World Cup 2023: शिखर धवन को लेकर रवि शास्त्री ने कही बहुत बड़ी बात, बोले- उन्हें वो सम्मान नहीं मिलता...

एशिया कप 2023 के नजदीक होने के साथ ही भारतीय टीम प्रबंधन और चयनकर्ता लाइनअप में शीर्ष सात स्थानों के लिए सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के चयन के लिए गहन चर्चा कर रहे हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

एशिया कप 2023 के नजदीक होने के साथ ही भारतीय टीम प्रबंधन और चयनकर्ता लाइनअप में शीर्ष सात स्थानों के लिए सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के चयन के लिए गहन चर्चा कर रहे हैं। इस साल टीम इंडिया को कई बड़े टूर्नामेंट में भाग लेना है। लेकिन, टीम इंडिया अब तक एक स्टेबल टीम तैयार नहीं कर पाई है। चाहे बात प्लेइंग-11 की हो या कॉम्बिनेशन, हर पैमाने पर भारतीय टीम संघर्ष कर रही है।

सबसे बड़ा सवाल ये है कि कप्तान रोहित शर्मा के साथ सलामी बल्लेबाज के रूप में कौन साझेदारी करेगा। इस रोल के लिए ईशान किशन और शुभमन गिल प्रबल दावेदार हैं। इस बीच भारत के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने आगामी एशिया कप 2023 और आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप पर अपना दृष्टिकोण साझा किया है।


स्टार स्पोर्ट्स सिलेक्शन डे शो पर बोलते हुए रवि शास्त्री ने इस बारे में बात की कि एशिया कप 2023 के लिए ईशान किशन बल्लेबाजी क्रम में कहां होंगे और अनुभवी खिलाड़ी शिखर धवन का टीम पर क्या प्रभाव पड़ा है, जो 2019 वर्ल्ड कप में इंजरी के कारण चूक गए थे। 

टीम के पिछले अनुभवों, विशेषकर 2019 विश्व कप अभियान पर विचार करते हुए, शास्त्री ने अनुभवी भारतीय सलामी बल्लेबाज द्वारा टीम की संरचना में निभाई गई महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर दिया।

रवि शास्त्री ने स्टार स्पोर्ट्स पर एक चर्चा में साफतौर पर कहा कि शिखर धवन को वो सम्मान नहीं मिलता, जिसके शायद वह हकदार रहे हैं। उन्होंने कहा, लोगों ने कभी शिखर धवन को उतना क्रेडिट नहीं दिया, जो उन्हें मिलना चाहिए था। वह एक शानदार खिलाड़ी हैं।  "जब साल 2019 में हम वर्ल्ड कप सेमीफाइनल हारे तो टीम ने उन्हें बहुत मिस किया।" 

बता दें कि उस वर्ल्ड कप में धवन शुरुआती फेज के बाद चोटिल हो गए थे और उन्हें बाहर होना पड़ा था। शास्त्री ने आगे कहा कि टॉप ऑर्डर में एक बाएं हाथ के बल्लेबाज के होने से आपको मदद मिलती है। जब गेंद स्विंग होती है तो दाएं हाथ के बल्लेबाज के लिए वो अंदर आती है लेकिन बाएं हाथ के बल्लेबाज के लिए बाहर जाती है और रन बनाने में आसानी होती है।"


पिछले महीने, बीसीसीआई ने सितंबर-अक्टूबर में होने वाले आगामी हांगझोऊ एशियाई खेलों के लिए मुख्य रूप से युवा प्रतिभाओं से बनी एक टीम की घोषणा की।

घरेलू मैदान पर वनडे विश्व कप की तैयारियों में व्यस्त पहली पसंद के खिलाड़ियों के साथ, चीन में भारत की दूसरी टीम का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी 37 वर्षीय बाएं हाथ के बल्लेबाज धवन के कंधों पर आने की उम्मीद थी।

हालांकि, चयनकर्ताओं ने एशियाई खेलों में टीम की कप्तानी के लिए युवा ऋतुराज गायकवाड़ को चुना। भारत के लिए धवन का आखिरी मैच पिछले साल दिसंबर में बांग्लादेश दौरे के दौरान था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;