ऑस्ट्रेलिया ने रचा इतिहास, न्यूजीलैंड को 8 विकेट से हराकर पहली बार बना टी 20 वर्ल्ड कप चैंपियन

दुबई इंटनेशनल क्रिकेट स्टेडियम ऑस्ट्रेलिया ने इतिहास रच दिया। ऑस्ट्रेलिया ने रविवार को हुए फाइनल में न्यूजीलैंड को 8 विकेट से हराकर टी 20 विश्व कप अपने नाम कर लिया। यह पहला मौका है जब ऑस्ट्रेलिया टी 20 विश्व कप चैंपियन बना है।

फोटो : @T20WorldCup
फोटो : @T20WorldCup
user

नवजीवन डेस्क

मैच शुरु होने से पहले ही किस्मत मानो ऑस्ट्रेलिया के साथ थी। टॉस हुआ और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान डेविड वार्नर ने विकेट की हालत देखते हुए न्यूजीलैंड को बल्लेबाजी का न्योता दिया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी कीवी टीम ने 20 ओवरों में 4 विकेट के नुकसान पर 172 रन बनाए। कीवी कप्तान विलियम्सन और ग्लेन फिलिप्स ने सबसे ज्यादा 37 गेंदों में 68 रनों की साझेदारी की।

न्यूजीलैंड को ऑस्ट्रेलिया ने 173 रनों का लक्ष्य दिया, जिसे कंगारु बल्लेबाजों ने 19वें ओवर की एक गेंद रहते ही 2 विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया। इसमें मार्श के 77, वार्नर के 53 और मैक्सवेल के नाबाद 28 रनों का शानदार योगदान रहा।

इससे पहले, महामुकाबले में बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड की शुरुआत धीमी रही और उन्होंने पावरप्ले में एक विकेट खोकर 32 रन बनाए। इस दौरान, डेरिल मिशेल (11) रन बनाए हेजलवुड के शिकार बन गए। इसके बाद आए कप्तान विलियम्सन ने सलामी बल्लेबाल मार्टिन गुप्टिल के साथ मिलकर टीम के स्कोर को आगे बढ़ाया और कुछ अच्छे शॉट लगाए, जिससे 10 ओवरों में न्यूजीलैंड ने एक विकेट के नुकसान पर 57 रन जोड़े।

इस बीच, कप्तान विलियम्सन ने धुआंधार बल्लेबाजी करते हुए स्टार्क के एक ओवर में 19 रन जड़ दिए। लेकिन, गुप्टिल भी तेज गति से रन बनाने के चक्कर में तीन चौके की मदद से 35 गेंदों में 28 रन बनाकर जाम्पा की गेंद पर आउट हो गए। टीम की ओर से कप्तान विलियम्सन और गुप्टिल के बीच 45 गेंदों में 48 रनों की साझेदारी हुई। चौथे स्थान पर आए फिलिप्स ने कप्तान के साथ पारी को आगे बढ़ाया।


इस दौरान, कप्तान विलियम्सन ने तेज गति से खेलते हुए 32 गेंदों में अपना अर्धशतक बनाया। साथ ही 15 ओवरों में टीम का स्कोर 100 के पार पहुंच गया। बीच के ओवरों में दोनों बल्लेबाजों ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। वहीं, मैच के 16 ओवरों में विलियम्सन ने स्टार्क की बुरी तरह पिटाई की और 20 से भी ज्यादा रन बटोर लिए।

इस बीच, फिलिप्स एक चौके और एक छक्के की मदद से 17 गेंदों में 18 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। पांचवें स्थान पर बल्लेबाजी के लिए जेम्स नीशम आए। लेकिन, कप्तान विलियम्सन भी आखिर में तेज गति से रन बनाने चक्कर में 10 चौके और तीन छक्कों की मदद से 48 गेंदों में 85 रन बनाकर हेजलवुड को अपना विकेट थमा बैठे।

मैच के आखिरी दो ओवरों में नीशम (13) और टिम सेफर्ट (8) ने टीम के स्कोर में ज्यादा योगदान नहीं दे सके, जिसे न्यूजीलैंड का स्कोर 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 172 रन बने।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 14 Nov 2021, 11:15 PM