2021 में पर्दे पर आने वाली हैं ये धाकड़ फिल्में, क्या ये मेगा फिल्में दर्शकों को सिनेमाघर में वापस ले आएंगी!

हमसे विदा ले चुका 2020 का वर्ष सिनेमा घरों के लिए एक ऐसे जहाज की तरह था जो बस मानो डूबने के लिए ही बना था। सिनेमाघर बीते वर्ष में दर्शकों को आकर्षित करने में असफल रहे। लेकिन वर्ष 2021 संभवतः इस ज्वार का रुख पलट सकता है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

सुभाष के झा

हमसे विदा ले चुका 2020 का वर्ष सिनेमा घरों के लिए एक ऐसे जहाज की तरह था जो बस मानो डूबने के लिए ही बना था। सिनेमाघर बीते वर्ष में दर्शकों को आकर्षित करने में असफल रहे। लेकिन वर्ष 2021 संभवतः इस ज्वार का रुख पलट सकता है। इस बार हमारे पास आकर्षित करने वाली बड़ी फिल्मों की एक लंबी श्रृंखला है जिनसे उम्मीद है कि वे संभवतः दर्शकों को फिर से सिनेमाघरों में खींच लाने में कामयाब होंगी।

सूर्यवंशी

चर्चित फिल्मकार रोहित शेट्टी की टीम ‘सूर्यवंशी’ फिल्म के साथ पहली बार अक्षय ‘जुबली स्टार’ कुमार के साथ आ रही है। क्या हमें इससे अधिक कुछ और कहने की जरूरत है? इस फिल्म में अजय देवगन और रणवीर सिंह मेहमान कलाकार के रूप में हैं। कैटरीना कैफ इस फिल्म के आकर्षण का एक और फैक्टर हैं।

गंगूबाई काठियाबाड़ी

जाने-माने निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली की गैंगस्टर की कहानी पर आधारित महाकाव्यात्मक फिल्म ‘गंगूबाई काठियाबाड़ी’ अभिनेत्री आलिया भट्ट के अभिनय को एक दूसरे ही स्तर पर ले गई है। सच कहें तो आलिया का ब्रॉदर मादाम और कुख्यात डॉन के रूप में एक नया अवतार हुआ है। संजय लीला भंसाली इसे अब तक का अपना सबसे बेहतरीन काम मानते हैं।

केजीएफ 2

कन्नड़ के सुपर स्टार यश ने मुझे बताया कि केजीएफ गाथा की पार्ट 2 ज्यादा व्यापक है। यह पार्ट 1 के मुकाबले कहीं ज्यादा भव्य-प्रभावशाली है, ज्यादा नाटकीयता से भरी हुई है और बहुत ही हार्ड हिटिंग है। वह कहते हैं, “हमने पार्ट 1 को अपने कन्नड़ प्रशंसकों के लिए बनाया था, हमें इसके बारे में बहुत ही कम पता था कि यह हर भाषा के दर्शकों को पसंद आएगी। अब पार्ट 2 को बहुत ही सोच-समझकर कर अखिल भारतीय दर्शकों के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय दर्शकों के लिए भी तैयार किया गया है।”

आरआरआर

‘बाहुबली’ के बाद एसएस राजमौली!! यहां बस एक ही समस्या है और वह है दर्शकों की गगनचुंबी अपेक्षाएं। मुझे इस तरह का आभास क्यों हो रहा है कि राजमौली सभी अपेक्षाओं पर खरे उतरेंगे बल्कि कुछ ज्यादा ही कर दिखाएंगे। राजमौली के पिता केवी विजयेंद्र प्रसाद जिन्होंने ‘आरआरआर’ फिल्म की कहानी लिखी है, ने बताया कि इस फिल्म को ऐसा आकार और ढांचा दिया गया है कि वह ‘बाहुबली’ फिल्म के बाद अपना वजूद बना सके। मुझे उन पर पूरा विश्वास है।

राधे इंडियाज मोस्ट वॉन्टेडभाई

दर्शकों को सिनेमा घरों में दौड़ते हुए लाने के लिए बस दो शब्द ही पर्याप्त हैं-सलमान खान।

83

क्रिकेट, कपिल, रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण। क्या इनके बावजूद कोविड इतना शक्तिशाली है कि दर्शकों को सिनेमाघर से दूर रख सके? निर्देशक कबीर खान कहते हैं कि मुझे पूरा विश्वास है कि दर्शक इस फिल्म को देखने के लिए सिनेमाघरों में जरूर लौटेंगे।

नो टाइम टु डाई

जेम्स बॉन्ड की इस नई फिल्म के बारे में कहा जा रहा है कि इसमें जेम्स बॉन्ड इतने मृदुभाषी मक्कार तथा स्पर्शनीय नजर आए हैं कि अगर सिने-भविष्यवक्ताओं की मानें तो यह फिल्म पूरे विश्व में फिल्म प्रेमियों के पूरे समुदाय को सिनेमाघरों में खींच कर वापस लाने का दम रखती है। जेम्सबॉन्डसीरीज की यह पच्चीसवीं फिल्मवह आखिरी फिल्मभी होगी जिसमें हम डेनियल क्रेग को अंतिम बार एजेंट 007 के रूप में अभिनय करते हुए देखेंगे। सही है, समय आ गया है कि हमें दोबारा से सिनेमाघरों की तैयारी कर लेनी चाहिए।

मिशन इम्पॉसिबल 7

इस फिल्म की पूरी शूटिंग कोविड के दौरान हुई है। मौजूदा हालातों के मद्देनजर इस फिल्म की शूटिंग के दौरान जितनी भी तकलीफें उठाई गई होंगी, उन्हें देखते हुए इसका टाइटल बहुत ही प्रासंगिक जान पड़ता है। टॉम क्रूज दुनिया के अत्यधिक चर्चित और लोकप्रिय कलाकार हैं। अगर वह लोगों को सिनेमाघरों में लाने में सक्षम नहीं हुए तो फिर कौन होगा?

बेल बॉटम

इस फिल्म में हम अक्षय कुमार को फिर से देखेंगे। लेकिन इस बार 1980 के दशक की पृष्ठ भूमि में रचे गए एक क्राइम थ्रिलर में। इस फिल्म में अक्षय कुमार एक रॉ एजेंट की भूमिका में हैं। यह पहली फिल्म है जिसे कोविड लॉकडाउन के बाद विदेश में फिल्माया गया है। इस फिल्म की शूटिंग स्कॉटलैंड में की गई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next