खेल की 5 बड़ी खबरें: नहीं रहे हॉकी लीजेंड बलबीर सिंह सीनियर और ICC में गरमाई चुनावी फिजा!

भारतीय हॉकी के दिग्गज बलबीर सिंह सीनियर का निधन हो गया। वह 96 साल के थे। दो सप्ताह से अधिक समय तक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझने के बाद सोमवार को अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली और आईसीसी चेयरमैन की रेस में सबसे आगे हैं कोलिन ग्रेव्स।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हॉकी लीजेंड बलबीर सिंह सीनियर का निधन, 96 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

भारतीय हॉकी के दिग्गज बलबीर सिंह सीनियर का निधन हो गया। वह 96 साल के थे। दो सप्ताह से अधिक समय तक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझने के बाद सोमवार को अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। वह अपने पीछे बेटी सुशबीर, तीन बेटों कंवलबीर, करनबीर और गुरबीर को छोड़ गए हैं। फोर्टिस अस्पताल मोहाली के निदेशक अभिजीत सिंह ने कहा कि उन्हें 8 मई को यहां भर्ती कराया गया था। सोमवार सुबह लगभग 6:30 बजे उनका निधन हो गया। उनके नाती कबीर ने बाद में पुष्टि की, 'आज सुबह नानाजी का निधन हो गया।' बलबीर सिंह सीनियर ने लंदन (1948), हेलसिंकी (1952) और मेलबर्न (1956) ओलंपिक में भारत के स्वर्ण पदक जीतने में अहम भूमिका निभाई थी। बलबीर सिंह सीनियर 18 मई से अर्ध चेतन अवस्था में थे और उनके दिमाग में खून का थक्का जम गया था। उन्हें फेफड़ों में निमोनिया और तेज बुखार के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। देश के महानतम खिलाड़ियों में से एक बलबीर सीनियर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा चुने गए आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम ओलंपियनों में शामिल थे।

आईसीसी चुनाव : मनोहर को लगा झटका

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी)में चुनावी फिजा गरमा सी गई है और ऐसा देखा जा सकता है कि कोलिन ग्रेव्स अगले आईसीसी चेयरमैन हो सकते हैं.क्योंकि मौजूदा चेयरमैन शशांक मनोहर का मानना था की इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) और क्रिकेट वेस्टइंडीज (सीडब्ल्यूआई) के बीच जो पैसों को लेनदेन हुआ था वह चुनावों को लेकर था, उनके इस दावे को एथिक्स अधिकारी ने मानने से इनकार कर दिया है। एक पत्र में आईसीसी के जनरल काउंसेल के ऑफिस और कंपनी सेकेट्री ने आईसीसी चेयरमैन के हवाले से ईसीबी और सीडब्ल्यूआई के लोन के मामले को एथिक्स अधिकारी के सामने 30 अप्रैल को पेश किया था। अपने आदेश में एथक्सि अधिकारी ने अब चैयरमेन की चिंता को खारिज कर दिया है और कहा है कि उन्हें इस लेनदेन में चुनावों से संबंधित कुछ नहीं लगता। इस पत्र की एक प्रति आईएएनएस के पास है। पत्र में लिखा है, "मेरे सामने मौजूद सभी तथ्यों को देखने के बाद, और सभी पैराग्राफ देखने के बाद मैं इस बात को लेकर निश्चित हूं किसी भी पार्टी द्वारा किसी भी तरह से नियमों का उल्लंघन नहीं किया गया है। मेरी जांच में, मैं ईसीबी और सीडब्ल्यूआई के बीच हुए लोन, जो आईसीसी चेयरपर्सन के चुनावों के समय हुआ था, मैंने इसकी जांच की हैऔर मुझे अपनी जांच करने में पूरी जानकारी उपलब्ध कराई गई है।

भारत की लिए टी-20 खेलने को तैयार हूं : हरभजन

अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा है कि वह अभी भी भारत के लिए खेल सकते हैं। जुलाई में 40 साल के होने वाले इस खिलाड़ी ने कहा है कि वह राष्ट्रीय टीम के साथ टी-20 प्रारूप में खेलने को तैयार हैं। हरभजन ने कहा है कि वह आईपीएल में खेल रहे हैं और इसलिए देश के लिए टी-20 खेल सकते हैं। आईपीएल में हरभजन सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले संयुक्त रूप से तीसरे गेंदबाज हैं। उन्होंने अभी तक 150 विकेट अपने नाम किए हैं। हरभजन ने भारत के लिए अपना अंतिम मैच 2016 में एशिया कप में खेला था। वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने हरभजन के हवाले से लिखा है, "मैं तैयार हूं। अगर मैं आईपीएल में अच्छी गेंदबाजी कर सकता हूं.. जो गेंदबाजों के लिए काफी मुश्किल है क्योंकि मैदान काफी छोटे होते हैं, और दुनिया के सभी बड़े खिलाड़ी आईपीएल में खेलते हैं। उनके खिलाफ गेंदबाजी करना चुनौतीपूर्ण होता है। अगर आप उनके खिलाफ आईपीएल में अच्छा कर सकते हो तो अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में भी अच्छा कर सकते हो।

आस्ट्रेलिया ओलम्पिक मेजबानी हासिल करने के लिए बोली नहीं लगाएगा

आस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में 2032 में होने वाले ओलम्पिक खेलों की मेजबानी के लिए बोली लगाने के फैसले को रोकने का फैसला किया है। राज्य सरकार इस समय कोविड-19 के कारण बिगड़ी अर्थव्यवस्था को बेहतर करना चाहती है और इसी कारण उसने यह फैसला लिया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, क्वींसलैंड की प्रीमियर एनास्टासिया पालास्जुस्जुक ने इस बात की पुष्टि की है कि राज्य ने नीलामी को रोकने का फैसला किया है। पालास्जुस्जुक ने सप्ताह के अंत में संवाददाताओं से कहा, "इसे रोक दिया गया है। मैं इसमें ज्यादा जाना नहीं चाहती। इस समय हमारा पूरा ध्यान अर्थव्यवस्था को सुधारने पर है।" आस्ट्रेलियन ओलम्पिक समिति (एओसी) ने कहा है कि वह क्वींसलैंड सरकार के फैसला का पूरी तरह से समर्थन करती है।

टी-20 विश्व कप पर फैसला जल्दबाजी में नहीं लिया जाना चाहिए : मिस्बाह

पाकिस्तान टीम के मुख्य कोच मिस्बाह उल हक ने कहा है कि हर कोई टी-20 विश्व कप देखना चाहता है और इसी कारण इस पर फैसला काफी सोच विचार के बाद लिया जाना चाहिए। टी-20 विश्व कप इसी साल 19 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच खेला जाएगा। हालांकि कोविड-19 के कारण इस पर काले बादल मंडरा रहे हैं। मिस्बाह ने क्रिकेटबाज यूट्यब चैनल पर कहा, "16 टीमों की व्यवस्था करना आसान नहीं है, लेकिन अधिकारियों को समय देना चाहिए और फैसला लेने से पहले एक या इससे ज्यादा महीने का इंतजार करना चाहिए।" उन्होंने कहा, "हर कोई टी-20 विश्व कप देखना चाहता है। एक बार जब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट शुरू हो जाएगी तब यह खेल को सामने रखने का सर्वश्रेष्ठ साधन होगा।" कोविड-19 के कारण आईपीएल भी अनिश्चितकाल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। बीसीसीअई सके आयोजन के लिए अक्टबूर और नवबर के बीच का समय देख रही है लेकिन इसके लिए जरूरी है कि विश्व कप स्थगित हो।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय
next