सिनेजीवन: पंचतत्व में विलीन हुए सुशांत सिंह राजपूत और कंगना ने इसे सुसाइड नहीं, प्लान मर्डर बताया

सुशांत सिंह राजपूत का अंतिम संस्कार मुंबई के विले पार्ले श्मशान घाट में किया गया। सिनेजीवन में आज हम आपको अभिनेता सुशांत सिंह सुसाइड केस में आज क्या क्या हुआ उस बारे में बताएंगे साथ ही सुशांत ने आखिरी बार किन दो लोगों को कॉल किया था इस बारे में भी बताएंगे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पंचतत्व में विलीन हुए सुशांत सिंह राजपूत, आंतिम यात्रा में ये लोग हुए शामिल

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का अंतिम संस्कार किया गया है। सुशांत सिंह राजपूत का अंतिम संस्कार मुंबई के विले पार्ले श्मशान घाट में किया गया। मुंबई में भारी बारिश के बीच अभिनेता को अंतिम विदाई दी गई। इस दौरान उनका पूरा परिवार नजर आया। सुशांत की अंतिम यात्रा में बॉलीवुड के गिने चुने कलाकार ही दिखाई दिए। इस दौरान सुशांत को आखिरी बार देखने के लिए इंडस्ट्री के कई सितारे पहुंचे। सुशांत को अंतिम विदाई देने के लिए एक्ट्रेस कृति सेनन, श्रद्धा कपूर, विवेक ओबेरॉय समेत कई कलाकार पहुंचे। कोविड 19 प्रोटोकॉल की वजह से सुशांत की अंतिम यात्रा में 20 से अधिक लोग शामिल नहीं हो पाए। इससे पहले देर रात बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई। इस संबंध में पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) अभिषेक त्रिमुखे ने सोमवार को कहा कि एक्टर सुशांत सिंह का पोस्टमार्टम मुंबई के डॉक्टर आरएन कूपर म्यूनिसिपल जनरल हॉस्पिटल में किया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि मौत की वजह फांसी से दम घुटना है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

सुशांत की खुदकुशी पर बोलीं कंगना- यह सुसाइड नहीं, प्लान मर्डर

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की खुदकुशी मामले पर अभिनेत्री कंगना रनौत का बयान सामने आया है। कंगना ने सुशांत की मौत पर दुख जाहिर करते हुए बॉलीवुड पर अपना गुस्सा जाहिर किया है। कंगना ने कहा कि 'छिछोरे जैसी फिल्म को कोई अवॉर्ड नहीं मिला। गली बॉय जैसी एक वाहियात फिल्म को कई अवॉर्ड मिलते हैं। हमें आपसे कुछ नहीं चाहिए, लेकिन हम जो काम करते हैं, कम से कम उसकी सराहना तो करिए। क्यों मुझ पर 6 केस लगाए गए। क्यों मेरी फिल्मों को फ्लॉप घोषित किया गया। लोग मुझे मैसेज करके बोलते हैं कि तुम्हारा बहुत मुश्किल समय है। कोई ऐसा-वैसा कदम मत उठाना। ऐसा क्यों कहते हैं मुझे, मेरे दिमाग में ऐसी बातें क्यों डालते हैं। यह सुसाइड नहीं यह प्लान मर्डर था। सुशांत की गलती यही है कि वह उनकी बात मान गया कि तुम वर्थलेस हो, वो मान गया। उसने अपनी मां की नहीं सुनी। हमें यह चुनना है कि इतिहास कौन लिखेगा।'

सुसाइड से पहले सुशांत ने इनको किया था आखिरी कॉल!

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद अब कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। साथ ही सुशांत की जिंदगी की आखिरी रात का भी हाल अब लोगों के सामने आ रहा है। बताया जा रहा है कि एक्टर के मोबाइल रिकॉर्ड के मुताबिक उन्होंने अपना आख‍िरी कॉल रिया चक्रवर्ती और महेश शेट्टी को मिलाया था। लेक‍िन दोनों ने ही सुशांत का कॉल नहीं उठाया। अब इस केस को आगे ले जाते हुए पुलिस दोनों से पूछताछ करेगी। एक वेबसाइट की रिपोर्ट अनुसार सुशांत ने महेश शेट्टी को सुबह 1.51 मिनट पर कॅाल किया था। महेश ने इस संबंध में बात करते हुए कहा कि जब वह सुबह उठे तो उन्होंने सुबह 8.30 को सुशांत को कॅाल भी किया। लेकिन सुशांत ने फोन नहीं उठाया। लेकिन इसके बाद सीधा महेश को सुशांत के मौत की खबर मिली।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

सुशांत के निधन पर अमिताभ बच्चन ने जताया शोक, पूछा- 'क्यों...क्यों ?

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन की खबर पर हाल ही में एक्टर अमिताभ बच्चन का रिएक्शन आया। अमिताभ ने अपने इंस्टा पर सुशांत के साथ एक तस्वीर शेयर की है। इस तस्वीर के साथ उन्होंने लिखा-'क्यों...क्यों...क्योंकि...सुशांत सिंह राजपूत...आपने अपनी जिंदगी खत्म क्यों कर दी...आप एक प्रतिभाशाली टैलेंट थे...बेहतरीन दिमाग...बिना कुछ पूछे जाने आप चले गए...क्यों...उनका काम बहुत ही शानदार था...दिमाग और भी शानदार. उन्होंने दार्शकनिक कथनों के जरिये कई बार खुद के बारे में बताया। अमिताभ बच्चन ने आगे लिखा-'मैं धोनी में उनका पूरा काम देखा। फिल्म में हर जगह उनकी कमाल की एक्टिंग थी लेकिन एक ऑब्जर्वर के तौर पर मुझे तीन मौके बहुत पसंद आए। जब वह बात करते हैं तो कुछ ऐसी बातें होती हैं जो अनकही रह जाती हैं और उसमें अत्यधिक बुद्धिशीलता भी नजर आती है। उनसे एक मुलाकात के दौरान मैंने उनसे पूछा कि उन्होंने कैसे धोनी का इंटरनेशनल टूर्नामेंट जीतने के लिए छक्का मारने वाले सीन को निभाया था।

