खेल जगत की 5 बड़ी खबरें: सुबह की ट्रेनिंग मिस कर रहे जसप्रीत बुमराह और सचिन तेंदुलकर को लेकर शोएब अख्तर के बड़े बोल!

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने गुरुवार को कहा है कि वह कोविड-19 के बीच अपनी सुबह की ट्रेनिंग को मिस कर रहे हैं। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने 2006 में फैसलाबाद टेस्ट में सचिन तेंदुलकर के खिलाफ आजमाए गए बाउंसर रणनीति को एक बार फिर से याद किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

सुबह की ट्रेनिंग मिस कर रहे जसप्रीत बुमराह

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने गुरुवार को कहा है कि वह कोविड-19 के बीच अपनी सुबह की ट्रेनिंग को मिस कर रहे हैं। इस महामारी के कारण पूरे विश्व कप में सभी तरह की गतिविधियां बंद हैं और लोग अपने घरों में रहने को मजबूर हैं।

भारत में दो महीने से ज्यादा का लॉकडाउन चल रहा है। बुमराह इसी कारण घर में ही कैद हैं और बाहर नहीं जा पा रहे हैं। उन्होंने ट्विटर पर अपने पुरानी फोटो शेयर करते हुए लिखा, "जल्दी सुबह होने वाले ट्रेनिंग सेशन को मिस कर रहा हूं।" अगर कोविड-19 के कारण हालत खराब नहीं होते तो बुमराह इस समय इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में मुंबई इंडियंस के लिए खेल रहे होते।

अम्फान तूफान से प्रभावित बंगाल की मदद के लिए साथ आए फुटबाल खिलाड़ी

हाल ही में अम्फान तूफान से प्रभावित हुआ पश्चिम बंगाल अपने पैरों पर खड़ा होने की कोशिश कर रहा है और इसमें 38 फुटबाल खिलाड़ियों के आपातकालीन संगठन ने अपने संसाधनों की सहायता से राज्य की मदद करने का फैसला किया है। इस संगठन का नाम- 'प्लेयर्स फॉर ह्यूमनिटी' रखा गया है जिसमें सुब्रत पॉल, मेहताब हुसैन, अर्नब मंडल, सुभाशीष रॉयचौधुरी, संदीप नंदी, प्रणॉय हालदार, प्रीतम कोटाल, शौविक घोष हैं।

अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) की वेबसाइट पर पॉल के हवाले से लिखा गया है, "प्रशंसकों का जो प्यार है वही फुटबॉलर की पूरी जिंदगी है। हमें लगता है कि जो लोग अम्फान तूफान से प्रभावित हुए थे, यह उनकी मदद करने का वक्त है। जिंदगी मुसीबत के समय में एक-दूसरे की मदद करने का नाम है-- यह इंसानियत की बात है। मैं आप सभी से अपील करता हूं कि आप लोग मदद के लिए आगे आएं।"

हालदर ने बताया कि कुछ खिलाड़ी उन इलाकों में जाएंगे जो इस तूफान से काफी ज्यादा प्रभावित रहे, ताकि जरूरतमंद लोगों की मदद कर सकें।

अख्तर ने फैसलाबाद टेस्ट में सचिन के खिलाफ बाउंसर रणनीति को फिर याद किया

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने 2006 में फैसलाबाद टेस्ट में सचिन तेंदुलकर के खिलाफ आजमाए गए बाउंसर रणनीति को एक बार फिर से याद किया है। इस मैच में सचिन केवल 14 रन ही बना सके थे और अख्तर का शिकार बने थे।

अख्तर ने क्रिकइंफो के लिए संजय मांजरेकर के साथ जारी बातचीत के दौरान कहा, "लोग कहते थे कि मैं और सचिन, हमेशा एक-दूसरे से मुकाबला करते थे। लेकिन हमने कभी एक दूसरे के साथ बुरा बर्ताव नहीं किया। मैं उन्हें अपने प्रतिस्पर्धी के रूप में देखता था। मैं उन्हें एक महान बल्लेबाज के रूप में सम्मान देता था।"

उन्होंने कहा, "मैं हमेशा सचिन को आउट करने पर काम करता था। मैं जानता था कि सचिन को कहां चोट लगी है। फैसलाबाद टेस्ट में मुझे मालूम था कि सचिन को एलबो में चोट लगी है और वह हुक और पुल नहीं खेल सकते। ऐसे में मैंने उन्हें लगातार बाउंसर फेंकना जारी रखा।"

कोविड-19 के बीच में आईपीएल देश के मनोबल को बढ़ा सकता है : पार्थ जिंदल

दिल्ली कैपिटल्स के चेयरमैन और सह-मालिक पार्थ जिंदल का मानना है कि कोविड-19 महामारी के बीच में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का होना देश के लोगों के मनोबल को ऊपर उठा देगा।

पार्थ ने कहा कि अगर आईपीएल खाली स्टेडियमों में बिना दर्शकों के भी होगा तो भी इससे देश के लोगों को फायदा होगा। आईपीएल की शुरुआत 29 मार्च से होनी थी लेकिन इस महामारी के कारण इसे अनिश्चितकाल तक के लिए टाल दिया गया है।

पार्थ ने दिल्ली कैपिटल्स के इंस्टाग्राम लाइव पर कहा, "कोविड-19 ने लाइव स्पोर्ट को रोक दिया है, खासकर लोगों को जोड़ने के मामले में। आज के दौर में लाइव स्पोर्ट की जितनी जरूरत महसूस हो रही है उतनी पहले कभी नहीं हुई और जनता का मनोबल उठाने के लिए यह काफी जरूरी है।"

हेल्स की वापसी पर बोले मोर्गन, उन्हें भरोसा जीतने की जरूरत

इंग्लैंड के सीमित ओवरों के कप्तान इयोन मोर्गन का मानना है कि बल्लेबाज एलेक्स हेल्स जल्द टीम में वापसी नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि अपने करियर को फिर से खड़ा करने के लिए हेल्स को वापस अपने साथियों का भरोसा जीतने की जरूरत है। हेल्स को ड्रग्स लेने के आरोप में विश्व कप 2019 से कुछ समय पहले ही टीम से बाहर कर दिया गया था। दो साल के अंदर यह दूसरी बार था जब हेल्स को इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के द्वारा प्रतिबंध का सामना करना पड़ा था।

इससे पहले, 2017 में बेन स्टोक्स के साथ हुए विवादास्पद मामले में उन्हें ईसीबी ने प्रतिबंधित कर दिया था। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, मोर्गन ने चांस टू शाइन की 15वीं वर्षगांठ के दौरान कहा, " मैंने एलेक्स से बात की है और उनकी वापसी के लिए एक रास्ता देखा है। लेकिन जब विश्वास टूटता है तो उस पर केवल मरहम लगाने का ही समय होता है।"

उन्होंने कहा, "उस घटना को केवल 12 या 13 महीने हुए हैं, जिसकी हमें चार साल की कड़ी मेहनत की कीमत चुकानी पड़ सकती है, इसलिए मुझे लगता है कि हम आगे बढ़ने के लिए चीजों का आकलन करना जारी रखेंगे।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next