खेल की 5 बड़ी खबरें: गेंदबाजों के लिए टेस्ट क्रिकेट की तैयारी का समय तय, हॉकी इंडिया ने खिलाड़ियों के सामने रखी ये शर्त

कोरोना वायरस महामारी के असर के कम होने के बाद टेस्ट क्रिकेट बहाल होने के लिए गेंदबाजों का इंतजार अन्य खिलाड़ियों की तुलना में लंबा होगा और हॉकी इंडिया ने कहा बेंगलुरु के भारतीय खेल प्राधिकारण स्थित खिलाड़ी चाहें तो अपने घर जा सकते हैं, लेकिन वापसी के बाद उन्हें 14 दिन क्वारनटीन में रहना होगा।

 फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

गेंदबाजों के लिए टेस्ट क्रिकेट की तैयारी का समय तय

कोरोना वायरस महामारी के असर के कम होने के बाद टेस्ट क्रिकेट बहाल होने के लिए गेंदबाजों का इंतजार अन्य खिलाड़ियों की तुलना में लंबा होगा । अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने उनके लिए तैयारी का समय दो से तीन महीने तय किया है, ताकि वे चोटों से बच सकें। सदस्य देशों ने कोविड-19 महामारी रोकने के लिए लगी पाबंदियों में ढील दी है और आईसीसी ने शुक्रवार को खेल बहाल करने के लिए दिशा- निर्देश जारी किए, लेकिन गेंदबाजों को वापसी के लिए थोड़ा ज्यादा इंतजार करना होगा, क्योंकि उनके चोटिल होने की संभावना अधिक होती है। खेल की विश्व संचालन संस्था ने इन दिशा-निर्देशों में लिखा, ‘टेस्ट क्रिकेट में गेंदबाजों की तैयारी के लिए कम से कम आठ से 12 हफ्ते का समय चाहिए होगा.’ आईसीसी ने कहा, ‘गेंदबाजों को लंबे समय बाद खेल में वापसी पर चोटिल होने का ज्यादा जोखिम रहेगा.’ इसके अनुसार, ‘खिलाड़ियों विशेषकर गेंदबाजों की सुरक्षित और प्रभावित वापसी जरूरी होगी।अगर उनकी (गेंदबाजों की) तैयारी का समय सीमित होगा तो इससे ज्यादा चोटें लगेंगी.’

हॉकी इंडिया ने खिलाड़ियों के घर जाने पर रखी ये शर्त

हॉकी इंडिया की मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) के तहत बेंगलुरु के भारतीय खेल प्राधिकारण स्थित खिलाड़ी चाहें तो अपने घर जा सकते हैं, लेकिन वापसी के बाद उन्हें 14 दिन क्वारनटीन में रहना होगा। ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके टीम के खिलाड़ियों को कोविड-19 महामारी से सुरक्षित वातावरण मुहैया करने के लिए हॉकी इंडिया ने एसओपी जारी की है। यह दिशा-निर्देश सीनियर के साथ जूनियर राष्ट्रीय टीम को भी मानने होंगे।इस एसओपी का मकसद, ‘भारतीय हॉकी टीमों के लिए एक सुरक्षित प्रशिक्षण वातावरण की स्थापना करना है, जिससे उन्हें 2021 में ओलंपिक खेलों (सीनियर टीम) और 2021 के जूनियर विश्व कप के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ तैयारी का मौका मिलेगा।’

ये है विश्व की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली महिला खिलाड़ी

जापान की टेनिस स्टार नाओमी ओसाका अमेरिका की सेरेना विलियम्स को पीछे छोड़ दुनिया की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली महिला खिलाड़ी बन गई हैं। फोर्ब्स मैग्जीन के मुताबिक, ओसाका ने बीते 12 महीनों में पुरस्कार राशि और विज्ञापनों से 3.74 करोड़ डालर कमाए हैं जो विलियम्स से 14 लाख डालर ज्यादा है और इसी के साथ वह अभी तक एक साल में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली महिला खिलाड़ी भी बन गई हैं। उनसे पहले यह रिकार्ड रूस की मारिया शारापोवा के नाम था, जिन्होंने साल 2015 में 2.97 करोड़ डालर की कमाई की थी। फोर्ब्स ने 1990 से महिला खिलाड़ियों की आय की गणना करी शुरू की है और तब से अधिकतर टेनिस खिलाड़ी ही इसमें शीर्ष पर रहती हैं। दो बार की ग्रैंड स्लैम विजेता ओसाका फोर्ब्स की सबसे ज्यादा कमाई करने वाले खिलाड़ियों की सूची में 29वें स्थान पर हैं, जबकि विलियम्स को इसमें 33वां स्थान मिला है। ओसाका ने साल 2018 में अमेरिका ओपन और 2019 आस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीता था।

बटलर ने कहा- आईपीएल में खेलने के लिए बेताब था

विश्व विजेता इंग्लैंड क्रिकेट टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) से इंग्लैंड क्रिकेट के विकास को मदद मिली है और इसलिए वह आईपीएल को टी 20 विश्व कप के बाद सर्वश्रेष्ठ टूर्नामेंट मानते हैं। बटलर ने बीबीसी पोडकास्ट से कहा, "इसमें कोई शक नहीं कि आईपीएल ने इंग्लिश क्रिकेट के और पिछले कुछ वर्षों में जो खिलाड़ी इसमें शामिल हुए हैं, उनके विकास के मदद की है।" उन्होंने कहा, "मैं इसमें खेलने के लिए बेताब था। मेरे हिसाब से यह टी 20 विश्व कप के बाद दुनिया का अच्छा टूर्नामेंट है।"

चाइनीज सुपर लीग के 11 क्लब अयोग्य घोषित

चाइनीज फुटबाल संघ (सीएफए) ने शनिवार को घोषणा की कि वेतन बकाया होने के कारण 11 क्लबों को पेशेवर लीग से अयोग्य घोषित कर दिया गया है, जबकि पिछले सीजन की चाइनीज सुपर लीग (सीएसएल) की टीम तियानजिन तियानहाई सहित पांच क्लबों ने पेशेवर फुटबाल से अपना नाम वास ले लिया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, इन 11 क्लबों में चार वे क्लब शामिल हैं, जिन्होंने पिछले साल सेकेंड टायर पूरा किया था जबकि सात क्लब थर्ड डिवीजन के हैं। सीएफए ने कहा, "क्लबों का वेतन बकाया था और उन्होंने इसे चुकाया नहीं था। इसके बाद उन्हें अयोग्य घोषित कर दिया गया।" सीएफए के अध्यक्ष चेन शुआन ने वित्तीय अस्थिरता को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है। हमारे क्लब मुश्किल से स्थायी विकास हासिल कर सकते हैं। मालिकों ने बहुत निवेश किया है लेकिन वे बहुत कम कमाते हैं, और यह चीनी फुटबॉल के लिए हानिकारक हो सकता है।"

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय
next