View this post on Instagram

Why .. Why .. Why .. Why .. Sushant Singh Rajput .. why do you end your life .. your brilliant talent .. your brilliant mind .. laid to rest , without asking , seeking .. why .. .. his work was sheer brilliance .. and his mind even more .. many a time did he express himself in the depth of philosophical verb .. they that looked passed it were either in wonder or oblivious of its strength of meaning .. some wondered, some quibbled .. to some it was a subdued mirth .. subdued because , for it to be given lethargic ignorance, would have opened the caves of their own .. .. his speak was measured .. as was his screen presence .. .. I saw a complete work of his in ‘DHONI’ .. the film was dressed with remarkable moments of his performance .. but three of the moments ever remained with me as an observer .. they were done with such casual conviction that it would be difficult for an analyst of some credibility, to either notice it , or give attention to its bearing .. .. when he spoke or communicated , there was something of an inner value, which had remained unsaid , yet said in its covered all .. its a trait of excessive intelligence .. and when that takes a diversion from the highway , it invariably ends up against a road bloc - depressive , unwanted , and in belligerent frustration .. .. on one of my meetings with him , I asked him how did he manage to give that iconic shot of Dhoni hitting a six winning the International tournament , to absolute perfection .. he said he saw that video of Dhoni , a hundred times .. !! .. that was the severity of his professional effort .. .. he came from humble beginnings .. was a part of the 4rth line group dancers, that performed shows with Shiamak Davar , the ingenious talented choreographer of our times .. rising from those climes to where he was, is a story by itself .. excessiveness can often lead to extremes .. .. what kind of a mind leads one to suicide is an eternal mystery .. .. to end a most gainful life, is simply not permitted .. Ab

A post shared by Amitabh Bachchan (@amitabhbachchan) on

'छिछोरे' में सुशांत के बेटे बने समद ने लिखा इमोशनल मैसेज, आखिरी को स्टार संजना सांघी भी मौत की खबर से दुखी

फिल्म छिछोरे में उनके बेटे की भूमिका निभाने वाले कलाकार मोहम्मद समद को जब सुशांत के निधन की खबर मिली तो उन्होंने एक इमोशनल मैसेज लिखा। समद ने इंस्टाग्राम पर लिखा कि कैसे एक पढ़ा-लिखा इंसान यह कर सकता है। यह यकीन करना मुश्किल है। मैंने आपसे बहुत कुछ सीखा है और भी सीखना बाकी था। मैं अब भी यकीन नहीं कर पा रहा हूं। भगवान आपको स्वर्ग में ऊंचा स्थान दे। आपकी आत्मा को शांति मिले सर।

इसके अलावा सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी को स्टार संजना सांघी उनकी मौत की खबर सुनकर टूट चुकी हैं। संजना ने एक वीडियो मेसेज के ज़रिए सुशांत को याद किया। संजना ने इस मेसेज में कहा - आपने थोड़े ही दिनों में मुझे इतना कुछ दिया कि मैं वो हमेशा सहेज कर रखूंगी और हमेशा आपकी आभारी रहूंगी। आपने बताया था कि जिस किताब पर हमारी फिल्म आधारित है उसकी कुछ बेस्ट लाइनें बताई थीं। जब भी हम सेट पर खाली होते थे तो एक दूसरे के ये लाइनें बोलते थे। मुझे नहीं पता कि मैं क्या कहूं। बस इतना कह सकती हूं कि मैं आपसे वादा करती हूं कि जो भी वादे मैंने आपसे किए हैं वो सब पूरा करूंगी।

View this post on Instagram

. . You gave me a forever, within a limited number of days, and for that. I’m forever grateful. - our beloved novel, The Fault In Our Stars A forever of learnings, and of memories. I refreshed my web pages a 100 times hoping I’m reading some sort of horrible joke. I’m not equipped to process any of this. I don’t think I ever will be. I’m definitely not equipped to articulate my feelings, this is me failing, but trying. After 2 years of seemingly all the possible difficulties one single film can face, with all sorts of crap constantly being written, and being relentlessly pursued. We were supposed to FINALLY see our film - my first film, and what you told me you believed was your best film yet, together. In the middle of 16 hour long shoot days, you’d talk about how being and becoming Manny made you happy, and that being anybody but yourself made you happy. I was too ill equipped to understand the depth of what you meant. Amidst your journey, you somehow found a way and had a desire to yell out to me from the opposite side of set screaming “Rockstar, itni achi acting thodi na karte hain paagal!” ; To guide me over things big & small through our film’s process, To tell me to conserve my energy on set; To discuss even the smallest nuance you thought could change the narrative of a scene and would whole heartedly accept my disagreement; To discuss ways in which we could together forge a brighter educational future for the children of India. You were a force Manny, and you always will be. We’re going to spend an eternity to try and make sense of what you’ve left us behind with, and I personally never will be able to. I simply wish you never left us behind in the first place. Just know, you have a country full of millions, looking up at you, smiling at you, thankful for you. As you smile back at us, from up above. The fact that you get to spend the rest of your time by your mother’s side, I know you gives the only happiness you wanted in the world. #RIPSushantSinghRajput

A post shared by Sanjana Sanghi (@sanjanasanghi96) on

लोकप्रिय
next