Ankita Murder Case: परिजनों ने अंकिता का अंतिम संस्कार करने से किया मना, रखी ये शर्त

अंकिता भंडारी का शव शनिवार को ऋषिकेश चीला पॉवर हाउस की नहर से बरामद किया गया था। मृतका के परिजनों ने अंकिता के शव की शिनाख्त की थी।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड में अंकिता भंडारी हत्याकांड की एसआईटी जांच जारी है। इस बीच परिजनों ने फिलहाल अंकिता का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया है। अंकिता के भाई अजय सिंह भंडारी ने कहा, “जब तक उसकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट नहीं दी जाती, हम उसका अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। हमने उसकी प्रोविजनल रिपोर्ट में देखा कि उसे पीटा गया और नदी में फेंक दिया गया। लेकिन हम अंतिम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।”

ऋषिकेश एम्स में अंकिता भंडारी का पोस्टमार्टम शनिवार को किया गया। तीन डॉक्टरों के पैनल ने अंकिता का पोस्टमार्टम किया। अंकिता का शव देर शाम ऋषिकेश से श्रीनगर पहुंच गया। यहां भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है।

वहीं, प्रशासन परिजनों को आज ही अंतिम संस्कार कराने के लिए मनाने में जुटा हुआ है। अंकिता के परिजनों ने सरकार की कार्यप्रणाली भी पर सवाल उठाए हैं। परिजनों ने पूछा है कि रिजॉर्ट को क्यों तोड़ा गया? परिजनों ने दावा किया कि सबूत मिटाने के लिए इस रिजॉर्ट को तोड़ा गया है।

अंकिता भंडारी का शव शनिवार को ऋषिकेश चीला पॉवर हाउस की नहर से बरामद किया गया था। मृतका के परिजनों ने अंकिता के शव की शिनाख्त की थी। इसके बाद उसकी बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए ऋषिकेश एम्स ले जाया गया।


ये है पूरा मामला:

यमकेश्वर विधानसभा के कौड़िया गांव स्थित वनन्तरा रिजॉर्ट में कार्यरत रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी (19) वर्ष संदिग्ध परिस्थितियों में 18 सितंबर की देर शाम लापता हो गई थी। उसकी गुमशुदगी का खुलासा शुक्रवार को लक्ष्मण झूला थाने में एडीशनल एसपी शेखर सुयाल ने किया था। उन्होंने बताया कि किस तरह वनन्तरा रिजॉर्ट मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर सौरभ भास्कर और अंकित ने मिलकर अंकिता भंडारी की हत्या कर उसकी बॉडी को चीला शक्ति नहर में फेंक दिया।

पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि रिसेप्शनिस्ट रिजॉर्ट में आने वाले कस्टमर के पास जाने से मना कर रही थी। वे लोग रिसेप्शनिस्ट को वेश्यावृत्ति में ढकेलना चाह रहे थे, लेकिन रिसेप्शनिस्ट ऐसा करने से मना कर दिया था। इस बात से नाराज आरोपियों ने अंकिता की हत्या कर चीला शक्ति नहर में फेंक दिया था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia