बिहार में दवा से बनाई जा रही शराब? पुआल के ढेर में छिपाकर रखी बड़ी मात्रा में होमियोपैथी दवा बरामद

बिहार में शराबबंदी कानून को पालन करवाने को लेकर पुलिस जहां शराब के खिलाफ लगातार छापेमारी कर रही है, वही शराब तस्कर भी इसको लेकर नए तरीके ईजाद कर रहे हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

बिहार में शराबबंदी कानून को पालन करवाने को लेकर पुलिस जहां शराब के खिलाफ लगातार छापेमारी कर रही है, वही शराब तस्कर भी इसको लेकर नए तरीके ईजाद कर रहे हैं। इस बीच, गोपालगंज जिले के महम्मदपुर थाना इलाके से पुलिस ने शुक्रवार को भारी मात्रा में अल्कोहल युक्त होमियोपैथ की दवा बरामद की है। पुलिस को आशंका है कि शराब तस्कर शराब बनाने में इसका इस्तेमाल करने को लेकर इसे छिपाकर रखे थे।

पुलिस के मुताबिक, गुप्त सूचना के आधार पर महम्मदपुर पुलिस ने देवकुली गांव में छापेमारी के बाद पुआल में छिपाकर रखे बड़ी मात्रा में होमियोपैथी दवा बरामद की गई है। उन्होंने संभावना जताते हुए कहा कि यह दवा पश्चिम बंगाल या उत्तर प्रदेश से लाई गई हो सकती है।


गोपालगंज (सदर) के अनुमंडल पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) संजीव कुमार ने बताया कि 500-500 एमएल की बोतल में रखी 11 कार्टन दवा बरामद की गयी है। एक कार्टन में 20 बोतल हैं। उन्होंने बताया कि बरामद दवा में 90 फीसदी अल्कोहल है।

उन्होंने आशंका जताते हुए कहा कि इन दवाओं को शराब धंधेबाज देसी शराब बनाने के इस्तेमाल में करने के लिए मंगाया था। दवाओं की जांच के लिए पटना से औषधि नियंत्रण की टीम को बुलाया गया है। इस मामले में हालांकि किसी की गिरफ्तारी अब तक नहीं हो पाई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।


उल्लेखनीय है कि महम्मदपुर में बीते साल नवंबर माह में जहरीली शराब पीने से 14 लोगों की मौत हो गयी थी। इस दौरान पुलिस की छापेमारी में होमियोपैथ की थूजा-30 दवा बरामद की गयी थी, जिससे जहरीली शराब बनाने का खुलासा हुआ था। खजूरबानी जहरीली शराब मामले के बाद भी पुलिस ने होमियोपैथी दवा की बोतल बरामद की थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 11 Feb 2022, 5:23 PM
;