन मंगल’ और ‘केसरी’ हिट रहीं। अक्षय कुमार की फैन-फॉलोइंग भी गजब की है। केवल इंस्टाग्राम पर ही उनके 34.5 मिलियन फॉलोवर्स हैं। एक और फिल्म जिसने बड़े बजट की होने के बाद शानदार काम किया, वह ‘सुपर 30’ थी। सुपर 30 के बारे में देश में ज्यादातर लोग जानते हैं। यह एक ऐसा कोचिंग इंस्टीट्यूट है जो हर साल करीब 30 गरीब बच्चों को आईआईटी की कोचिंग कराता और तकरीबन सभी बच्चे उसमें सेलेक्ट होते हैं। फिल्म में ऋतिक रोशन का अभिनय सराहा गया। हालांकि, उनकी दूसरी फिल्म ‘वॉर’ साल 2019 की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बनी। इसने करीब 400 करोड़ रुपये की कमाई की। शाहिद कपूर की ‘कबीर सिंह’ भी बॉक्स ऑफिस पर धमाका करने में कामयाब रही। लेकिन इसके विषय और ट्रीटमेंट की खासी आलोचना भी हुई।

अब चलते-चलते बात डिजिटल प्लेटफॉर्म पर साल 2019 में पेश हुईं चर्चित वेब सीरीज की, जिन्होंने धमाका किया। हालांकि इस प्लेटफॉर्म के ज्यादातर दर्शक नए दौर के युवा हैं। ‘सेक्रेड गेम्स’ के दूसरे सीजन का लोगों ने बेसब्री से इंतजार किया। जब यह नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई तो इसकी मिश्रित प्रतिक्रियाएं रहीं। कुछ को यह पसंद आई, तो बहुत से लोगों को लगा कि इसका सीजन-1 जितना जोरदार था, उस मामले में यह खरी नहीं उतर पाई। इसके अलावा ‘बार्ड ऑफ ब्लड’ को भी खूब चर्चाएं मिलीं। ‘बार्ड ऑफ ब्लड’ शाहरुख खान के प्रोडक्शन हाउस में बनी ‘बार्ड ऑफ ब्लड’ किताब पर आधारित वेब सीरीज है, जिसमें जासूसी की मनोरंजक कहानी है। एक जासूस, जो भारत और पाकिस्तान दोनों के लिए काम करता है। इसमें लीड एक्टर इमरान हाशमी हैं। यह नेटफ्लिक्स की ऑरिजनल सीरिज है।

एक और चर्चित सीरीज ‘क्रिमिनल जस्टिस’ है। इसमें पंकज त्रिपाठी, विक्रांत मैसी और जैकी श्रॉफ जैसे उम्दा कलाकार हैं। ये हॉट स्टार की ऑरिजनल सीरीज है। यह एक क्राइम थ्रिलर सीरीज है, जिसकी कहानी एक ऐसे लड़के से शुरू होती है, जो कैब ड्राइवर है और एक मर्डर के केस में फंस जाता है। इसमें क्राइम की जांच, साजिश और जेल के आतंकी हालात को अच्छी तरह से पेश किया गया है। ‘दिल्ली क्राइम’ वेब सीरीज भी काफी सुर्खियों में रही। इसमें साल 2012 में निर्भया गैंगरेप और दिल्ली पुलिस द्वारा इस केस की जांच को दिखाया गया। नेटफ्लिक्स ने इसी साल ‘लैला’ को भी पेश किया था, लेकिन लोगों को इसका विषय और ट्रीटमेंट बहुत पच नहीं पाया।

यह तो पक्का है किआने वाले साल में अच्छी वेबसीरीज का धमाल जारी रहेगा। ऐसा लग रहा है कि डिजिटल प्लेटफॉर्म की ओर सबका ध्यान है। वहां अच्छा कंटेट भी आ रहा है और बजट भी कम है।

लोकप्रिय
next