क्रिकेट

आईपीएल-11: पंजाब ने दिल्ली को 4 रन से हराया

कसी हुई गेंदबाजी की बदौलत दिल्ली ने पंजाब को सिर्फ 143 रन पर ही रोक लिया था, लेकिन जवाब में उसके खिलाड़ी लक्ष्य से 4 रन दूर रह गए और दिल्ली अपने ही मैदान पर मैच हार गया।  

नवजीवन डेस्क

दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेले गए आईपीएल-11 के अपने मैच में दिल्ली डेयरडेविल अपने ही मैदान पर 4 रन से हार गया। हालांकि पहले गेंदबाजी करते हुए उसके खिलाड़ियों ने कसी हुई गेंदबाजी और अच्छे क्षेत्ररक्षण की बदौलत किंग्स इलेविन पंजाब को सिर्फ 143 रन बनाने का ही मौका दिया। लेकिन जवाब में दिल्ली की टीम निर्धारित 20 ओवर में सिर्फ 139 रन ही बना पाई। मैच की आखिरी गेंद पर दिल्ली को जीत के लिए 5 रनों की जरूरत थी। श्रेयास अय्यर ने अच्छा शॉट खेला भी, लेकिन उनकी कोशिश कम रह गई और आरन फिंच ने उनका कैच पकड़ लिया। इस तरह आखिरी गेंद तक चले रोमांच से भरपूर मैच में किंग्स इलेविन पंजाब की जीत हुई।

इससे दिल्ली ने पहले किंग्स इलेवन पंजाब को 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 143 रनों पर ही रोक दिया था। प्लंकट ने अपने पहले मैच में चार ओवरों में 17 रन देकर तीन विकेट लिए। उनके अलावा ट्रेंट बोल्ट ने तीन ओवरों में 21 रन देकर दो विकेट लिए। आवेश खान को भी दो सफलताएं मिलीं। डेनियल क्रिस्टियन ने तीन ओवरों में 17 रन देकर एक विकेट लिया।

दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर ने टॉस जीतकर पंजाब को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। पंजाब की टीम अच्छी शुरूआत से महरूम रही और दूसरे ओवर में ही आवेश की गेंद को मारने के प्रयास में एरॉन फिंच (2), श्रेयस अय्यर के हाथों शॉर्ट कवर पर लपके गए। राहलु ने मंयक के साथ पारी को आगे बढ़ाया। दोनों तेजी से रन बना रहे थे। दोनों ने तीसरे ओवर में बोल्ट पर 14 रन लिए। इस आक्रामक रवैये को राहुल ज्यादा देर कायम नहीं रख पाए और पांचवें ओवर में दूसरी गेंद पर प्लंकट की गेंद पर शॉर्ट फाइन लेग पर आवेश द्वारा लपके गए। राहुल ने 23 रन बनाए।

मयंक भी अपनी अच्छी शुरूआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पाए। वह प्लंकट की गेंद पर 60 के कुल स्कोर पर बोल्ड हो गए। मयंक ने 16 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 21 रन बनाए। युवराज सिंह ने सिर्फ 14 रनों का योगदान दिया। डेविड मिलर को दो बार जीवनदान मिला। एक बार मैक्सवेल ने छह के निजी स्कोर पर उनका कैच टपकाया तो दूसरी बार अपना पहला आईपीएल मैच खेल रहे युवा पृथ्वी शॉ ने उन्हें 10 के निजी स्कोर पर एक और मौका दिया।

करूण नायर अच्छी लय में दिख रहे थे और अंत में उनसे पंजाब को बड़े शॉट्स की उम्मीदें थीं। 17वें ओवर में प्लंकट ने छोर बदला और नायर उनकी गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचाने के प्रयास में बाउंड्री पर अय्यर के हाथों लपके गए। मिलर जीवनदानों का फायदा नहीं उठा पाए और क्रिस्टियन की गेंद पर आखिरकार प्लंकट ने उनका कैच लपक लिया। मिलर ने 26 रन बनाए। अंत में दिल्ली के गेंदबाजों ने पंजाब के निचले क्रम को बड़े शॉट्स नहीं लगाने दिए।

लोकप्रिय